असंतुलित आहार के नुकसान, असंतुलित भोजन से खराब हो सकती है तबीयत

असंतुलित आहार के नुकसान जानकर रेह जायेंगे हैरान। यदि हमारा आहार, हमारा भोजन अप्राकृतिक है, अनुचित है। देश, काल, स्वास्थ्य – नियम के अनुरूप नहीं तो अनेक रोग सिर उठाने लगते हैं। यदि खान-पान संतुलित हो, सुपाच्य हो, पोषक हो, शरीर की आवश्यकता के अनुसार हो तो रोगों से भी बचा जा सकता है। शरीर को स्वस्थ तथा क्रियाशील बनाए रखने के लिए हमें अपने भोजन पर पूरा ध्यान देना चाहिए। भोजन के माध्यम से किन-किन व्याधियों पर काबू पा सकते हैं, इन्हें जानिए।

असंतुलित आहार के नुकसान

असंतुलित आहार के नुकसान
Asantulit Aahar Ke Nuksan

यह भी पढ़े – कई रोगों से छुटकारा मिलता है शरीर की आंतरिक शुद्धि से ऐसे करें शुद्धि

असंतुलित आहार के नुकसान

  • मोटापे से बच सकते हैं। स्थूलत्व पास नहीं फटकेगा।
  • डायबिटीज यानि शुगर जैसे रोग से भी पीछा छुड़ा सकते हैं।
  • कब्ज, पेचिश, खूनी दस्त, मन्दाग्नि, कड़वे तथा खट्टे डकार आदि भी नहीं होंगे।
  • पेट में हवा भरना, छाती में जलन रहना, पेट का फूलना, पेट में कृमि हो जाना आदि विकारों से भी बच सकते हैं।
  • गले में टांसिल्स होना, गले में सूजन, खांसी, दमा आदि रोग भी नियन्त्रण में रख सकते हैं-सही खान-पान से।
  • गुर्दों की तकलीफ, पथरी हो जाना, पेशाब कम या अधिक आना, कभी-कभी पेशाब का रुक जाना-इन पर नियन्त्रण सम्भव है।
  • रक्तचाप सामान्य न रहकर उच्च बने रहना, हृदय गति में कमी या तेज़ी आना, हृदय रोग की शिकायत होना, नाड़ी सामान्य न रहना, हृदय-शूल बना रहना-सब ठीक हो सकते हैं।
  • पीलिया जैसा जानलेवा रोग भी ठीक करना सम्भव है।
  • ठीक खुराक, ठीक खान-पान होने पर सैक्स सम्बन्धी सारी तकलीफों पर काबू पाकर पारिवारिक सम्बन्ध टूटने से बचाए जा सकते हैं।
  • गलत खान-पान से बचकर, सही खान-पान पाकर हम जोड़ों के दर्दों से, गठिया रोग से, वात की शिकायत से बच सकते हैं।
  • हड्डियों में सूजन को भी उचित खान-पान दूर कर सकता है।
  • यदि हम गलत आहार लेंगे तो मसूड़े खराब होना, दांतों का सड़ना, मुंह में छाले हो जाना आम बात है। इनसे बचें।
  • नाड़ी तन्त्र कमजोर न हो, शरीर चुस्त-दुरुस्त बना रहे, शरीर चलता रहे इसके लिए भी सही खान-पान अपना योगदान देता है।
  • बड़ों की सलाह मानकर, वैद्य-हकीमों के कहे अनुसार भोजन व पेय पदार्थों का सेवन कर महिलाएं अपने गुप्त रोगों से भी छुटकारा पा सकती हैं। माहवारी आदि को नियमित कर सकती हैं।

इतने ही नहीं, कुछ और रोग भी हैं जो उचित खान-पान की मदद से भगाए जा सकते हैं। शरीर को स्वस्थ व पुष्ट रखा जा सकता है। डॉक्टरों के दरों पर माथा टेकने से बच सकते हैं। अलग से होने वाले व्यय से भी बचा जा सकता है।

यह भी पढ़े – स्वस्थ जीवन के लिए व्यायाम और स्वच्छता क्यों है जरूरी

अस्वीकरण – यहां पर दी गई जानकारी एक सामान्य जानकारी है। यहां पर दी गई जानकारी से चिकित्सा कि राय बिल्कुल नहीं दी जाती। यदि आपको कोई भी बीमारी या समस्या है तो आपको डॉक्टर या विशेषज्ञ से परामर्श लेना चाहिए। Candefine.com के द्वारा दी गई जानकारी किसी भी जिम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Subscribe with Google News:

Leave a Comment