लौकी के 12 लाभों जानकर शुरू करें इसे खाना और स्त्रियों के लिए है विशेष

लौकी के 12 लाभों जानकर शुरू करें इसे खाना और स्त्रियों के लिए विशेष रूप से फायदा करती है। लौकी (benefits of bottle gourd) एक सुपाच्य सब्जी है। घीया प्रजाति की होते हुए भी घीया से अधिक लाभकर होती है। लौकी में कैलोरी की मात्रा काफी कम होती है। एक कप लौकी के रस में 28 से 30 कैलोरी पाई जाती है। लौकी में फॉलिक एसिड विटामिन सी मैग्नेशियम तथा पोटाशियम पाए जाते हैं। इस सब्जी की खूबी यह है कि लगभग सारा साल प्राप्त हो जाती है। आइए, इसके उपयोग व लाभों पर कुछ चर्चा करें-

लौकी के 12 लाभों जानकर शुरू करें इसे खाना और स्त्रियों के लिए है विशेष

लौकी के 12 लाभों जानकर शुरू करें इसे खाना और स्त्रियों के लिए है विशेष
benefits of bottle gourd

यह भी पढ़े – गोभी खाने के फायदे? फूल गोभी, बन्द गोभी, गांठ गोभी खाने के अचूक फायदे

लौकी के लाभ

  1. यदि सांस में दुर्गन्ध आती हो तो कच्ची लौकी के टुकड़े खाएं।
  2. यदि यक्ष्मा का रोगी प्रतिदिन लौकी का भुर्ता खाए तो इसका रोग नियन्त्रित हो जाएगा।
  3. यदि आंखों को रोशनी बढ़ाना चाहते हैं तो बिना घी लगी रोटी के साथ लौकी खाएं।
  4. पीलिया के रोगी को तो प्रतिदिन लौकी खानी चाहिए।
  5. पीलिया के ही रोगी को लौकी का रस निचोड़कर चीनी के साथ पीना चाहिए।
  6. जिन्हें पांव में जलन रहती है, वे लौकी के टुकड़े को पांव की हथेली पर मलें। जलन दूर होगी।
  7. बुजुर्ग लौकी की सब्जी खाकर रतौंधी पर काबू पा सकते हैं।
  8. यकृत की बीमारी में भी लौकी का खाना लाभदायक है।
  9. लौकी को कद्दू कसकर खुले पानी में उबाल लें। इसे ठंडा कर कुल्ला करें। दांत का दर्द ठीक होगा।
  10. बवासीर के रोगी को लौकी के पत्तों को पीसकर लेप करना चाहिए। रोग ठीक हो जाएगा।
  11. जिन्हें बार-बार हिचकी आती हो, वे लौकी के सूखे बीज चबाएं। हिचकी बन्द हो जाएगी।
  12. पेट की गैस से छुटकारा पाने के लिए कच्ची लौकी को नमक के साथ खाएं।

स्त्रियों के लिए विशेष

  1. मासिक धर्म में लौकी की सब्जी खाने से नियमित, सामान्य रक्त गिरेगा तथा पीड़ा भी नहीं होगी।
  2. आधा कप लौकी का रस गुनगुना कर पी लें। यदि यह 8-9 दिनों तक पीते रहें, इससे गन्दा खून शुद्ध होगा।
  3. नौवें महीने गर्भवती नारियों को कच्ची लौकी मिश्री के साथ खानी चाहिए। इससे बच्चे का रंग गोरा हो जाता है।

लौकी एक निरोगी सब्जी है। इसे स्वस्थ लोग तो चाव से खाते ही हैं, बीमारों के लिए भी यह एक सुपाच्य व पथ्य है। लौकी या घीया अनेक गुणों का भण्डार होने के कारण कितने ही रोगों में इलाज के तौर पर प्रयोग किया जाता है।

घीया या लौकी को बनाना, पकाना, खाना तथा हजम करना आसान है। यह शक्तिवर्धक है। पेट में गैस नहीं होने देती। छाती में जलन नहीं होने देती। चेहरे की कांति को बढ़ाती है। चेहरे पर रौनक लाती है। यह सौंदर्य बढ़ाने के लिए सौंदर्य प्रसाधन, उबटन, सूप आदि के काम में भी आसानी से प्रयोग लायी जा सकती है।

यह भी पढ़े – खरबूजा से होने वाले 29 फायदे और औषधीय गुण जानकर रेह जायेंगे हैरान

अस्वीकरण – यहां पर दी गई जानकारी एक सामान्य जानकारी है। यहां पर दी गई जानकारी से चिकित्सा कि राय बिल्कुल नहीं दी जाती। यदि आपको कोई भी बीमारी या समस्या है तो आपको डॉक्टर या विशेषज्ञ से परामर्श लेना चाहिए। Candefine.com के द्वारा दी गई जानकारी किसी भी जिम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Follow us on Google News:

Mamta Jain

मैं ममता जैन मीडिया क्षेत्र में मैं तीन साल से जुड़ी हुई हूं। मुझे लिखना काफी पसन्द है और अब मैने यही मेरा प्रोफेशन बना लिया है। मैं जर्नलिज्म एंड मास कम्युनिकेशन में ग्रेजुएट हूं। हेल्थ, स्वास्थ्य, मनोरंजन, सरकारी योजना, क्रिकेट, न्यूज़ और ब्यूटी पर लिखने में मेरा स्पेशलाइजेशन है। हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी जानकारी जानने के लिए मुझे फॉलो करें।