Hello शब्द का मतलब क्या है? हेलो का हिंदी अर्थ क्या होता है?

Hello शब्द का मतलब क्या है:- आजकल के दौर में हर कोई फोन इस्तेमाल करता है जब भी हम किसी को कॉल करते हैं या हम जब भी कोई कॉल रिसीव करते हैं तो सबसे पहले बोला जाने वाला शब्द हेलो होता है। इस हेलो का क्या मतलब होता है क्यों बोला जाता है। और हेलो शब्द भारत में कहां से आया।

Hello शब्द का मतलब क्या है

hello-shabd-ka-matlab-kya-hai

कई लोगों के मन में आज भी यह सवाल अक्सर आते हैं कि आखिर अंग्रेजी का यह शब्द हेलो का हिंदी में क्या मतलब होता है। आइए आपको विस्तार से बताते हैं की हेलो का मतलब हिंदी में क्या होता है। हेलो शब्द का प्रयोग क्यों किया जाता है और हेलो शब्द की उत्पत्ति कहां से हुई है और कैसे हुई है।

भारत ही एक ऐसा देश है जहां पर हेलो का मतलब हिंदी में भी लिखा जाता है। आइए सबसे पहले हम यह जानते हैं कि हिंदी में हेलो का मतलब क्या होता है। भारत में हेलो का हिंदी में मतलब है नमस्ते, नमस्कार, सलाम । हेलो शब्द अंग्रेजी के हेल शब्द से बना है जिसका अर्थ है – नरक

हेलो शब्द कहां से बना और कैसे बना। इसकी उत्पत्ति कैसे हुई?

हेलो एक अंग्रेजी शब्द है। जोकि ब्रिटिश राज के समय बन गया था। शुरुआत में जब ब्रिटिश की हुकूमत चल रही थी। तब भारत के साथ कई अन्य देशों में अंग्रेजों ने कब्जा किया हुआ था और उन देशों से वह अपनी सरकार चलाते थे और उन पर राज करते थे। अंग्रेजों ने सभी देशों को अपना गुलाम बना कर रखा था और उन पर राज करते थे। अंग्रेजों का यह मानना था कि वह गोरे साफ-सुथरे और अच्छे लोग हैं। इसलिए हम राजा हैं और हमारे लिए स्वर्ग है और जिस देश में वो राज करते थे। उस देश के लोगों को वह गंदा मानते थे और ईश्वर ने गंदे की जगह नरक Hell जगह बनाई है।

अंग्रेजों को जब अपना काम करवाने के लिए लोगों को बुलाना पड़ता था। लेकिन उनका नाम लेना अंग्रेज अपने शान के खिलाफ समझते थे। तब अंग्रेजों ने लोगों को नाम के बदले हेलो नाम से पुकारना शुरू कर दिया। उस समय अंग्रेजी भाषा अंग्रेज के अलावा कोई नहीं समझ पाता था। इसलिए उस देश के लोग हेलो का मतलब नहीं समझ पाए और वह यह भी नहीं जानते थे की अंग्रेज उन्हें गाली देकर पुकार रहे हैं। तब से लेकर आज तक भारत में हेलो शब्द प्रसिद्ध हो गया और तब से आज तक इस शब्द का प्रयोग भी होता आ रहा है।

आज कल की दुनिया में हर कोई हेल का मतलब अच्छी तरह समझता है। लेकिन फिर भी किसी से मिलते समय या किसी को फोन पर बात करने से पहले या अपने दोस्त और सगे संबंधियों को वह नरक वासी कहकर पुकारते हैं और सुनने वाला भी हेलो का मतलब जानते हुए भी बहुत खुशी से उस उन्हें मुस्कुरा कर जवाब देता है।

सबसे महत्वपूर्ण बात तो यह है कि अंग्रेजों ने हमें यह शब्द हेलो तो दे दिया लेकिन वह खुद इस शब्द का प्रयोग बिल्कुल नहीं करते। अंग्रेज लोग दूसरों को भुलाने के लिए और दूसरों से बात करने के लिए हाय शब्द का प्रयोग करते हैं।

आप लोगों ने यह गौर किया होगा कि जब भी आप किसी विदेशी व्यक्ति या विदेशी कंपनी से बात करते हैं या उनका कोई मैसेज आता है या कोई मेल आता है तो उसमें सबसे ऊपर हेलो नहीं लिखा होता बल्कि हेलो की जगह वहां हाय लिखा होता है।

भारत की संस्कृति और सभ्यता बाकी के देशों से सबसे अच्छी है। भारतीय संस्कृति में दूसरे व्यक्ति का अपमान करना वर्जित माना गया है। भारत की राष्ट्रभाषा हिंदी है और इसमें कई अच्छे शब्द हैं जिसमें जिससे हम किसी भी व्यक्ति को आदर पूर्वक पुकार सकते हैं जैसे प्रणाम, नमस्कार, नमस्ते आदि। जरूरत तो बस इतनी सी है कि हर व्यक्ति को अपने आप में एस हेलो बोलने की आदत को बदल कर हिंदी का मान सम्मान देने वाला शब्द इस्तेमाल करना चाहिए।

यह भी पढ़े – फोन उठाने के बाद हेलो क्यों बोलते हैं? हेलो का मतलब क्या होता है?

Leave a Comment