झांसी रेलवे स्टेशन का नया नाम क्या है? केंद्र ने यूपी सरकार का प्रस्ताव किया मंजूर।

झांसी रेलवे स्टेशन का नया नाम क्या है :- उत्तर प्रदेश सरकार ने गृह मंत्रालय को झांसी रेलवे स्टेशन का नया नाम “वीरांगना लक्ष्मीबाई” रखने का प्रस्ताव केंद्र सरकार के गृह मंत्रालय को भेजा था। 29 दिसंबर 2021, बुधवार के दिन गृह मंत्रालय ने यूपी सरकार के इस प्रस्ताव को पास कर दिया है। अब झांसी रेलवे स्टेशन का नया नाम “वीरांगना लक्ष्मीबाई” रेलवे स्टेशन कर दिया है। अब झांसी रेलवे स्टेशन का नाम “वीरांगना लक्ष्मीबाई” के नाम से जाना जाएगा। है यूपी सरकार झांसी रेलवे स्टेशन का नाम महारानी लक्ष्मी बाई के नाम पर रखना चाहते हैं क्योंकि 1857 में अंग्रेजो के खिलाफ जो क्रांति शुरू हुई थी उसमें रानी लक्ष्मीबाई का अहम योगदान था।

झांसी रेलवे स्टेशन का नया नाम क्या है

झांसी रेलवे स्टेशन का नया नाम क्या
रेलवे स्टेशन का पुराना नामरेलवे स्टेशन का नया नाम
झांसी रेलवे स्टेशनवीरांगना लक्ष्मीबाई रेलवे स्टेशन

हम लोग तो यह बात भली-भांति जानते हैं कि हमारे देश को आजाद कराने के लिए हजारों लोगों ने बलिदान दिया। भारत को आजाद कराने के लिए सबसे पहले 1857 में क्रांति आरंभ हुई थी। अंग्रेजों को भारत से भगाने के लिए महारानी लक्ष्मीबाई ने जंग छिड़ी थी। झाँसी रेलवे स्टेशन का नया नाम क्या होगा?

इसी वजह से यूपी सरकार झांसी रेलवे स्टेशन का नाम बदलकर “वीरांगना लक्ष्मीबाई” कर दिया और इसका प्रस्ताव केंद्र सरकार के गृह मंत्रालय को भेजा था और गृह मंत्रालय के अनुसार इस प्रस्ताव को निर्धारित करने के लिए इससे संबंधित सभी एजेंसियों से इसके बारे में टिप्पणी मांगी थी।

यह भी पढ़े – पीएम किसान योजना का पैसा कैसे चेक करें? जाने इसका स्टेप्स क्या है?

इन एजेंसियों की टिप्पणी और राय के अनुसार ही गृह मंत्रालय ने कदम उठाया है। यूपी में नाम बदलने का कल्चर तो लंबे समय से चलता आ रहा है। इससे पहले यूपी में मुगलसराय रेलवे स्टेशन का नाम बदला गया था उस रेलवे स्टेशन का नाम बदलकर पंडित दीनदयाल उपाध्याय रेलवे स्टेशन कर दिया गया था।

इसके बाद इलाहाबाद शहर का नाम बदला गया था और इस शहर का नाम बदलकर प्रयागराज कर दिया गया था फिरोजाबाद शहर का नाम भी बदल दिया गया था और इस शहर का नाम बदलकर अयोध्या कर दिया गया था। शहरों के नाम और रेलवे स्टेशन के नाम बदलने की प्रक्रिया थोड़ी लंबी है नाम बदलने में सरकार को काफी पैसा खर्चा करना पड़ता है।

यह भी पढ़े –

Leave a Comment