भाग कर शादी कैसे करे? क्या भाग कर शादी करना सही है?

भाग कर शादी कैसे करे (bhag kar shadi kaise kare) यदि आप भाग कर शादी करना चाहते हैं तो आपके पास दो ऑप्शन है पहला ऑप्शन “कोर्ट मैरिज“ और दूसरा ऑप्शन “मंदिर में शादी करना“। यदि आप कोर्ट मैरिज करना चाहते हैं तो आपको कोर्ट मैरिज करने में 36 दिन का समय लगेगा। और यदि आप मंदिर में विवाह करना चाहते हैं तो आपको 1 दिन का समय लगेगा।

भाग कर शादी कैसे करे (Bhag Kar Shadi Kaise Kare)

भाग कर शादी कैसे करे

यह भी पढ़े – 1 दिन में कोर्ट मैरिज कैसे करें? Court Marriage In 1 Day?

भाग कर शादी करना कोई सही तरीका नहीं है क्योंकि लड़के के मां-बाप और लड़की के मां-बाप बच्चो को बड़ा करने में और उनके शिक्षा दीक्षा में बहुत परिश्रम करते हैं हर मां बाप यह चाहते हैं और अपने मन में एक उम्मीद लगाकर रखते हैं कि हम अपने बच्चों का विवाह बहुत धूमधाम से और अच्छी जगह करेंगे परंतु लड़का और लड़की प्रेम में भाग कर शादी कर लेते हैं।

भाग कर शादी करना कोई अच्छा ऑप्शन नहीं है सबसे पहले आपको अपने माता-पिता को इस विवाह के लिए राजी करना चाहिए राजी हो जाने के बाद विवाह करना चाहिए परंतु कुछ प्रेमी जोड़े ऐसे भी हैं जिनके मां बाप इस रिश्ते से इंकार कर देते हैं तब प्रेमी जोड़े के पास कोई ऑप्शन नहीं बचता वह भाग कर शादी कर लेते हैं।

कोर्ट मैरिज कैसे करें

भारत के संविधान के अनुसार लड़के की उम्र 21 वर्ष और लड़की की उम्र 21 वर्ष होना अनिवार्य है। भारत सरकार ने वर्ष 2021 के शीतकालीन सत्र में लड़कियों की विवाह की उम्र बड़ा कर 21 वर्ष कर दी है। कोर्ट मैरिज करने के लिए आपको अपने नजदीकी रजिस्ट्रार ऑफिस में एक एप्लीकेशन देनी होती हैं उसके बाद रजिस्ट्रार उस एप्लीकेशन के बेस पर मंजूरी देता है या फिर उसको निरस्त भी कर सकता है।

यदि वह मंजूरी दे देता है तब आपको विवाह करने के लिए आपसे आपके जरूरी डाक्यूमेंट्स मांगेंगे कोर्ट मैरिज करने में लगभग 36 दिन का समय लगता है ऐसा इसलिए होता है क्योंकि कोर्ट मैरिज के कई प्रोसेस होते हैं। पहले तो आप के डाक्यूमेंट्स को वेरीफाई करते हैं फिर वहां के लोकल न्यूज़ पेपर में ऐड दिया जाता है और आपके घरों पर नोटिस भेजा जाता है इन सब प्रोसेस में कई दिन लग जाते हैं।

मंदिर में विवाह कैसे करें

मंदिर में विवाह करने के लिए आपको अपने आयु का प्रमाण पत्र देना होता है और दो गवाह साथ में होने अनिवार्य है मंदिर में पंडित आपकी शादी कर आता है और उसके बाद आपको वहां से अपने शादी का प्रमाण पत्र लेना अनिवार्य है।

यदि आप ऐसा नहीं करते हैं तो आप की शादी रजिस्टर्ड नहीं हो पाएगी क्योंकि भारत सरकार ने शादी को रजिस्टर कराना अनिवार्य कर दिया है मंदिर में शादी करने के बाद स्टेशन कराने के लिए वकील से संपर्क करना होगा इस काम में सिर्फ 1 दिन का समय लगता है और आप की शादी रजिस्टर हो जाती हैं।

Note :- यदि लड़का और लड़की अपना मूल निवास स्थान छोड़कर दूसरे शहर, स्टेट, या फिर देश में जाते हैं तो इस परिस्थिति में उनका विवाह नहीं हो सकता।

Subscribe with Google News:

Leave a Comment