दालचीनी के फायदे और नुकसान? दालचीनी के उपयोग क्या-क्या है?

दालचीनी एक प्रकार का गरम मसाला है। दालचीनी के फायदे (Dalchini Ke Fayde) जानकर रह जायेंगे हैरान। दालचीनी को अंग्रेजी में Cinnamon कहते हैं। दालचीनी का संस्कृत नाम त्वाक है। दालचीनी पेड़ के छोटे और पतले तने को काटकर धूप में सुखाकर बनाया जाता है फिर उसका इस्तेमाल मसाले के रूप में किया जाता है।

दालचीनी के फायदे (Dalchini Ke Fayde)

दालचीनी के फायदे और नुकसान
Dalchini Ke Fayde

दालचीनी के फायदे और नुकसान

दालचीनी का पेड़ कद में छोटा और घना होता है। इसके पतियों को भी मसाले के रूप में उपयोग किया जाता है। दालचीनी का उपयोग मसालों के रूप में और औषधि के रूप में किया जाता है। इसके उपयोग के कई सारे फायदे हैं।

दालचीनी में पाए जाने वाले तत्व

लगभग 2.6 ग्राम दालचीनी में पाय जाने वाले विटामिन इस प्रकार है।

दालचीनी में पाये जाने वाले तत्वदालचीनी पाये जाने वाले तत्वों की मात्रा
कार्बोहाइड्रेट2.1ग्राम
कैल्शियम26.1 मिलीग्राम
आयरन0.21 एमजी
मैग्नीशियम1.56 ग्राम
फास्फोरस1.6 ग्राम
पोटेशियम11.2 ग्राम
एनर्जी6.42
माइक्रोग्राम0.39
दालचीनी के फायदे
दालचीनी के फायदे (Dalchini Ke Fayde)

दालचीनी के फायदे

  • स्त्री रोग में दालचीनी के फायदे
  • दालचीनी के सेवन से मां के स्तन का दूध बढ़ता है।
  • दालचीनी के सेवन से मां के स्तन का दूध बढ़ता है।
  • यदि प्रसव के बाद लगातार एक महीने तक दालचीनी का टुकड़ा चलाया जाए तो गर्भधारणा को डाला जा सकता है।
  • गनोरिया में एवं गर्भाशय के विकार में दालचीनी का उपयोग होता है।

जुकाम में दालचीनी के फायदे

यदि आपको सर्दी या जुकाम की समस्या हो रही है या फिर गले में दर्द और सूजन की समस्या उत्पन्न हो रही है तो चुटकी भर दालचीनी पाउडर को पानी में उबालें और उसमें थोड़ी काली मिर्च का पाउडर मिला लें फिर इसमें शहद मिलाकर सेवन करने से जल्द आराम मिलता है।

पाचन क्रिया को मजबूत बनाने में दालचीनी के फायदे

  • यदि आपको गैस और कब्ज की समस्या है तो दालचीनी के पत्तों का काढ़ा बनाकर सेवन करने से जल्द समस्या दूर होती है।
  • दालचीनी के सेवन से उल्टी आती मचलने जैसी समस्या रुक सकती है।
  • यदि आपको सीने में जलन, अपच या पेट दर्द की समस्या हो रही है तो दालचीनी के साथ हरी इलायची और सोन्ठ को समान मात्रा में पीसकर गर्म पानी के साथ ले सकते हैं।
  • दालचीनी के चूर्ण को काली मिर्च के चूर्ण और शहद के साथ सेवन करने से भी पेट की समस्या दूर होती है।

खाने के स्वाद को बढ़ाने में दालचीनी के फायदे

  • दालचीनी का टुकड़ा कई तरह के पकवानो को बनाने में इस्तेमाल किया जाता है इससे खाने का जायका और बढ़ जाता है।
  • दालचीनी के पत्ते और उस की छाल का उपयोग कई तरह की मिठाइयां ओके को बनाने में इस्तेमाल मिलाया जाता है।

ह्रदय के लिए दालचीनी के फायदे

रोजाना एक नियमित मात्रा में दालचीनी के सेवन से शरीर का खून पतला होता है जिससे कोलेस्ट्रोल या हार्ट अटैक का खतरा टल जाता है

