स्टेशन ,जंक्शन, टर्मिनल और सेंट्रल में क्या अंतर होता है? क्या आप यह जानते हैं?

स्टेशन ,जंक्शन, टर्मिनल और सेंट्रल में क्या अंतर होता है :- रेल से यात्रा के दौरान कई बार आपने रेलवे स्टेशन के नाम पर जंक्शन सेंट्रल या टर्मिनल लिखा देखा होगा। लेकिन क्या आप लोग जानते हैं कि रेलवे स्टेशनों के नाम पर यह क्यों लिखे जाते हैं? भारतीय रेलवे का नेटवर्क पूरे विश्व में सबसे बड़ा रेलवे नेटवर्क है। आपको शायद यह भी पता होगा कि हमारे भारत में कुल रेलवे स्टेशनों की संख्या 7349 है। भारत में रोजाना लगभग करोड़ों लोग रेल से सफर करते हैं और ऐसे बहुत कम ही लोग होंगे जिन्होंने कभी रेल में सफर नहीं किया होगा। रेल से सफर के दौरान मार्ग में कई अलग-अलग स्टेशन आते हैं।

स्टेशन ,जंक्शन, टर्मिनल और सेंट्रल में क्या अंतर होता है

स्टेशन जंक्शन टर्मिनल और सेंट्रल में क्या अंतर होता है

स्टेशन ,जंक्शन, टर्मिनल और सेंट्रल में अंतर

यह स्टेशन के नाम कुछ खास टर्म्स से जुड़े होते हैं जैसे जंक्शन, सेंट्रल या टर्मिनस ऐसा जरूर लिखा होता है। आपको बता दें कि यह रेलवे स्टेशन की कैटेगरी होती है। जो स्टेशन के नाम के आगे लगाया जाता है। स्टेशन के नाम के आगे लगाए जाने वाले या कैटेगरी एक खास संदेश देता है। आइये आपको बताते हैं की इन इंटर्न्स का क्या मतलब होता है।

टर्मिनल का मतलब क्या होता है

वैसे तो टर्मिनल और टर्मिनस में कोई अंतर नहीं होता इनका एक ही मतलब होता है। जिन भी रेलवे स्टेशन के नाम से टर्मिनल या टर्मिनस जुड़ा होता है। वह यह दर्शाता है कि स्टेशन से दूसरी दिशा में कोई रेलवे लाइन नहीं है। यानी कि ट्रेन यहां से आगे नहीं जाएगी। सरल भाषा में बताएं तो टर्मिनल रेलवे स्टेशन से चलने वाली सारी ट्रेन सिर्फ एक ही दिशा से आती है और एक ही दिशा में जाती हैं।

इसकी दूसरी दिशा नहीं होती और यह ट्रेन का आखरी गंतव्य होता है। उदाहरण के लिए मुंबई का छत्रपति शिवाजी टर्मिनल । यहां से निकलने वाली सभी ट्रेन एक ही दिशा – कल्याण की ओर जाती जोकि सेंट्रल लाइन है। जबकि स्टेशन की दूसरी दिशा की ओर दूसरा कोई अन्य स्टेशन बना होता है जैसे बांद्रा टर्मिनल वेस्टर्न लाइन है और यहां से जाने वाली ट्रेन अहमदाबाद की दिशा की ओर जाती है और वही से वापस आती है।

सेंट्रल का मतलब क्या होता है

जब किसी भी रेलवे स्टेशन के नाम के साथ सेंट्रल जुड़ा होता है। तो वह इस बात का प्रतीक होता है कि वह रेलवे स्टेशन उस शहर का सबसे प्रमुख और पुराना रेलवे स्टेशन है। यह शहर मुख्य परिवहन केंद्र होता है। जहां उस शहर के बाकी अन्य रेलवे स्टेशनों के मुकाबले कई ज्यादा सेवाएं उपलब्ध होती है।

यह रेलवे स्टेशन अन्य रेलवे स्टेशन के मुकाबले कुछ ज्यादा ही बिजी होते हैं। यह रेलवे स्टेशन काफी बड़े प्रमुख शहरों को जोड़ने वाले ट्रेन काफी मात्रा में यहां पर आती और यहां से जाती है। उदाहरण के लिए भारत के प्रमुख सेंट्रल रेलवे स्टेशन के नाम है कानपुर सेंट्रल चेन्नई सेंट्रल मुंबई सेंट्रल आदि।

जंक्शन का मतलब क्या होता है

जब किसी भी रेलवे स्टेशन से दो या उससे अधिक रूप निकलते हैं। ऐसे स्टेशनों को जंक्शन कहा जाता है उदाहरण के लिए उत्तर प्रदेश का झांसी का रेलवे स्टेशन एक जंक्शन स्टेशन है। यहां से 4 रूट निकलते हैं। एक इलाहाबाद का रूट दूसरा कानपुर का रूट तीसरा दिल्ली का रूट और चौथा मुंबई का रूट। देश के सबसे प्रमुख जंक्शनओं में हावड़ा जंक्शन प्रयागराज प्रयागराज जंक्शन पटना जंक्शन दिल्ली जंक्शन इत्यादि है।

यह भी पढ़े – झांसी रेलवे स्टेशन का नया नाम क्या है? यूपी सरकार ने भेजा केंद्र को प्रस्ताव।

Leave a Reply

Your email address will not be published.