बाल क्यों झड़ते हैं? बालों के झड़ने का क्या कारण है जाने इसके बारे में?

बाल क्यों झड़ते हैं (Bal Kyo Jhadte Hai), बालों का झड़ना एक आम बात है लेकिन अगर बाल हद से ज्यादा झड़ने लगे तो यह एक बहुत बड़ी समस्या बन सकती है। रोजाना 1 से 100 बालों का गिरना आम बात है जो हर किसी के साथ होता है चाहे वह महिला हो या पुरुष। लेकिन जब यह इससे ज्यादा बढ़ने लगे तब इसका समय पर उपचार कराना बहुत जरूरी हो जाता है। बाल झड़ने का मुख्य कारण क्या है?

बाल क्यों झड़ते हैं (Bal Kyo Jhadte Hai)

बाल क्यों झड़ते हैं
Bal Kyo Jhadte Hai

बाल क्यों झड़ते हैं (Bal Kyo Jhadte Hai)

बाल झड़ना और हेयर लॉस में अंतर होता है। अगर आपके बाल जड़ से गिरते हैं और उनकी जगह पर दोबारा नए बाल नहीं उगते तो उसे हेयर लॉस कहा जाता है। ऐसा तब होता है जब कोई व्यक्ति बहुत ही तनावपूर्ण स्थिति से गुजर रहा हो।

रोजाना लगभग 100 बाल टूटते हैं। किसी भी समय पर व्यक्ति के 90 फ़ीसदी बाल बढ़ते हैं या बढ़ रहे होते हैं और 10% बाल लगभग निष्क्रिय अवस्था में पड़े रहते हैं। फिर 2 या 3 महीने के अंदर यह 10% बाल भी टूट जाते हैं और जिनकी जगह पर नए बालों का उगना शुरू हो जाता है। जब यह नए बाल उग रहे होते हैं तब दूसरी तरफ बाकी के फॉलिकल्स निष्क्रिय पड़ जाते हैं।

यह भी पढ़े – बालों का झड़ना कैसे बंद करें घरेलू उपाय?

बालों के झड़ने का मुख्य कारण

बालों का कमजोर होना या जड़ से गिरना या फिर टूट कर गिरना इन सब का एक मुख्य कारण यह है कि जब आपकी डाइट 1800 कैलोरी के नीचे होती है तो आपके बाल कमजोर होकर गिरने लगते हैं।

बीमारी की वजह से बालों का झड़ना

कई बीमारियां जैसे चिकनगुनिया मलेरिया डेंगू टाइफाइड मैं स्वास्थ्य को बहुत हानि होती है जिसका असर सीधे बालों पर भी पड़ता है। PCOD/PCOS पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम और एंड्रोजन (पुरुष हार्मोन) की मात्रा अधिक होने से शरीर में हारमोंस की समस्या उत्पन्न होती है जिस के नकारात्मक प्रभाव सीधे बालों पर पड़ता है। इसलिए समय रहते इनकी जांच कराना आवश्यक होता है।

कई बार किसी गंभीर बीमारी या सर्जरी के कारण होने वाले मानसिक तनाव भी एक समय तक के लिए नए बालों के उगने की प्रक्रिया को रोक सकता है जैसे- आयरन की कमी, थायराइड डिसऑर्डर, सिफलिस या इंफेक्शन की वजह से।

हार्मोन असंतुलित होने के कारण बालों का झड़ना

महिलाओं में अक्सर बाल टूटने की वजह होती है प्रेगनेंसी, बर्थ कंट्रोल पिल्स का सेवन, बच्चे को जन्म देने के बाद, और मेनोपॉज के कारण होने वाले हार्मोन में बदलाव।

पोषक तत्व की कमी के कारण बालों का झड़ना

कभी कबार वजन कम करने के लिए कई लोग डाइटिंग शुरू कर देते हैं। और खाना पीना कम कर देते हैं जिसके कारण शरीर में कई पोषक तत्व की कमी हो जाती है और बालों को अच्छी मात्रा में मिनरल्स प्रोटीन और विटामिंस नहीं मिल पाते जिसके कारण बालों का गिरना शुरू हो जाता है।

विटामिंस की कमी और दवाइयों के दुष्प्रभाव के कारण बालों का झड़ना

बालों के गिरने का एक मुख्य कारण यह भी है कि जब आपकी शरीर में आयरन, विटामिन, विटामिन डी, विटामिन B12 और फेरिटिन की कमी होने लगती है तो इसके कारण आपके बाल कमजोर हो जाते हैं और झड़ने लगते हैं।

कई बार किसी बीमारी से बचने के लिए उपयोग में लाए गए हाय डोज की दवाइयों के हानिकारक प्रभाव थी शरीर पर काफी हद तक असर कर जाते हैं इसके फलस्वरूप बाल कमजोर हो जाते हैं और गिरने लगते हैं।

बालों का हेयर स्टाइल और गलत तरह से रखरखाव

अलग-अलग तरह के हेयर स्टाइल बनाने के लिए कई लोग केमिकल स्प्रे, हेयर कलर, ब्लीच, डाई, जेल, हेयर ड्रायर, स्ट्रेटनर का उपयोग करते हैं जिनका दुष्प्रभाव बालों को झेलना पड़ता है। इनके कारण आप को परमानेंट हेयर लॉस की समस्या हो सकती है। कई लोग बालों को काफी कसकर रबर बैंड से बनते हैं, बहुत ऊपर चोटी बनाना या पोनीटेल बनाना भी बालों के टूटने की वजह बन जाता है।

बढ़ती उम्र के साथ बालों का झड़ना

बढ़ती उम्र के साथ बालों का ग्रोथ रुक जाना स्वभाविक है। महिलाएं पूरी तरह से गंजी नहीं होती , उनके आगे के हिस्से से और कानों के पास के बाल अधिक झड़ते हैं लेकिन पुरुषों के माथे के आसपास के बाल ज्यादा झड़ते हैं।

जेनेटिक डिसऑर्डर

अगर आपके वंश में या पूर्वजों में किसी को बालों से संबंधित कोई गंभीर बीमारी हुई होगी तो इसके फलस्वरूप आगे आने वाले वर्षों में भी इसके प्रभाव देखने को मिल सकते हैं।

यह भी पढ़े – करी पत्ता के फायदे? करी पत्ता से बालों को कैसे काला करें?

Leave a Reply

Your email address will not be published.