लाला लाजपत राय का जीवन परिचय? लाला लाजपत राय पर निबंध?

लाजपत-राय-का-जीवन-परिचय

लाला लाजपत राय का जीवन परिचय: लाला लाजपत राय का जन्म जन्म 28 जनवरी, 1865 को पंजाब के फिरोजपुर जिले ढोडी नामक गाँव में हुआ था। उनके पिता का नाम लाला राधाकृष्ण था। युवकों में उत्साह भरने के लिए निर्भीक और बलिदानी नेता की आवश्यकता होती है। लालाजी (Lala Lajpat Rai Biography in Hindi) ऐसे … Read more

वीर अब्दुल हमीद का जीवन परिचय? वीर अब्दुल हमीद पर निबंध?

वीर अब्दुल हमीद का जीवन परिचय

वीर अब्दुल हमीद का जीवन परिचय: वीर अब्दुल हमीद का जन्म 1 जुलाई, सन् 1933 को गाजीपुर जिले के धामपुर ग्राम में हुआ था। उनके पिता का नाम उस्मान था। एवं उनकी माता का नाम सकीना बेगम था। हिन्दुतान के वीर राष्ट्रभक्त सैनिकों की न कोई जाति होती है और न कोई धर्म उनकी जाति … Read more

गणतंत्र दिवस पर निबंध? गणतंत्र दिवस क्यों मनाया जाता है?

गणतंत्र दिवस पर निबंध

गणतंत्र दिवस पर निबंध: हमारे देश में 26 जनवरी का दिन एक यादगार दिवस (Republic Day essay in Hindi) के रूप में मनाया जाता है। 26 जनवरी, 1950 को भारतीय संविधान लागू किया गया और हमारा देश पूर्ण गणतंत्र घोषित (26 जनवरी पर निबंध) किया गया तभी से यह दिन गणतंत्र दिवस के रूप में … Read more

पोंगल पर निबंध? पोंगल मनाने का कारण क्या है?

पोंगल पर निबंध

पोंगल पर निबंध (Pongal Par Nibandh), उत्तर भारत में 14 जनवरी को प्रतिवर्ष मकर संक्रान्ति का त्योहार मनाया जाता है। इसी प्रकार का एक त्योहार इसी समय दक्षिण भारत तमिलनाडु में मनाया जाता है, जिसे पोंगल कहते हैं। हमारा देश विभिन्नताओं के समूह का एक ऐसा देश है, जो अन्यत्र दुर्लभ है। इस अद्भुत स्वरूप … Read more

डॉ. के. आर. नारायणन का जीवन परिचय? डॉ. के. आर. नारायणन पर निबंध?

डॉ. के. आर. नारायणन का जीवन परिचय

डॉ. के. आर. नारायणन का जीवन परिचय: डॉ. के. आर. नारायणन का जन्म 27 अक्तूबर, 1920 को केरल राज्य के उजावूर नामक ग्राम में हुआ था। उनके पिता का नाम रामन वैद्य था एवं उनकी माता का नाम पुन्नाथठुरावीथी पप्पियाम्मा था। राष्ट्रपति का पद गरिमा का पद है। इस पद को भारत के दसवें राष्ट्रपति … Read more

नशा बन्दी पर निबंध? मद्यपान का दुष्परिणाम?

नशा बन्दी पर निबंध

नशा बन्दी पर निबंध:- समाज सुधारकों, धर्माचार्यों तथा अन्य विवेकीजनों ने समय-समय पर समाज की जिन दुष्पवृत्तियों की निन्दा की है और जिन्हें पाप समझकर त्याज्य बताया है, मदिरापान उनमें से प्रमुख है। मदिरापान सामान्य पाप नहीं, अपितु वह सभी पापों से बढ़कर है। इसको स्पष्ट करते हुए कहा है नशा मुक्ति पर निबंध कि- … Read more