फल और सब्जियों के छिलके को करें इन 8 कामों में इस्तेमाल मिलेगा फायदे

यदि आप छिलकों सहित फलों, सब्जियों के प्रयोग की आदत डालें तो फल और सब्जियों के छिलके को करें इन 8 कामों में इस्तेमाल मिलेगा फायदे, आप उतने ही पैसों में पांच से सात गुणा अधिक शक्तिदायक तत्त्वों को शरीर के सुपुर्द कर सकते हैं। और यदि ऐसा करने की आदत नहीं है तो आप कुल सब्जी अथवा फल का एक बहुत बड़ा लाभ कूड़े में फेंक देते हैं। आज जब महंगाई चरम सीमा पर है। शरीर भांति-भांति के रोगों में घिरा है। रोगों से लड़ने के साधन कम हैं। जो हैं भी बहुत ही महंगे हैं। उपलब्ध भी नहीं हैं। तब तो आपको, गृहिणी को, सबको साग-सब्जी तथा फल की चीर-फाड़ करते समय बड़ी हमदर्दी के साथ पेश आना चाहिए। यह उस फल अथवा सब्जी पर नहीं, आपके अपने शरीर पर उपकार होगा।

फल और सब्जियों के छिलके को करें इन 8 कामों में इस्तेमाल मिलेगा फायदे

फल और सब्जियों के छिलके को करें इन 8 कामों में इस्तेमाल
Fruits and vegetables Peels

यह भी पढ़े – गुड़ का उपयोग कैसे होता है? गुड़ में कौन से पोषक तत्व पाए जाते हैं?

जानकारी फल और सब्जियों के छिलकों की

  1. फलों तथा सब्जियों के पोषक तत्त्व ठीक छिलकों की सतह के साथ जुड़े होते हैं। जितना छिलके से दूर निकलते जाते हैं, उतना ही इनके प्रतिशत की मात्रा भी सामान्य हो जाती है।
  2. छिलकों में प्रोटीन, खनिज, विटामिन निहित होते हैं जो छिलकों के फेंक देने से भी बरबाद हो जाते हैं।
  3. आलू को छीलना नहीं चाहिए। छिलकों समेत प्रयोग कर सकें तो बहुत अच्छा है। या फिर उबालकर छील देना चाहिए। अथवा, छिलका घरोड़ना चाहिए, छीलकर उतारना नहीं चाहिए। विटामिन सी तो आलू के छिलके के बिलकुल नीचे, पास ही, साथ ही होता है। मान लो आपने आलू का मोटा छिलका उतार दिया तो समझ लो इसकी एक-चौथाई शक्ति उतार फेंकी।
  4. पत्ता गोभी के बाहर के पत्ते, जिन्हें अक्सर उतारकर फेंक दिया जाता है, अपने साथ पौष्टिक तत्त्व लेकर चले जाते हैं।
  5. पत्ता गोभी या फूल गोभी के डंठलों में भी तो काफी तत्त्व होते हैं। रसोई में डंठलों को बेकार समझकर फेंकने की आदत बुरी है।
  6. फूल गोभी के पत्ते भी प्रयोग में लाने चाहिएं।
  7. कच्ची सब्जी खाने की आदत बहुत अच्छी है इन्हें छिलकों समेत चबाएं तथा सलाद में प्रयोग करें।
  8. यदि सूप बनाना हो तो भी सब्जियों को अच्छी प्रकार धोकर, छिलकों समेत काटें।
  9. टमाटर के छिलकों में गूदे से बीस गुणा विटामिन अधिक होते हैं।
  10. सलाद में चुकन्दर, मूली, गाजर, शलगम, पत्ता गोभी, फूल गोभी, प्याज सब खाएं जा सकते हैं। स्वास्थ्य के लिए ये सभी फायदेमन्द होते हैं।
  11. सेव भले ही अपने आपमें अचूक दवा है। इसे छीलकर, काटकर, खाने की आदत भी हो। मगर इसे छिलके समेत खाना ज्यादा लाभदायक है। इसके छिलके में, फल से भी 10 गुणा ज्यादा विटामिन सी पाया जाता है।
  12. पपीता छिलका समेत नहीं खाया जा सकता। इसे बिलकुल बारीक उतारें। इसे अपने हाथों और चेहरे पर रगड़कर आप अपनी सुन्दरता बढ़ा सकते हैं।
  13. यदि आपके हाथ, उंगलियां, पैर ठीक से साफ नहीं होते, तो इन पर पपीता, नींबू, संतरा आदि के छिलके रगड़ें मैल निकलेगी और खूब निखार आएगा।

