इमली खाने के फायदे, पेट के लिए फायदेमंद है इमली का सेवन।

इमली खाने के फायदे (Benefits of Tamarind In Hindi):- भारत में खाने में इमली का प्रयोग काफी लंबे समय से चला आ रहा है खासकर की भारत के दक्षिण राज्यों में इमली से बनी चीजों का सेवन बहुत किया जाता है। पूरे भारत में खाया जाने वाला सांभर में इमली का प्रयोग किया जाता है। इमली का स्वाद खट्टा मीठा होता है। इसी स्वाद के कारण भारत में खाए जाने वाली पानी पुरी में इमली का प्रयोग किया जाता है। इमली हमें कई सारी बीमारियों से बचाती है जैसे पेट दर्द, पेचिश, घाव भरने, नेत्र रोगों आदि में बहुत ही फायदेमंद होती है। इमली का इस्तेमाल कैसे किया जाता है, इमली के नुकसान क्या होते हैं। इमली खाने के फायदे और नुकसान के बारे में जानेंगे।

इमली खाने के फायदे (imli khane ke fayde)

इमली खाने के फायदे
Benefits of Tamarind In Hindi

यह भी पढ़े – सुबह बासी मुंह पानी पीने के फायदे? बिना कुल्ला किये पानी पीने के फायदे।

इमली में पाए जाने वाले पोषक तत्व

S.Noपोषक तत्व
1एनर्जी
2प्रोटीन
3फैट
4कार्बोहाइड्रेट
5फाइबर
6शुगर
7आयरन
8कैल्शियम
9मैग्नीशियम
10फास्फोरस
11पोटेशियम
12सोडियम
13जिंक
14विटामिन-C
15थियामिन
16राइबोफ्लेविन
17नियासिन
18विटामिन B
19फोलेट

इमली के फायदे

इमली खाने में खट्टी मीठी होती है परंतु इसमें औषधि गुण भरपूर होते हैं प्राचीन काल से ही इमली का सेवन चलता आ रहा है इमली का सेवन करने से यह हमारे शरीर में होने वाली कई बीमारियों को समाप्त कर देती है। इमली का सेवन करने से हमारे लीवर की सुरक्षा, हृदय की सुरक्षा और यह हमारे पाचन तंत्र को भी मजबूत करती है। कुदरत से मिलने वाले इस औषधि के गुण चमत्कारी होते हैं। परंतु इमली का अधिक सेवन करने से यह नुकसानदायक भी हो सकता है।

वजन कम करने में सहायक

इमली के अंदर हाइड्रोसिट्रिक नाम का तत्व पाया जाता है यह हमारे शरीर में जाकर हमारे शरीर के अंदर के फट को धीरे धीरे गर्ल कर निकलने लगता है जिससे हमारे शरीर का वजन धीरे-धीरे कम होने लगता है। इमली के सेवन से आप अपना वजन कम कर सकते हैं।

कैंसर से बचाव में सहायक

इमली के अंदर टैरट्रिक एसिड नामक तत्व पाया जाता है जो कैंसर के सेल को बढ़ने से बचाता है इमली के अंदर एंटीऑक्सीडेंट गुण भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं यह हमें कैंसर जैसे घातक रोग से बचाने में काफी मददगार हो सकती है।

पाचन तंत्र मजबूत करने में सहायक

इमली के अंदर कई प्रकार के पोषक तत्व पाए जाते हैं। यह हमारे भाषण तंत्र को मजबूत बनाने का काम करते हैं जिनको पाचन संबंधी समस्या हो रही है तो उन्हें इमली से बनी चीजों का सेवन करना चाहिए क्योंकि है हमारे पेट के लिए औषधि के समान हो सकती है यह हमारे पेट के पाचन तंत्र को मजबूत करती है और पेट साफ ना होने जैसी समस्याओं से छुटकारा दिला सकती है।

डायबिटीज के मरीजों के लिए फायदेमंद

जिनको डायबिटीज की समस्या है उनको इमली से बनी चीजों का सेवन करना चाहिए इमली हमारे शरीर में ब्लड सरकुलेशन को नियंत्रित बनाए रहती है और यह हमारे शरीर में शुगर के स्तर को भी नियंत्रित करती है। डायबिटीज के मरीजों के लिए इमली का सेवन बहुत ही फायदेमंद साबित हो सकता है।

ब्लड प्रेशर मरीजों के लिए फायदेमंद

इमली के अंदर आयरन और पोटेशियम अच्छी मात्रा में पाए जाते हैं। यदि आप इमली से बनी चीजों का सेवन करते हैं तो यह आपके ब्लड प्रेशर को नियंत्रित बनाए रखती है। यह आपके शरीर के अंदर मतलब है रेड ब्लड सेल को बढ़ाने में मदद करती है जिससे आपका ब्लड प्रेशर नियंत्रित बना रहता है।

बिच्छू के काटने पर इमली के फायदे

यदि आपको बिच्छू ने काट लिया है और आपको तुरंत इलाज नहीं मिल पा रहा तो ऐसे में आपको इमली के बीज को घिसकर उस स्थान पर लगा लेना है इससे बिच्छू के काटे हुए स्थान पर आपको धीरे-धीरे दर्द कम हो सकता है। इमली के बीज के बीच कई फायदे होते हैं।

इम्यूनिटी सिस्टम मजबूत करने में

इमली के अंदर विटामिन सी और एंटीऑक्सीडेंट गुण भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं यदि आप इमली का नियमित सेवन करते हैं तो आपकी यूनिटी सिस्टम मजबूत होगी आपके शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ जाएगी यदि आपको जल्दी थकान हो जाती है तो इमली इसमें आपके लिए बहुत ही फायदेमंद साबित हो सकती है।

त्वचा के लिए फायदेमंद

इमली के अंदर कई प्रकार के पोषक तत्व पाए जाते हैं जिसमें विटामिन सी अच्छी मात्रा में पाया जाता है विटामिन सी हमारी त्वचा के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है यदि आप इमली से बनी चीजों का नियमित सेवन करते हैं तो आपकी स्किन मैं चमक आने लगेगी और आपकी त्वचा हेल्थी बनी रहेगी।

यह भी पढ़े – खसखस के फायदे? ये है खसखस खाने के 7 बड़े फायदे

अस्वीकरण – यहां पर दी गई जानकारी एक सामान्य जानकारी है। यहां पर दी गई जानकारी से चिकित्सा कि राय बिल्कुल नहीं दी जाती। यदि आपको कोई भी बीमारी या समस्या है तो आपको डॉक्टर या विशेषज्ञ से परामर्श लेना चाहिए। Candefine.com के द्वारा दी गई जानकारी किसी भी जिम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.