स्वस्थ रहने के लिए अच्छी आदतें? अपने जीवन में अपनाएं अच्छी आदतें?

स्वस्थ रहने के लिए अच्छी आदतें

स्वस्थ रहने के लिए अच्छी आदतें:- आज की इस व्यस्त व आपाधापी भरी जिंदगी में प्राय: अधिकांश लोग तनावग्रस्त हो जाते हैं। कारण, एक कार्य-दिवस में आप जिस कार्यसूची पर अमल करना चाहते हैं। उसके लिए भी आपको समय की कमी अखरती है, पर इस समस्या का आप अपनी कार्यक्षमता बढ़ाकर सामाधान कर सकते हैं।

स्वस्थ रहने के लिए अच्छी आदतें?

स्वस्थ रहने के लिए अच्छी आदतें
स्वस्थ रहने के लिए अच्छी आदतें

स्वस्थ रहने के लिए अच्छी आदतें?

याद रखें आपकी कार्यक्षमता व ऊर्जा स्वास्थ्यकर पोषक तत्वों, खान-पान और व्यायाम की स्वास्थ्यकर आदतों पर काफी हद तक निर्भर करती है। यदि आप इन स्वास्थ्यकर प्रवृत्तियों को अपनी दिनचर्या में स्थान देते हैं, तो इससे जहां आप तनाव का सफलतापूर्वक सामना कर सकते हैं, वहीं दिनभर आप जोश व ऊर्जा से भरे भी रह सकते हैं।

पानी की उपयोगिता समझें

शायद आप इस तथ्य से वाकिफ न हों कि पानी आपकी प्यास ही नहीं बुझाता बल्कि यह आपकी त्वचा और पाचन तंत्र के लिए भी बेहद उपयोगी है। पानी शरीर में रक्त संचार की प्रक्रिया को भी सुचारु रूप से संचालित करता है।

यही नहीं, यह वजन कम करने की प्रक्रिया में भी सहायक है। जब कभी दिन में आप थका हुआ महसूस करते हैं, तो इसका एक प्रमुख कारण पर्याप्त मात्रा में पानी न पीना है। इसलिए दिन में प्रायः हर एक घंटे पर पानी पियें।

पानी से भगाएँ सिरदर्द

सिरदर्द की शिकायत अक्सर होती ही है। इस शिकायत के कई कारण हो सकते हैं। जैसे लगातार चिंता करने व तनावग्रस्त स्थितियों में रहने से भी सिरदर्द होने लगता है। कभी-कभी नींद पूरी न होने और उदर संबंधी शिकायतों के कारण भी सिरदर्द होने लगता है, पर हाल में हुए एक चिकित्सकीय अध्ययन से पता चला है।

यदि आप जल का सेवन प्रचुर मात्रा में करते रहें, तो सिरदर्द की शिकायत को काफी हद तक काबू में लाया जा सकता है। ऐसा इसिलए, क्योंकि पानी से शरीर में एकत्र हानिकारण तत्व पेशाब के रास्ते बाहर निकल जाते हैं।

यदि आप हर मौसम में कम से कम 8-10 गिलास पानी पीते रहें, तो सिरदर्द के साथसाथ अन्य सामान्य शारीरिक शिकायतों से भी छुटकारा पा सकते हैं, पर सिरदर्द की स्थिति में पानी कुछ ज्यादा ही मात्रा में पीना चाहिए। पानी के महत्व को आप ऐसे समझ सकते हैं कि हमारे शरीर में 70 फीसदी भाग जल का हो है।

काफी, चाय से बचें

काफी, चाय सोडा और सॉफ्ट ड्रिंक्स आदि पेय पदार्थों का अधिक मात्रा में सेवन करना सेहत के लिए नुकसानदेह है। वस्तुतः केफीन व शुगर आपके शरीर में पानी की मात्रा कम करते हैं। ये पेय पदार्थ आपके शरीर के ऊर्जा स्तर को असंतुलित कर देते हैं।

इसी तरह शीतल पेय पदार्थों से परहेज करना भी आपकी सेहत के लिए फायदेमंद है। इन पेय पदार्थों में शुगर प्रचुर मात्रा में पायी जाती है, जो सेहत के लिए नुकसानदेह है।

हरी सब्जियों और फलों का महत्व

खान-पान में फास्टफूड बेकरी उत्पादों, आईसक्रीम और बेहद तले-भुने खाद्य पदार्थों को स्थान न दें। इनके स्थान पर मौसमी फलों और हरी सब्जियों को स्थान दें। मौसमी फलों व हरी सब्जियों में विटामिनों और खनिज लवणों की प्रचुरता होती है।

यहीं नहीं, फलों व सब्जियों में शुगर व वसा अपेक्षाकृत कम मात्रा में पायी जाती है। इसलिए जो शख्स अपना वजन संतुलित रखना चाहते हैं, उन्हें फलों व सब्जियों का अपने आहार में प्रचुर मात्र में सेवन करना चाहिए।

व्यायाम है बहुत जरुरी

अपनी जीवन शैली में व्यायाम को स्थान देकर चुस्त-दुरुस्त बने रह सकते हैं व्यायाम से आपके शरीर के बाहरी व आंतरिक अंग पुष्ट होते हैं। शरीर की अतिरिक्त केलोरी खर्च होती है।

एक अध्ययन के अनुसार एक वयस्क व्यक्ति को प्रति सप्ताह कम से कम तीन बार 30 मिनट तक व्यायाम जरूर करना चाहिए। यह जरूरी नहीं कि आप इसी सलाह पर अमल करें। बेहतर यही रहेगा कि आप अपनी सुविधा के अनुसार घर पर 10-15 मिनट का समय व्यायाम में लगायें।

टहलने की आदत डालें

अपनी दिनचर्या में कम से कम 20 मिनट का समय टहलने के लिए निकालें। वैसे तेज कदमों से टहलना एक अच्छा व्यायाम है। आप पत्नी या बच्चों के साथ भी कुछ दूरी तक टहल सकते हैं। यदि रोज न टहल सकें, तो सप्ताह में दो बार जरूर टहलें।

पर्याप्त नींद लें

सेहत के लिए पर्याप्त नींद लेना जरूरी है। पर्याप्त नींद न लेने के कारण आपके शरीर में ऊर्जा का स्तर गिरता है। नतीजतन अगले दिन आपकी कार्यक्षमता कम हो जाती है और आप स्वयं को थका हुआ महसूस करते हैं। विशेषज्ञों के अनुसार एक स्वस्थ वयस्क व्यक्ति के लिए 6 से 8 घंटे की नींद पर्याप्त है।

यह भी पढ़े –

Leave a comment

Your email address will not be published.