जुकाम छींक और नाक बहने का सरल इलाज बस अपनाये ये घरेलू उपाय

जुकाम छींक और नाक बहने का सरल इलाज बस अपनाये ये घरेलू उपाय, कहने को तो नाक का बहना, नाक से पानी चलना, जुकाम होना या छींकें लगना कोई बड़े रोग नहीं मगर यदि लापरवाही करेंगे तो ये बिगड़कर बड़ी समस्या बन सकते हैं। अतः इनका उपचार जरूरी है। घरेलू प्रयोगों से आप इन्हें ठीक कर सकते हैं।

जुकाम छींक और नाक बहने का सरल इलाज

जुकाम छींक और नाक बहने का सरल इलाज

यह भी पढ़े – पेट में गैस बनने की समस्या यानी अफारा के 14 घरेलू उपाय, चुटकी में दूर करें पेट की गैस

जुकाम छींक और नाक बहने का सरल इलाज

  • इनका कारण हो सकते हैं धुआं, धूल, गर्द, नापसंद गन्ध, मौसम में तब्दीली, कुछ भोज्य पदार्थ भी। यह एलर्जी ही तो है।
  • जो एंटी अलर्जिक दवाओं पर आ जाते हैं उनको स्थायी लाभ नहीं होता।
  • रोग का जो भी कारण हो, उस कारण को निकाल फेंकें।
  • प्रातः पानी में नींबू मिलाकर पीना, रोग को शांत भी करता है तथा प्रतिरक्षा क्षमता बढ़ाता है।
  • अधिक तेल-घी युक्त पदार्थ, डीप फ्राई भोजन, अधिक मसाले, मिर्च अपने भोजन से निकाल दें।
  • ऐसे में दही सेवन भी ठीक नहीं। ठंडे पदार्थ खाना तथा ठंडे पेय पीना भी रोग बढ़ाते हैं। इनसे बचें।
  • ऐसी अवस्था में आलू, दूध आदि का प्रयोग कम करना होगा।
  • धूम्रपान या किसी भी रूप में तम्बाकू का सेवन बन्द करें।
  • मौसमी फलों का सेवन, जिनमें संतरा, मौसमी आदि ठीक रहते हैं।
  • गाजर का सेवन, गाजर का रस, रोग कम करेंगे।
  • टमाटर, पुदीना आदि भी इस रोग को ठीक करने में मदद करेंगे।
  • आम, अमरूद, अंगूर, सेब खाना अच्छा रहेगा। रोग ख़त्म होगा।
  • गुनगुना पानी एक-दो चम्मच लें। इसमें चुटकी भर नमक डालें। इसे अपने दोनों नथुनों में चढ़ाएं। आराम पाएंगे।
  • गुनगुने पानी में नमक डालकर नियमित गरारे करने से यह रोग शांत हो जाता है। कफ का प्रभाव ख़त्म होता है। गला ठीक हो जाता है। आराम मिलता है।
  • कब्ज़ नहीं होगी तो यह रोग भी नहीं रहेगा। हरी पत्तेदार सब्ज़ियां खाना कब्ज़ भी दूर करता है तथा अन्य रोग भी शांत करता है।
  • नाक बहना, जुकाम रहना, छींके आना, इन सबको ठीक करने के लिए चने के आटे की रोटी बहुत उपयोगी रहती है। इसे देसी घी के साथ खाना बेहतर रहेगा।
  • चने को अंकुरित करके खाना अधिक लाभकर रहता है।
  • भुने गर्म चनों की भाप या नाक को टकोर बहुत फायदा देती है। भुने गर्म चने या जैसे भी हों, खाने से भी लाभ मिलता है।
  • सरसों के तेल को नाक में लगाने से भी काफी आराम मिलता है। न तो ये रोग पेचीदा हैं, न ही इनके उपचार। मगर यदि रोगों को बढ़ने देंगे, लापरवाही करेंगे तो ये बिगड़कर समस्या बन सकते हैं। परेशान कर सकते हैं। बचाव करेंगे तो ठीक रहेंगे।

यह भी पढ़े – पेट के कीड़ों से छुटकारा पाने के घरेलू उपाय

अस्वीकरण – यहां पर दी गई जानकारी एक सामान्य जानकारी है। यहां पर दी गई जानकारी से चिकित्सा कि राय बिल्कुल नहीं दी जाती। यदि आपको कोई भी बीमारी या समस्या है तो आपको डॉक्टर या विशेषज्ञ से परामर्श लेना चाहिए। Candefine.com के द्वारा दी गई जानकारी किसी भी जिम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Subscribe with Google News:

Leave a Comment