अधिक दवा के सेवन से स्वस्थ पर होने वाले नुकसान के बारे में जाने

अधिक दवा के सेवन से स्वस्थ पर होने वाले नुकसान के बारे में जाने, जरा-सी तकलीफ हुई नहीं कि हम पहुंच जाते हैं डॉक्टर के पास, हमें ऐसा न करके, रोग के कारण स्वयं जानने चाहिए। उन कारणों को अपने व्यवहार से हटा देना चाहिए। इसी से हम रोगमुक्त होकर स्वस्थ जीवन जी सकते हैं। हां, थोड़ा प्रयत्न करने की आवश्यकता है। डॉक्टर तक पहुंचने की नौबत तो बड़े ही गम्भीर हालातों में होनी चाहिए।

अधिक दवा के सेवन से स्वस्थ पर होने वाले नुकसान के बारे में जाने

अधिक दवा के सेवन से स्वस्थ पर होने वाले नुकसान के बारे में जाने

यह भी पढ़े – दिमाग अच्छा कैसे करें? दिमाग की सेहत अच्छी रखने के लिए रखें कुछ बातों का ध्यान।

ज्यादा दवाइयां खाने से क्या नुकसान होता है

  • यह बात मान लेनी चाहिए कि हम प्रयत्न कर, अपने आहार में ज़रूरी सुधार व परिवर्तन कर, उपयुक्त व्यायाम का सहारा लेकर रोग को हटा सकते हैं। इस प्रकार के परिश्रम से यदि रोगमुक्त हो जाएंगे तो फिर से यह आसानी से नहीं हो पाएगा। इसे जड़ से जो उखाड़ फेंका आपने।
  • यह भी जानने में आया है कि बहुत सारे रोगों का मुख्य कारण अधिक कब्ज़ होना, पाचन शक्ति का गड़बड़ा जाना तथा पेट में कोई विकार घर कर जाना है। यदि इस ओर हम सदा ध्यान देते रहें तो रोग होंगे ही नहीं।
  • यदि रोग का कारण स्वयं न ढूंढ पाएं तो किसी वैद्य या प्राकृतिक चिकित्सक को अपनी हिस्ट्री बताएं। वह कारण ढूंढ निकालेंगे। उस कारण को दूर कर आप स्वास्थ्य लाभ पा सकते हैं।
  • किसी प्रकार की खान-पान, रहन-सहन अथवा व्यायाम के साथ लापरवाही या बदपरहेजी करना ही रोग को निमन्त्रण देना होता है।
  • दवाई सेवन से रोग को ठीक करना उचित नहीं होता। यह रोग को जड़ से नहीं उखाड़ती। दवा तो रोग को दबा देती है। तेज़ दवा या टीका लगने से हम जल्दी ठीक हो जाते हैं। यह हमारा भ्रम है। रोग दब जाता है। मगर जब भी इसे मौका मिलता है, फिर सिर उठाकर खड़ा हो जाता है। इस अवस्था से बचने के लिए ही प्राकृतिक चिकित्सा या आहार द्वारा चिकित्सा करनी होती है।
  • जिन परिवारों में रोगों से छुटकारा पाने के लिए औषधि सेवन पर जोर दिया जाता है उनका घर भी दवाखाना बन जाता है। घर के सदस्यों में से एक या एक से अधिक दवाओं पर सदा रहा करते हैं
  • औषधि सेवन से स्वास्थ्य बनता नहीं, बिगड़ता है।
  • कई बार ये औषधियां रोग को दबाते-दबाते कोई ऐसा ‘रिएक्शन’ कर देती हैं या साइड इफैक्ट होता है कि लेने के देने पड़ जाते हैं। बचें।
  • और तो और, शक्तिवर्धक तथा पौष्टिक दवाओं का सेवन इतना बढ़ गया है कि हम यह भी नहीं जानना चाहते कि इनसे लाभ होगा भी या नहीं। क्यों न हम अच्छे आहार से, फलों से, सब्ज़ियों से या रसों से अपने शरीर की प्रतिरोधक शक्ति बढ़ाएं तथा औषधियों का अन्धाधुन्ध सेवन बन्द करें। तभी स्वास्थ्य सुधार होगा।

यह भी पढ़े – डिप्रेशन से बाहर निकलने का उपाय? डिप्रेशन से बाहर कैसे निकले?

अस्वीकरण – यहां पर दी गई जानकारी एक सामान्य जानकारी है। यहां पर दी गई जानकारी से चिकित्सा कि राय बिल्कुल नहीं दी जाती। यदि आपको कोई भी बीमारी या समस्या है तो आपको डॉक्टर या विशेषज्ञ से परामर्श लेना चाहिए। Candefine.com के द्वारा दी गई जानकारी किसी भी जिम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Subscribe with Google News: