चॉकलेट क्या होता है और यह कैसे बनता है यह हम आपको बताते हैं?

चॉकलेट क्या होता है और यह कैसे बनता है, चॉकलेट एक ऐसी चीज है जिसका नाम सुनते ही मुंह में पानी आने लगता है चॉकलेट (Chocolate Kya Hota Hai) खाना हर किसी को पसंद है चाहे वह छोटे बच्चे हो या कोई बड़ा व्यक्ति। यह ऐसी चीज है जो हर समय आसानी से मिल जाती है इसका कोई मौसम नहीं होता। आइए जानते हैं की चॉकलेट कैसे बनाया जाता है और यह इतना स्वादिष्ट क्यों होता है।

चॉकलेट क्या होता है (Chocolate Kya Hota Hai)

चॉकलेट क्या होता है

क्या होती है चॉकलेट

यह एक खास तरह के बीजों से बनाया जाता है। यह पेज को को पेड़ से प्राप्त होता है। कोको पेड़ के फल को तोड़कर उनके बीज निकाल कर उन्हें सुखा कर और फर्मेंट किया जाता है ताकि वह और स्वादिष्ट हो जाए। इन बीज को कोको बींस कहते हैं। इसके बाद इसे सुखाया जाता है साफ किया जाता है और रोस्ट किया जाता है।

जिससे इसके बाहर का हिस्सा निकालने में आसानी होती है। फिर तो हमारे पास रेह जाता है वह होता है प्योर चॉकलेट। जो प्योर चॉकलेट लिक्विड फॉर्म में होता है उसे चॉकलेट लिकर नाम से जाना जाता है। इस चॉकलेट लिकर मैं कोको बटर मिलाकर तीन तरह की चॉकलेट बनाए जाते हैं डार्क चॉकलेट ,व्हाइट चॉकलेट, और मिल्क चॉकलेट।

  • डार्क चॉकलेट में कोको ज्यादा मात्रा में होता है और चीनी कम मात्रा में जिस वजह से यह कम मीठा होता है।
  • वाइट चॉकलेट में चीनी, मिल्क पाउडर, कंडेंस मिल्क ज्यादा मात्रा में होता है जिससे यह ज्यादा मीठा और स्वादिष्ट होता है।
  • मिल्क चॉकलेट में दूध और चीनी ज्यादा मात्रा में होता है जिससे यह भी स्वादिष्ट होता है।

इन तीन प्रकार के चॉकलेट को खाने से शरीर में अलग अलग तरह का बदलाव आता है। मुख्य रूप से देखा जाए तो चॉकलेट खाने के तुरंत बाद आपके शरीर में क्या क्या बदलाव आता है यह हम आपको बताते हैं-

10 मिनट बाद शरीर में बदलाव

जब हम चॉकलेट का पहला टुकड़ा खाते हैं तो उसे खत्म करते ही और खाने की इच्छा होती है लगभग 10 मिनट के अंदर तो कोई एक पूरी चॉकलेट खत्म कर सकता है इसका कारण यह है कि जब भी हम चॉकलेट खाते हैं तो हमारा दिमाग दो तरह के हार्मोन पैदा करता है।

एक होता है डोपामाइन और दूसरा है एंडोर्फिंस। यह हार्मोन हमारे शरीर में तब बनता है जब हम किसी से बेहद प्यार करते हैं या बहुत खुश होते हैं इसलिए चॉकलेट खाने के तुरंत बाद हमें बहुत अच्छा महसूस होने लगता है। हम अच्छे मूड में होते हैं आप बहुत खुश भी रहते हैं।

20 मिनट बाद शरीर में बदलाव

चॉकलेट खाने के बाद जब पाचन प्रक्रिया शुरू होती है तो लगभग 20 मिनट बाद हमारे शरीर में शुगर की मात्रा बढ़ जाती है। जब हमारा शुगर लेवल बढ़ता है तो हमारे आंतों में इंसुलिन बनने लगता है जो कि शुगर को एनर्जी में बदल देता है।

साथ ही इसका कुछ हिस्सा लीवर में जाकर फैट को बढ़ा देता है। इस प्रक्रिया में कुछ और हारमोंस बनते हैं जो हमारे हार्टबीट को तेज कर देते हैं इसलिए चॉकलेट खाने के 20 मिनट बाद ब्लड प्रेशर थोड़ा बढ़ जाता है और पसीना भी आने लगता है।

40 मिनट बाद शरीर में बदलाव

चॉकलेट मैं कोको बींस की मात्रा अच्छी खासी होती है और यह हम सब जानते हैं कि कोको में कैफीन होता है चॉकलेट खाने से शरीर में शुगर तो बढ़ता ही है साथ ही कैफीन भी बढ़ता है इंसुलिन के कारण शरीर में शुगर की मात्रा कम होगी।

क्योंकि हॉर्मोन्स अपने समय से ज्यादा काम करेंगे इसलिए शरीर में थोड़ा आलस भी आने लगता है। कई लोगों को नींद भी आती है। बीपी पेशेंट को कभी-कभी सिरदर्द की शिकायत भी होने लगती है लेकिन यह हर किसी को नहीं होता इस समय कैफीन अपना काम करता है और सभी चीज को बैलेंस करता है।

60 मिनट बाद शरीर में बदलाव

चॉकलेट खाने के लगभग 60 मिनट बाद आपके शरीर में फैट बढ़ चुका होगा ब्लड प्रेशर भी बड़ घट चुका होगा शरीर थोड़ा सा थका महसूस करेगी और हारमोंस मैं अपना काम कर चुका होगा।

यह भी पढ़े –