फलों के छिलकों का उपयोग

नींबू, संतरा आदि के छिलके खाए नहीं जा सकते। मगर इनमें निहित गुणों का लाभ तो उठाया जा सकता है।

  1. संतरों के छिलके फेंके नहीं छाया में सुखाते रहें। इनका चूर्ण बना लें। 1 इस बारीक चूर्ण को बेसन में मिलाकर उबटन बना लें प्रतिदिन नहाने से पहले लगायें रंग निखार आएगा।
  2. संतरे के छिलकों के इस पाउडर में गुलाबजल, बादाम का तेल, चन्दन का बुरादा, मुलतानी मिट्टी मिलाकर, पेस्ट-सा बना लें। यह एक अच्छा फेस पैक होगा जिनका चेहरा खुश्क तथा सूखा रहता है। चमक घटती जा रही हो। वे 1 इसका प्रयोग करें। खूब लाभ होगा तथा त्वचा कोमल होने लगेगी।
  3. नींबू के छिलके पर थोड़ा नमक लगाकर अपने दांतों पर रगड़ें। दांत चमक उठेंगे।
  4. नींबू का छिलका फेंकें मत इससे हाथ, कुहनिया, गर्दन, चेहरा, नाखून, सब रगड़कर साफ किए जा सकते हैं।
  5. नींबू के छिलके सुखा लें। पीसकर बारीक कर लें। गुलाब के जल में मिलाकर रख लें। प्रयोग से पहले कुछ बूंदें कच्चे दूध की भी डालें। यह एक बहुत अच्छा और प्राकृतिक उबटन बन गया। चेहरे में निखार ला देगा।
  6. नींबू के छिलकों को एक जार में डाल दें। साथ-ही-साथ नमक भी डालें। कुछ ही दिनों में ये गल जाएंगे। अब इसमें जरूरत के अनुसार मिर्च, मसाला, चीनी, हींग, अजवायन आदि डाल दें। थोड़े ही दिनों में यह अचार तैयार हो जाएगा।
  7. खांसी से बचाव करने के लिए अनार के छिलके मुंह में रखकर धीरे-धीरे चूसें। खांसी पर नियन्त्रण हो जाएगा।
  8. यदि अतिसार और संग्रहणी से परेशान हों तो अनार के छिलकों को पानी में घिसकर पी लेना चाहिए। लाभ होता है।

ऊपर दिए वृतांत को यदि ध्यान से पढ़ लें और इसे अपने जीवन में अपना लें तो हम बेकार किए जाने वाले छिलकों का भरपूर लाभ उठा, स्वस्थ, निरोग रह सकते हैं। हमारे शरीर की ऊर्जा बढ़ेगी। कम खर्च करने पर भी हम अधिक सुन्दर, शक्तिवान तथा स्वस्थ रह सकेंगे।

यह भी पढ़े – सुंदरता को बनाए रखने के आसान तरीके, ये है सुंदर बनने के घरेलू उपाय

अस्वीकरण – यहां पर दी गई जानकारी एक सामान्य जानकारी है। यहां पर दी गई जानकारी से चिकित्सा कि राय बिल्कुल नहीं दी जाती। यदि आपको कोई भी बीमारी या समस्या है तो आपको डॉक्टर या विशेषज्ञ से परामर्श लेना चाहिए। Candefine.com के द्वारा दी गई जानकारी किसी भी जिम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Follow us on Google News:

Mamta Jain

मैं ममता जैन मीडिया क्षेत्र में मैं तीन साल से जुड़ी हुई हूं। मुझे लिखना काफी पसन्द है और अब मैने यही मेरा प्रोफेशन बना लिया है। मैं जर्नलिज्म एंड मास कम्युनिकेशन में ग्रेजुएट हूं। हेल्थ, स्वास्थ्य, मनोरंजन, सरकारी योजना, क्रिकेट, न्यूज़ और ब्यूटी पर लिखने में मेरा स्पेशलाइजेशन है। हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी जानकारी जानने के लिए मुझे फॉलो करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *