ब्रोंकाइटिस की रोकथाम के संभव उपाय, ब्रोंकाइटिस की रोकथाम है संभव

ब्रोंकाइटिस की रोकथाम के संभव उपाय, ब्रोंकाइटिस (Bronchitis) की रोकथाम है संभव, ठीक से कफ न उखड़ने, खांसी होने, सांस लेने में परेशानी करने वाले ब्रोंकाइटिस को शांत रखने के लिए थोड़ा प्रयास तो करना ही होगा जो बिल्कुल सम्भव भी है। इस रोग में वायु-नली में सूजन हो जाना आम बात है। फेफड़ों में जाने वाली वायु नली में जब बड़ी नलिकाओं का प्रभाव पड़ता है तो ब्रोंकाइटिस रोग हो जाता है।

ब्रोंकाइटिस की रोकथाम के संभव उपाय

ब्रोंकाइटिस की रोकथाम के संभव उपाय

यह भी पढ़े – जुकाम छींक और नाक बहने का सरल इलाज बस अपनाये ये घरेलू उपाय

ब्रोंकाइटिस की रोकथाम के संभव उपाय

  • एक और स्थिति भी है। वायु नली से जब बारीक नलिकाएं प्रभावित होती हैं तो उसे ब्रोंको-निमोनिया कहा जाता है। यह बहुत खतरनाक होता है।
  • दोनों रोगों के लक्षण है- (1) खांसी रहना, (2) ज्वर चढ़ना, (3) छाती में घुटन बनी रहना, (4) पूरे शरीर में अकड़न हो जाना।
  • यदि ब्रोंको-निमोनिया है तो इस रोग के बढ़ने से कुछ और लक्षण उपस्थित हो जाते हैं- (1) हाथ-पांव, चेहरा नीले पड़ना, (2) शरीर थका-थका मृतप्राय सा रहना, (3) जिह्वा पर चिपचिपापन आ जाना, (4) खून अशुद्ध काला-सा हो जाना, (5) त्वचा खुश्क हो जाती है।
  • इन रोगों में बलगम सूखी रहती है। उखड़ती नहीं। फिर थोड़ी गीली होने लगती है। चिपचिपापन ले लेती है। उखाड़ने में परेशानी आती है।

कुछ घरेलू उपचार

इन रोगों से बचने के लिए थोड़ा धीरज रखना पड़ता है। मगर लाभ ज़रूर होता है।

  • सर्दी लगने से अपना पूरा बचाव करें।
  • रात सोने से पूर्व जुशांदा (दुशांदा) अवश्य बनाकर एक कप पी लें।
  • तारपीन के तेल से फायदा होगा। इससे छाती की मालिश करें।
  • घी गर्म करें। थोड़ा चुटकी भर केसर डालें। इससे छाती की मालिश करें।
  • दूध का एक गिलास गर्म-गर्म लें। इसमें दो चुटकी केसर डालकर पी लें। काफी आराम पाएंगे।
  • गर्म पानी लें। नींबू निचोड़ें। गुनगुना पी लें। यह रोगों से लड़ने की क्षमता पैदा कर देगा। आराम महसूस करेंगे।
  • सोयाबीन को अंकुरित कर, या भिगोकर नर्म कर, थोड़ा कूट-पीस लें। इसमें शहद मिलाकर खाएं। काफी आराम पाएंगे।
  • एक चम्मच शहद तथा आधा चम्मच लहसुन का रस मिलाकर चाट लें। प्रतिदिन, दिन में दो खुराक बड़ा आराम मिलेगा।
  • मुलहठी का पाऊडर, सुहागा खील किया हुआ, क्रमशः एक छोटा चम्मच तथा एक चौथाई छोटा चम्मच लें। एक बड़े चम्मच शहद में दोनों को मिलाकर धीरे-धीरे चाटें। ऐसी तीन खुराक एक ही दिन में लें। ऊपर से गर्म पानी पी लें। दो ही दिनों में आराम पा लेंगे।
  • गर्म पानी में नमक डालकर भाप लें। आराम मिलेगा।
  • गर्म पानी में सिरका डालकर भाप लेने से आराम मिलता है।
  • चाहें तो गर्म पानी में लौंग के तेल की तीन बूंद डालकर भाप लें।

इनमें से कोई उपाय भाप वाला जरूर करें। पुदीना के सत्व को डालकर भी भाप लेना उपयोगी माना जाता है। बेशक ब्रोंकाइटिस के दौरे बहुत कष्टकारक होते हैं। फिर भी थोड़ा प्रयत्न करके इनको नियन्त्रण में रख पाना कठिन नहीं है।

यह भी पढ़े – पेट के कीड़ों से छुटकारा पाने के घरेलू उपाय

अस्वीकरण – यहां पर दी गई जानकारी एक सामान्य जानकारी है। यहां पर दी गई जानकारी से चिकित्सा कि राय बिल्कुल नहीं दी जाती। यदि आपको कोई भी बीमारी या समस्या है तो आपको डॉक्टर या विशेषज्ञ से परामर्श लेना चाहिए। Candefine.com के द्वारा दी गई जानकारी किसी भी जिम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Subscribe with Google News:

Leave a Comment