कड़कनाथ मुर्गा पालन कैसे करें? कड़कनाथ मुर्गे की खेती कैसे शुरू करें?

कड़कनाथ मुर्गा पालन कैसे करें यह जानना बहुत ही जरूरी है क्योंकि कड़कनाथ मुर्गे की डिमांड दिन प्रतिदिन मार्केट में बढ़ती जा रही है कड़कनाथ मुर्गी को खाने से होने वाले फायदे जानने के बाद इसको खाना ज्यादा पसंद कर रहे हैं। यह दिल और डायबिटीज के मरीजों के लिए बहुत ही फायदेमंद है। कड़कनाथ मुर्गे (Kadaknath Murgi Palan) में वसा बहुत कम मात्रा में होता है इससे शरीर में कोलेस्ट्रॉल लेवल नहीं बढ़ता।

कड़कनाथ मुर्गा पालन कैसे करें

कड़कनाथ मुर्गा पालन कैसे करें

यह भी पढ़े – काले गेहूं की खेती कैसे करें? काले गेहूं का बीज कहां से प्राप्त करें?

कड़कनाथ मुर्गे की कीमत क्या है

आज के समय में कड़कनाथ मुर्गा बाजार में ₹1500 से लेकर ₹1800 किलो तक बिक रहा है। इसलिए कई लोगों ने तो इसे अपना व्यवसाय भी बना लिया है और इसके पालन के तरीकों के बारे में भी अच्छे से जानकारी ले ली है यदि आप भी कड़कनाथ मुर्गे का पालन करना चाहते हैं तो उससे संबंधित जानकारी आपको नीचे दी गई है।

कड़कनाथ मुर्गे की विशेषता (Quality of Kadaknath Chicken)

इसकी प्रमुख विशेषता यह है कि यह देखने में काले रंग का होता है इसका मांस और खून भी काले रंग का होता है। यह खाने में अन्य देसी मुर्गों की अपेक्षा थोड़ा अलग स्वाद का होता है। इसमें वसा बहुत कम मात्रा में मौजूद होता है और इससे हृदय और डायबिटीज के मरीज भी आसानी से पा सकते हैं। इसके अंडे का रंग सुनहरे रंग का होता है।

कड़कनाथ मुर्गे का जन्म

इसका जन्म मध्यप्रदेश से हुआ। यह मध्य प्रदेश के एक छोटे से जिले झाबुआ में कट्ठीवाड़ा और अलीराजपुर के जंगलों में कड़कनाथ मुर्गे की उत्पत्ति हुई। इस मुर्गे की प्रजाति को जी आई टैग भी मिल चुका है। जी आई टैग देने का मतलब यह होता है कि इस कड़कनाथ मुर्गे के जैसा और कोई मुर्गा नहीं है।

यह भी पढ़े – काला गेहूं खाने के फायदे? काले गेहूं की रोटी खाने के फायदे?

कड़कनाथ मुर्गा पालन कैसे करें

देसी मुर्गे की तरह ही कड़कनाथ मुर्गे का पालन किया जाता है। इसके पालन में ज्यादा खर्च भी नहीं करना पड़ता यह हरा चारा, बाजरा, अनाज खाकर भी बड़ी तेजी से बड़े हो जाते हैं। यदि आप कड़कनाथ मुर्गे की खेती करने के इच्छुक हैं तो आप अपने जिले में कृषि विज्ञान केंद्र में जाकर संपर्क कर सकते हैं और आप कम से कम 40 चीजों से अपनी खेती शुरू कर सकते हैं।

कड़कनाथ मुर्गा पालन कैसे करें

कड़कनाथ मुर्गे की खेती 2 तरह से की जा सकती है।

  1. खुले पोल्ट्री फार्म बनाकर
  2. बन्द पोल्ट्री फार्म बनाकर

खुले पोल्ट्री फार्म बनाकर

इस प्रकार की खेती करने के लिए आपको कड़कनाथ मुर्गे के पालन के लिए आप को खुले में जगह बनानी होगी उसको चारों तरफ से आपको ढेर कर कवर करना होगा जिसके अंदर आपके मुर्गे आसानी से पल सके और उसमें बाहरी जानवर ना प्रवेश कर सकें। कुत्ते और बिल्लियों से आपको अपनी मुर्गों की सुरक्षा करने के उपाय करने होंगे।

बन्द पोल्ट्री फार्म बनाकर

यदि आपका बजट अच्छा है तो आप अपने कड़कनाथ मुर्गा पालन के लिए बंद पोल्ट्री फॉर्म बना सकते हैं चारों तरफ से गिर जाने के बाद आपके मुर्गे सुरक्षित रहेंगे।

कड़कनाथ मुर्गा पालन में ध्यान रखने योग्य बातें

व्यवसाय पहली बार शुरू करने वालों को कुछ बातों का ध्यान रखना आवश्यक है क्योंकि थोड़ी सी भी गलती हो जाने पर आपको मुर्गी पालन में नुकसान हो सकता है।