ब्लड शुगर को कम करने मैं दालचीनी के फायदे

जब शरीर में ब्लड शुगर की मात्रा बढ़ने लगती है तो डायबिटीज का खतरा बढ़ जाता है इसलिए जरूरी होता है कि शरीर में शुगर की मात्रा कम हो जिसे डायबिटीज पर नियंत्रण पाया जा सके। दालचीनी में ऐसे तत्व पाए जाते हैं जो रक्त में मौजूद शकरा और इंसुलिन के प्रभाव को कम कर देते हैं इसकी वजह से डायबिटीज के मरीजों को काफी फायदा हो सकता है।

सूजन को कम करने में दालचीनी के फायदे

कई लोगों को खट्टी चीजों का सेवन करने से उनके शरीर में सूजन की समस्या उत्पन्न होने लगती है। यदि आप सूजन को कम करना चाहते हैं तो दालचीनी के पाउडर को पानी में मिलाकर लेख तैयार कर ले और सूजन वाले जगह पर लगा ले।

चर्बी को कम करने के लिए दालचीनी के फायदे

दालचीनी की तासीर गर्म होती है और इसमें विटामिन सी और फाइबर भी अच्छी मात्रा में पाया जाता है। यदि रोजाना खाली पेट एक छोटा चम्मच दालचीनी का पाउडर को शहद के साथ सेवन किया जाए तो शरीर में जमी हुई चर्बी जल्दी करने लगती है।

दालचीनी के अन्य फायदे

  • दालचीनी को पीसकर उसमें थोड़ा नींबू का रस मिलाकर तैयार किया गया लेप को माथे पर लगाने से मुंहासे खत्म हो जाते हैं।
  • यदि ठंड की वजह से आपका सिर दर्द हो रहा है तो दालचीनी को पीसकर पानी में मिलाकर अपने सर पर लगाएं।
  • वीर्य वृद्धि के लिए रोजाना सुबह शाम दालचीनी का पाउडर गुनगुने दूध के साथ सेवन करें।
  • यदि आपके मुंह से ज्यादा दुर्गंध आती है तो दालचीनी का टुकड़ा दांतों में दबाए रखें।
  • दालचीनी का उपयोग खसरा निवारक के तौर पर भी किया जाता है।
  • दालचीनी के पत्तों द्वारा तैयार किया गया तेल का उपयोग सूजन को खत्म करने के लिए एवं घाव को ठीक करने के लिए भी किया जाता है।
  • यदि आपको गंजेपन की शिकायत है या बाय अधिक देखते हैं तो आप एक चम्मच दालचीनी पाउडर एक चम्मच शहद को गरम जैतून के तेल में मिलाकर पेस्ट तैयार कर लें और अपने बालों की जड़ों पर लगा ले। फिर उसे 15 मिनट बाद धो लें ऐसा लगातार कुछ हफ्ते तक करने से बालों का झड़ना कम हो जाता है।
  • नियमित रूप से दालचीनी के सेवन से या चाय में दालचीनी का पाउडर मिलाकर पीने से खून पतला होता है।

दालचीनी के सेवन से होने वाले नुकसान

दालचीनी के सेवन से शरीर को क्या फायदे मिलते हैं इसके साथ ही कुछ नुकसान भी देखने को मिल सकते हैं।

  • दालचीनी गर्म तासीर की होती है इसलिए गर्भवती महिला को दालचीनी का सेवन नहीं करना चाहिए।
  • जिन लोगों को बवासीर की समस्या है उनको दालचीनी का सेवन नहीं करना चाहिए जिससे उनकी बवासीर की समस्या बढ़ सकती है।
  • जिनको एसिडिटी की समस्या है उन्हें भी दालचीनी का सेवन नहीं करना चाहिए।
  • अत्यधिक मात्रा में दालचीनी के सेवन से लीवर की समस्या उत्पन्न हो सकती है। लिवर खराब हो सकता है।
  • दालचीनी गर्म तासीर की होती है इसलिए अत्यधिक मात्रा में इसके सेवन से किसी प्रकार की एलर्जी की शिकायत हो सकती है।

FAQ

यह भी पढ़े –

Leave a Reply

Your email address will not be published.