आजीविका ग्रामीण एक्सप्रेस योजना 2022 | Aajeevika Grameen Express Yojana 2022

आजीविका ग्रामीण एक्सप्रेस योजना 2022:- दीन दयाल अंत्योदय योजना राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन की उपयोजना (Sub-scheme) के रूप में प्रारंभ की गई है। 10 अगस्त 2017 को आजीविका ग्रामीण एक्सप्रेस योजना की शुरुआत की गई थी। इस योजना के तहत सरकार उन सभी पिछड़े वर्ग के लोगों की स्थिति को ठीक करने के लिए तथा उनके रोजगार के साधनों का सृजन करके उनकी स्थिति को ठीक करने की कोशिश इस योजना के द्वारा की जाएगी। भारत देश में 17 राज्यों के लगभग 5209 गांव में 79814 उधम को स्थापित करने की इस परियोजना को मंजूरी प्रदान की जा चुकी है।

आजीविका ग्रामीण एक्सप्रेस योजना

आजीविका ग्रामीण एक्सप्रेस योजना

यह भी पढ़े – खादी ग्रामोद्योग योजना क्या है, इस योजना का उद्देश्य क्या है

आजीविका ग्रामीण एक्सप्रेस योजना

राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत प्रारंभ की जाने वाली उपयोजना ‘Aajeevika Grameen Express Yojana’ (AGEY) से न केवल स्वयं सहायता समूह के सदस्यों को रोजगार का वैकल्पिक स्रोत उपलब्ध होगा, बल्कि पिछड़े क्षेत्रों में सस्ती परिवहन सुविधाएं भी उपलब्ध होंगी। ग्रामीण-शहरी जुड़ाव से गांवों के संपूर्ण विकास का मार्ग प्रशस्त होगा तथा ग्रामीण क्षेत्रों में भी शहरी सुविधाओं का आवागमन बढ़ेगा।

आजीविका ग्रामीण एक्सप्रेस योजना का उद्देश्य

  1. दीन दयाल अंत्योदय योजना के अंतर्गत ‘स्वयं सहायता समूहों’ (SHGs) के सदस्यों को आजीविका के वैकल्पिक साधन उपलब्ध कराना।
  2. गांवों के सर्वांगीण विकास हेतु उन्हें शहरी क्षेत्रों से जोड़ने हेतु सुरक्षित तथा किफायती परिवहन सुविधा प्रदान करना।

आजीविका ग्रामीण एक्सप्रेस योजना के लाभ

इस योजना के तहत स्वयं सहायता समूह के सदस्यों को पिछड़े ग्रामीण क्षेत्रों में सार्वजनिक परिवहन सेवाएं परिचालित करने की सुविधा प्रदान की जाएगी।

  • इस योजना ने ई-रिक्शा, 3 एवं 4 पहिया (Wheeler) मोटरयुक्त परिवहन वाहनों जैसी सुरक्षित एवं सस्ती और समुदाय निगरानी वाली ग्रामीण परिवहन सेवाएं उपलब्ध होंगी।
  • इससे पिछड़े क्षेत्रों के समग्र आर्थिक विकास के लिए दूर-दराज के गांवों को बाजार, स्वास्थ्य और शिक्षा समेत मुख्य सेवाओं एवं सुविधाओं से जोड़ा जा सकेगा।
  • यह उपयोजना प्रायोगिक (Pilot) आधार पर देश के 250 ब्लॉकों में कार्यान्वित की जाएगी।
  • इस नई आजीविका पहल के तहत स्वयं सहायता समूहों के सदस्यों की सहायता के लिए ‘समुदाय निवेश कोष’ (Community Investment Fund: CIF ) का प्रयोग किया जाएगा।
  • लाभार्थी स्वयं सहायता समूह सदस्य को वाहन की खरीद के लिए 6.50 लाख रुपये तक का ब्याज मुक्त ऋण इस कोष के माध्यम से प्रदान किया जाएगा।

महत्वपूर्ण जानकारी

  • इस योजना से संबंधित और अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए आपको इसके आधिकारिक वेबसाइट (https://aajeevika.gov.in/) पर जाकर जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।
  • योजना के बारे में यदि आप और अधिक जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो इस विभाग के दिए गए नंबर 011 – 23438013 से और अधिक जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

यह भी पढ़े – स्टैंड अप इंडिया योजना क्या है। ऐसे करें स्टैंड अप इंडिया योजना में ऑनलाइन आवेदन

Leave a Reply

Your email address will not be published.