  • मुर्गा पालन की जगह शहर या फिर गांव से थोड़ी दूर पर रखें।
  • इसके पालन करने से पहले आपको कृषि विज्ञान केंद्र या फिर अपने नजदीकी पोल्ट्री फॉर्म में ट्रेनिंग अवश्य लें।
  • मुर्गा पालन के लिए आप स्वस्थ चीजों का ही चयन करें।
  • पोल्ट्री फॉर्म को बनाते समय इस बात का ध्यान रखना होगा कि वहां पर पानी का जमाव ना हो।
  • फार्म में रोशनी की उचित व्यवस्था होनी चाहिए।
  • फार्म में पानी की व्यवस्था होनी आवश्यक है।

कड़कनाथ मुर्गा पालन में सरकारी मदद

मध्य प्रदेश सरकार के द्वारा कड़कनाथ मुर्गा पालन योजना चलाई जा रही है इस योजना के तहत आपको 40 चीजों को पालने के लिए ₹4400 की धनराशि मध्य प्रदेश सरकार के द्वारा प्रदान की जाएगी। आपकी आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं है तो आप इस योजना का लाभ लेने के लिए जिले में पशु चिकित्सा अधिकारी या कृषि विज्ञान केंद्र में जाकर इसका लाभ ले सकते हैं।

भारत सरकार के द्वारा नाबार्ड के पोल्ट्री वेंचर कैपिटल फंड (PVCF) योजना चलाई जा रही है। मुर्गा पालन करने के लिए सरकार आपको लोन और सब्सिडी भी प्रदान कर रही है। इसका लाभ सामान्य वर्ग के लोगों को 25% सब्सिडी के रूप में मिलता है और वही sc-st वर्ग के लोगों को 33% सब्सिडी प्रदान की जाती हैं।

कड़कनाथ मुर्गा पालन में मुनाफा

कड़कनाथ मुर्गा पालन कैसे करें

यह एक अलग प्रजाति का मुर्गा होता है जिस के रखरखाव में बॉयलर मुर्गे और देसी मुर्गे की तुलना में कम खर्च आता है। कड़कनाथ मुर्गे की चीजें की कीमत 70 से ₹80 होती है। इनके चीजों को खरीद कर आप आसानी से इसकी खेती कर सकते हैं और जब यह मुर्गा बड़ा हो जाता है तो इस मुर्गे की कीमत 1500 से लेकर 1800 हो जाती है और यह बाजार में आसानी से बिक भी जाता है।

यदि आप कड़कनाथ मुर्गी का पालन करते हैं तो इससे भी मुनाफा कमाया जा सकता है मुर्गियों से प्राप्त होने वाले अंडे को आप बाजार में बेचकर काफी अच्छा मुनाफा कमा सकते हैं क्योंकि कड़कनाथ मुर्गी के अंडे की कीमत ₹20 से लेकर ₹30 तक बाजार में आसानी से मिल जाती है। यह सामान्य व देसी अंडे की तुलना में कहीं ज्यादा महंगा बिकता है।

कड़कनाथ मुर्गा पालन के फायदे (Benefits of Kadaknath Chicken Farming)

  • इसकी कीमत देसी मुर्गे की तुलना में कहीं ज्यादा होती है।
  • बाजार में इसकी डिमांड बहुत ज्यादा होने की वजह से आसानी से बिक जाता है।
  • इसके पालन में ज्यादा खर्च भी नहीं करना पड़ता।
  • कम लागत लगाकर अधिक मुनाफा कमाया जा सकता है।
  • देसी मुर्गे की तुलना में यह जल्दी पच जाता है।
  • इसमें वसा बहुत कम मात्रा में पाया जाता है।
  • इसको खाने से कोलेस्ट्रॉल लेवल नहीं बढ़ता।
  • हृदय रोगी और डायबिटीज के मरीज इसका सेवन कर सकते हैं यह उनके लिए फायदेमंद होता है।
Q1 : कड़कनाथ मुर्गा कितने दिन में तैयार होता है?

Ans : कड़कनाथ मुर्गा 5 महीने में तैयार होता है।

Q2 : कड़कनाथ मुर्गा क्या खाता है?

Ans : कड़कनाथ मुर्गा बरसीम और चरी आदि खाते हैं।

Follow us on Google News:

Kamlesh Kumar

मेरा नाम कमलेश कुमार है। मैं मास्टर इन कंप्यूटर एप्लीकेशन (Master in Computer Application) में स्नातकोत्तर हूं और CanDefine.com में एडिटर के रूप में कार्य करता हूँ। मुझे इस क्षेत्र में 3 वर्ष का अनुभव है और मुझे हिंदी भाषा में काफी रुचि है। मेरे द्वारा स्वास्थ्य, कंप्यूटर, मनोरंजन, सरकारी योजना, निबंध, जीवनी, क्रिकेट आदि जैसी विभिन्न श्रेणियों पर आर्टिकल लिखता हूँ और आपको आर्टिकल में सारी जानकारी प्रदान करना मेरा उद्देश्य है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *