गर्भपात के बाद क्या सावधानी बरतनी चाहिए, मिसकैरेज के बाद बरतें ये सावधानी

मिसकैरेज के बाद महिलाओं को कई समस्या का सामना करना पड़ सकता है इसलिए गर्भपात के बाद क्या सावधानी बरतनी चाहिए यह जानना बहुत ही आवश्यक है। गर्भपात होने के बाद महिला की मानसिक और शारीरिक स्थिति काफी नाजुक होती है। मिसकैरेज होने के बाद महिला के शरीर में असहनीय दर्द होता है और इस दौरान महिलाओं के शरीर में कई प्रकार के बदलाव हो सकते हैं। मिसकैरेज होने के बाद महिलाओं को लगभग 7 दिन तक आराम करना बहुत ही आवश्यक होता है और डॉक्टर के द्वारा दी गई सलाह का अवश्य पालन करें।

गर्भपात के बाद क्या सावधानी बरतनी चाहिए

गर्भपात के बाद क्या सावधानी बरतनी चाहिए

यह भी पढ़े गर्भावस्था के दौरान रहें मधुमेह से सावधान? मधुमेह के कई दुष्प्रभाव है?

गर्भपात के बाद ध्यान रखने योग्य बातें

मिसकैरेज होने के बाद महिला को मानसिक व शारीरिक पीड़ा का सामना करना पड़ता है और इस दौरान उसके शरीर में कुछ बदलाव भी आ सकते हैं यदि गर्भपात अधूरा हुआ है तो महिला को और भी ज्यादा परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है या फिर किसी भी प्रकार का संक्रमण का खतरा बना रहता है तो आपको डॉक्टर की सलाह बहुत ही जरूरी होती है।

1. हेवी ब्लीडिंग

जब किसी महिला का गर्भपात होता है तो इस स्थिति में महिला को एक से डेढ़ हफ्ते हेवी ब्लीडिंग होती है इसके बाद बिल्डिंग धीरे-धीरे होती है। ब्लीडिंग के दौरान महिला के शरीर में काफी दर्द होता है। बिल्डिंग अधिक हो जाने की वजह से महिला के शरीर में कमजोरी आ जाते हैं। इस दौरान महिलाओं को चक्कर भी आ सकते हैं। इस दौरान यदि आप से कोई भारी चुप हो जाती है तो आपको डॉक्टर की सलाह अवश्य लेनी चाहिए।

2. मिसकैरेज के बाद पेट में दर्द

मिसकैरेज कराने के बाद महिलाओं को काफी दर्द का सामना करना पड़ता है क्योंकि गर्भाशय का आकार पहले से कहीं ज्यादा बढ़ जाता है और वह सामान्य स्थिति में आने तक महिलाओं को दर्द का सामना करना पड़ सकता है। महिलाओं को माहवारी मैं होने वाले दर्द से भी शारदा दर्द गर्भपात के बाद हो सकता है। ऐसी स्थिति में गर्म तरल पदार्थों का सेवन करना चाहिए और पेट के ऊपर गर्व थैली आप को काफी फायदा पहुंचा सकती हैं। और यदि आप से सावधानी बरतने में कोई चूक हुई है तो आपको डॉक्टर का परामर्श अवश्य लेना चाहिए।

3. गर्भपात के बाद संक्रमण का खतरा

गर्भपात होने के बाद महिलाओं के गर्भाशय की ग्रीवा आंशिक रूप से खुली हो सकती है। जिसकी वजह से आपको यूरिन के मार्ग पर संक्रमण का खतरा होने की अधिक संभावनाएं बढ़ जाती हैं यदि आप सार्वजनिक शौचालय, सार्वजनिक सुमिंग पुल और बाथ टब का इस्तेमाल करते हैं तो संक्रमण होने की संभावनाएं अधिक हो जाती हैं। यदि आपको संक्रमण जैसी संभावनाएं महसूस हो रही है तो आपको तुरंत डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए।

4. गर्भपात के बाद गर्भ की सफाई

गर्भपात के दौरान यदि गर्व की अच्छे से सफाई नहीं की जाती है तो महिलाओं को कई समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। जिन महिलाओं ने एबॉर्शन करवाया है या फिर दवाई से गर्भपात किया गया है तो इस बात का ध्यान अवश्य रखना चाहिए कि महिलाओं के गर्भ की सफाई अच्छे से हो जानी चाहिए नहीं तो उन्हें दोबारा गर्भपात करवाना पड़ सकता है।

5. हैवी वर्क से बचें

मिसकैरेज होने के बाद महिलाओं के शरीर में काफी बदलाव होता है और उनका शरीर काफी कमजोर हो जाता है ऐसे में यदि महिलाएं हेवी वर्क आउट करती हैं तो उनको काफी नुकसान हो सकता है। महिलाओं को गर्भपात के बाद भारी सामान उठाने से बचना चाहिए। अधिक दौड़ भाग ना करें और सीडीओ का अधिक प्रयोग ना करें यदि आप ऐसा करते हैं तो आपके शरीर को काफी कष्ट झेलना पड़ सकता है।

6. मिसकैरेज के तुरंत बाद गर्भधारण ना करें

मिसकैरेज होने के बाद महिलाओं के शरीर में काफी बदलाव आते हैं जिससे उनका शरीर काफी कमजोर हो जाता है। इस स्थिति में महिलाओं की मानसिक व शारीरिक स्थिति अच्छी नहीं होती इसलिए गर्भपात होने के तुरंत बाद गर्भ धारण करना महिलाओं के शरीर और स्वास्थ्य के लिए अच्छा नहीं होता। यदि आप का गर्भपात हुआ है तो आपको तुरंत गर्भ धारण करने से बचना चाहिए और सावधानी बरतनी चाहिए।

7. मेडिकल चेकअप ना छोड़े

मिसकैरेज होने के बाद डॉक्टर महिलाओं को रूटीन चेकअप के लिए एक निर्धारित दिन बताते हैं जिन महिलाओं का गर्भपात होता है उन महिलाओं को उस तारीख पर जाकर अपना मेडिकल चेक अप अवश्य कराना चाहिए क्योंकि मिसकैरेज होने के बाद महिलाओं के शरीर में काफी बदलाव आते हैं ऐसे में यदि आप अपना रूटीन चेकअप नहीं कराते हैं तो आपको कई समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है।

यह भी पढ़े – गर्भावस्था के दौरान कौन-कौन सी सावधानियां बरतनी चाहिए? गर्भावस्था में रहें सावधान।

अस्वीकरण – यहां पर दी गई जानकारी एक सामान्य जानकारी है। यहां पर दी गई जानकारी से चिकित्सा कि राय बिल्कुल नहीं दी जाती। यदि आपको कोई भी बीमारी या समस्या है तो आपको डॉक्टर या विशेषज्ञ से परामर्श लेना चाहिए। Candefine.com के द्वारा दी गई जानकारी किसी भी जिम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Follow us on Google News:

Mamta Jain

मैं ममता जैन मीडिया क्षेत्र में मैं तीन साल से जुड़ी हुई हूं। मुझे लिखना काफी पसन्द है और अब मैने यही मेरा प्रोफेशन बना लिया है। मैं जर्नलिज्म एंड मास कम्युनिकेशन में ग्रेजुएट हूं। हेल्थ, स्वास्थ्य, मनोरंजन, सरकारी योजना, क्रिकेट, न्यूज़ और ब्यूटी पर लिखने में मेरा स्पेशलाइजेशन है। हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी जानकारी जानने के लिए मुझे फॉलो करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *