e-National Agriculture Market (eNAM) ई-नाम से किसानों की आय में होगी बृद्धि, ऐसे करें ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन

e-National Agriculture Market (eNAM):- 14 अप्रैल 2016 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने राष्ट्रीय कृषि बाजार को ई प्लेटफार्म पर लाने के लिए ई-नेशनल एग्रीकल्चर मार्केट (e-National Agriculture Market) इन नाम पोर्टल का शुभारंभ किया था। भारत सरकार लगातार किसानों की आय को बढ़ाने के लिए निरंतर प्रयास रत्न है। देश की सभी मंडियों को इस पोर्टल में जोड़ दिया गया है और इस पोर्टल में अभी तक 1.69 करोड़ से अधिक किसान और 1. 55 लाख व्यापारियों में अपना पंजीकरण करा लिया है। इनाम के जरिए किसानों को अपनी फसल का उचित मूल्य मिल सके इस लिए इस योजना को बनाया गया है।

e-National Agriculture Market (eNAM)

e-National Agriculture Market

यह भी पढ़े – मृदा स्‍वास्‍थ्‍य कार्ड योजना क्या है? मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना कब शुरू हुई?

e-National Agriculture Market (eNAM) से किसानों को मिलेगा उचित मूल्य

किसानों के द्वारा उगाई गई फसलों का उचित दाम किसानों को मिल सके। किसान बड़ी मेहनत करके अपने खेतों में फसलों की खेती करता है और कई महीनों बाद फसल तैयार होती है तैयार होने के बाद फसल को काटकर किसान मंडी ले जाता है और वहां पर उसे उसकी फसल का उचित दाम नहीं मिल पाता जिसकी वजह से किसान हताश हो जाते हैं इस समस्या को सुलझाने के लिए सरकार ने ई-नेशनल एग्रीकल्चर मार्केट को बनाया है जिससे बाजार और उत्पादक को उसका उचित मूल्य मिल सके।

e-National Agriculture Market (eNAM) का उद्देश्य

  • किसानों को उनकी फसलों का एक उचित मूल्य मिल सके इस वजह से एक राष्ट्रीय ई-नाम पोर्टल को बनाया गया है।
  • इस पोर्टल के जरिए व्यापारियों को हर राज्य के बाजारों में उनको लाइसेंस उपलब्ध कराना।
  • किसानों के द्वारा उपजी हुई फसलों की गुणवत्ता को एकरूपता देने और खरीदारों को उचित बोली लगाने के लिए एक गुणवत्ता परीक्षण का प्रावधान भी किया गया है।
  • बाजार फीस की केवल एक ही बार उगाही किसानों से पहले तक खरीद पर को सुनिश्चित करना।
  • इस पोर्टल में जुड़ी हुई मंडी में मृदा परीक्षण प्रयोगशाला का होना अति आवश्यक है ताकि किसान इस सुविधा का लाभ ले सके।
योजना का नामई-नेशनल एग्रीकल्चर मार्केट (e-NAM)
किसने शुरू कीप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी
योजना का उद्देश्यकिसानों को उनकी फसलों का एक उचित मूल्य मिल
कब शुरू की14 अप्रैल 2016
ऑफिसियल वेबसाइटhttps://enam.gov.in/web/

ई-नेशनल एग्रीकल्चर Market (eNAM) के मुख्य तथ्य

वर्ष 2021 में ई-नाम की पांचवी वर्षगांठ के शुभ अवसर पर 3 नई और सुविधाओं को जोड़ा गया है जो इस प्रकार है-

  • किसानों द्वारा इस पोर्टल पर मंडियों में बेचे जाने वाले फसलों की मूल्य की जानकारी आसानी से प्राप्त हो सकेगी।
  • किसान अपनी फसल का व्यापार अपने ही खेत से आसानी से कर सकते हैं।
  • ई-नाम पोर्टल के जरिए उन सभी किसानों को जो रजिस्टर हुए हैं मौसम से संबंधित जानकारी भी दी जाएगी।

e-National Agriculture Market (eNAM) की प्रगति

  • ई-नेशनल एग्रीकल्चर मार्केट के अनुसार 4 फरवरी 2021 तक 18 राज्यों और 3 केंद्र शासित प्रदेशों के 1000 बाजारों को ई-नाम पोर्टल से जोड़ दिया गया है।
  • ई-नेशनल एग्रीकल्चर मार्केट के इस पोर्टल पर अभी तक 1.69 करोड़ से अधिक किसानों ने अपना रजिस्ट्रेशन करा लिया है और 1.55 लाख व्यापारियों ने भी अपना पंजीकरण सफलतापूर्वक कर लिया है।

ई-नेशनल एग्रीकल्चर Market (eNAM) में रजिस्ट्रेशन के लिए आवश्यक दस्तावेज

  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • बैंक अकाउंट नंबर
  • निवास प्रमाण पत्र
  • बैंक पासबुक

e-National Agriculture Market (eNAM) रजिस्ट्रेशन ऑनलाइन

  • ई-नेशनल एग्रीकल्चर मार्केट पोर्टल में अपना रजिस्ट्रेशन कराने के लिए आपको कुछ स्टेप अपनाने होंगे जो कि आपको नीचे दिए गए हैं।
  • सबसे पहले आपको इसकी आधिकारिक वेबसाइट https://enam.gov.in/NAMV2/home/other_register.html पर जाना है
  • अब होम पेज पर आपको रजिस्ट्रेशन का विकल्प दिखाई देगा उस विकल्प पर क्लिक करना है।
  • अब आपको पंजीकरण करने के लिए यदि आपके साथ हैं तो किसान का चयन करें अथवा आप एपीएमसी का चयन करें।
  • पंजीकरण के लिए आपको अपनी ईमेल आईडी देनी होगी क्योंकि इस पर आपका यूजर आईडी और पासवर्ड प्राप्त होगा।
  • फोन पेज में पूछी गई सभी जानकारियों को सही से भरना है।
  • फॉर्म भरने के बाद आपको फॉर्म सबमिट करना है इस प्रकार आप का रजिस्ट्रेशन हो जाएगा।

यह भी पढ़े – Paramparagat Krishi Vikas Yojana : ऐसे करें परंपरागत कृषि विकास योजना में ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन

Leave a Reply

Your email address will not be published.