गोभी खाने के फायदे? फूल गोभी, बन्द गोभी, गांठ गोभी खाने के अचूक फायदे

गोभी खाने के फायदे:- हर गरीब अमीर को भा जाने वाली, शीघ्र पकाई जाने वाली, हर आयु के लोगों के लिए गोभी एक उपयुक्त सब्जी है। गोभी सब्जी, आचार, सलाद, नाश्ता, पकौड़े तथा कुछ अन्य व्यंजन बनाने के काम आती है। फूल गोभी, पत्ता गोभी (बन्द गोभी) तथा गांठ गोभी, ये तीन प्रकार हैं।

गोभी खाने के फायदे? फूल गोभी, बन्द गोभी, गांठ गोभी खाने के अचूक फायदे

गोभी खाने के फायदे
benifits of cauliflower

यह भी पढ़े – टमाटर के उपयोग और गुण, रक्त की कमी पूरी करता है टमाटर

फूल गोभी के फायदे

  1. यह सफेद रंग के फूल-सी होती है। आमतौर पर यह आधा किलो से डेढ़ किलो के वजन तक का फूल होता है। इसकी सब्जी आसानी से बनाई जाती है। आलू इसमें विशेष तौर पर मिलाया जा सकता है।
  2. यह पुलाव में भी डाली जा सकती है।
  3. इसका आचार भी शीघ्र बन सकता है।
  4. पकौड़े बनाने में भी प्रयोग होती है।
  5. इसे कच्चा, सलाद के तौर पर आसानी से खाया जा सकता है।
  6. यह सर्दियों में होती है। जब बाजार में अधिक मात्रा में सस्ती मिले तो इसे काटकर सुखाया जा सकता है। जो बाद में कभी सब्जी के काम आ सकती है।
  7. फूल गोभी के फोलिक एसिड तथा विटामिन सी मिलता है। (8) इसी कारण गर्भवती स्त्रियों को गोभी खानी चाहिए। वे कच्ची गोभी भी खाएं तो उन्हें फोलिक एसिड व विटामिन सी प्रचुर मात्रा में मिल जाएंगे।

Note:- जिन्हें गैस की तकलीफ रहती हो तथा घेघा रोग से पीड़ित हों, उन्हें गोभी नहीं खानी चाहिए अन्यथा हानिकारक होगी।

बन्द गोभी / पत्ता गोभी के फायदे

  1. यह सलाद को सजाने तथा खाने में काम आती है।
  2. इसकी सब्जी भी सुगमता से बनती है।
  3. फूल गोभी की तरह, इसे सुखाकर नहीं रखा जा सकता। न ही यह पकौड़े बनाने के काम आती है।
  4. पत्ता गोभी की खीर दूध में बनाने से बड़ी बलवर्धक होती है।
  5. चूंकि पत्तों में मिठास व स्वाद होता है। अतः यह सलाद के अतिरिक्त कई व्यंजनों में कच्ची खाई जाती है।
  6. पत्ता गोभी का रस पीने से निरोगता मिलती है।
  7. पीलिया रोग में 200 ग्राम पत्ता गोभी का रस तथा डेढ़ चम्मच शहद पीने से लाभ होता है।
  8. पत्ता गोभी की खीर अथवा रस, दोनों से हृदय रोग में लाभ मिलता है।
  9. इसके रस को पीने से तो दाद, खाज व खुजली में बड़ा लाभ होता है।
  10. शरीर में रक्त का प्रवाह ठीक करने के लिए भी वैद्य बन्द गोभी खाने का सुझाव देते हैं।

बन्द गोभी अथवा पत्ता गोभी के विषय में कुछ और जानकारी

यह मानना पड़ेगा कि पत्ता गोभी या बन्द गोभी एक अच्छी सब्जी, एक बढ़िया सलाद तथा बहुत ही उत्तम औषधि है। इससे बना पेयजल बहुत उपयोगी होता है। अनेक व्यंजनों में काम आने वाली पत्ता गोभी को बड़े चाव के साथ खाया जाता है। फूल गोभी तथा गांठ गोभी से यह ज्यादा लाभदायक है।

पत्ता गोभी के उपयोग तथा लाभ

  1. यह एक शक्तिदायक सब्जी है तथा शीघ्र पकाई जा सकती है।
  2. इसमें विटामिन ‘ए’ की मात्रा बहुत मिलती है।
  3. यदि पेट में गैस बनती है तो पत्ता गोभी का रस शहद के साथ लें।
  4. यदि आपकी त्वचा खुश्क रहती है। खुजली की भी शिकायत है तो गोभी के रस का एक कप चम्मच भरकर शहद के साथ लें। इसे दिन में दो बार, केवल एक सप्ताह तक लेने से आप रोगमुक्त हो जाएंगे।
  5. जिन्हें धुंधला दिखता हो, रतौंधी की शिकायत हो, उन्हें अपने भोजन में पत्ता गोभी की मात्रा बढ़ा देनी चाहिए। इसमें उपलब्ध विटामिन ‘ए’ उन्हें सहायता करेगा।
  6. पत्ता गोभी खाने से भोजन आसानी से पच जाता है।
  7. आमाशय के कैंसर की रोकथाम तथा इलाज के लिए पत्ता गोभी का रस बहुत उपयोगी होता है। प्रतिदिन दो बार, पूरे तीन महीनों तक यदि पत्ता गोभी के रस का एक छोटा गिलास पिलाया जाए तो आमाशय के कैंसर का रोग खत्म होगा।
  8. जिनके मसूढ़े कमजोर है। खून निकलता है। उन्हें भी बन्द गोभी के रस को पीना चाहिए।
  9. जिनका शरीर भारी होता है, उन्हें पत्ता गोभी खाने को कहा जाता है। यह वजन कम करती है।
  10. उच्च रक्तचाप के मरीजों को भी बन्द गोभी खानी चाहिए। इसमें विटामिन ए, बी, सी ही नहीं, बल्कि पोटाशियम भी उपलब्ध रहता है। यही रक्तचाप को नियन्त्रित करेगा।
  11. पेशाब के रोगी भी पत्ता गोभी खाकर ठीक हो सकते हैं।
  12. यदि सप्ताह में दो दिन दोपहर का भोजन न कर, पत्ता गोभी का रस पी लिया जाए तो भार कम हो जाएगा। यदि पत्ता गोभी के साथ टमाटर तथा गाजर मिला दी जाए तथा इस रस को पी लें, तो सोने पर सुहागा होगा।
  13. पत्ता गोभी से उबलते पानी की भाप लेने से कफ शांत होता है।
  14. यदि शरीर में ठंड रहने की शिकायत हो गई हो तो भी पत्ता गोभी की भाप लेना अच्छी बात है।
  15. पत्ता गोभी की सब्जी बनाते समय थोड़ी-सी हींग डाल लेना, वात रोग नहीं होने देता।
  16. चूंकि पत्ता गोभी बात रोग को उभारती है, अतः इस रोग से पीड़ित व्यक्ति को इसकी सब्जी की मात्रा सीमित रूप में खानी चाहिए।
  17. सामान्य ठंड, सर्दी, जुकाम में भी यदि पत्ता गोभी की भाप ली जाए तो बहुत लाभ होगा।
  18. यदि लेबर पेन के समय, बच्चा होने से एक घंटा पहले, एक कप ताजा पत्ता गोभी का रस, शहद मिलाकर प्रसूता को दे दें, तो उसे बच्चा जनने में सुविधा होगी।
  19. यकृत विकारों में भी पत्ता गोभी का रस और शहद लाभकारी होता है।

गांठ गोभी के फायदे

  1. बाकी दोनों गोभियां, जमीन से बाहर, एक डंठल पर होती हैं जब कि गांठ गोभी शलगम की तरह मिट्टी के अन्दर तथा पत्ते बाहर होते हैं। इसे कड़म भी कहते हैं।
  2. इसकी सब्जी बनती है। पत्तों को भी सब्जी के साथ पकाया जा सकता है।
  3. यह अचार आदि में प्रयोग नहीं होती।
  4. इसके पत्तों अथवा फल को कच्चा खाया जा सकता है।
  5. यह शरीर को ताकत प्रदान करती है तथा अनेक तत्त्वों से भरपूर होती है।

गोभी एक सस्ती सब्जी है। यह बड़े चाव के साथ खाई जाती है। इसे पैदा करने वाला या ग्राहक, सभी पसंद करते हैं। इसके उपयोग अनेक हैं सब्जी, सलाद, सूप, पकौड़े, अचार, पुलाव तथा अनेक अन्य तरीकों से इसे प्रयोग करना हितकर व बनाने में आसान है। इसीलिए गोभी सर्वत्र प्रयोग की जाती है। पसंद की जाती है तथा खाई जाती है। यह आसानी से तथा जल्दी पकाई जा सकती है, यह भी तो इसकी विशेषता है।

यह भी पढ़े – ककड़ी के 30 गुण और प्रयोग जानकर रह जायेंगे हैरान, मिलेंगे अचूक फायदे

अस्वीकरण – यहां पर दी गई जानकारी एक सामान्य जानकारी है। यहां पर दी गई जानकारी से चिकित्सा कि राय बिल्कुल नहीं दी जाती। यदि आपको कोई भी बीमारी या समस्या है तो आपको डॉक्टर या विशेषज्ञ से परामर्श लेना चाहिए। Candefine.com के द्वारा दी गई जानकारी किसी भी जिम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Follow us on Google News:

Mamta Jain

मैं ममता जैन मीडिया क्षेत्र में मैं तीन साल से जुड़ी हुई हूं। मुझे लिखना काफी पसन्द है और अब मैने यही मेरा प्रोफेशन बना लिया है। मैं जर्नलिज्म एंड मास कम्युनिकेशन में ग्रेजुएट हूं। हेल्थ, स्वास्थ्य, मनोरंजन, सरकारी योजना, क्रिकेट, न्यूज़ और ब्यूटी पर लिखने में मेरा स्पेशलाइजेशन है। हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी जानकारी जानने के लिए मुझे फॉलो करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *