काले गेहूं की खेती कैसे करें? काले गेहूं का बीज कहां से प्राप्त करें?

काले गेहूं की खेती कैसे करें (Kale Gehu Ki Kheti Kaise Karen) :- आज के समय हमारे देश में कई प्रकार के उन्नत किस्म के बीज आ रहे हैं और किसान इनकी खेती करके काफी मुनाफा भी कमा रहे हैं जिसमें काले गेहूं की खेती बहुत ही ज्यादा किसानों को फायदा पहुंचा रहे हैं क्योंकि काले गेहूं की कीमत बाजार में ₹70 से ₹80 किलोग्राम के हिसाब से मिल जाती हैं। काले गेहूं की रोटी हमारे लिए बहुत ही फायदेमंद होती है यह हृदय और शुगर के मरीजों के लिए किसी औषधि से कम नहीं है। यह बहुत ही ज्यादा स्वास्थ्य वर्धक होता है।

काले गेहूं की खेती कैसे करें (Kale Gehu Ki Kheti Kaise Karen)

काले गेहूं की खेती कैसे करें

यह भी पढ़े – काला गेहूं खाने के फायदे? काले गेहूं की रोटी खाने के फायदे?

काले गेहूं की खेती कैसे करें

किसान अपनी आमदनी बढ़ाने के लिए नई नई किस्मों की पैदावार करते हैं जिसमें से काले गेहूं की खेती से कई किसानों को काफी मुनाफा हो रहा है और धीरे-धीरे किसान इस काले गेहूं की खेती की ओर झुक रहे हैं। खाली गेहूं की खेती करना बहुत ही आसान होता है इसकी खेती सामान्य गेहूं की खेती की तरह ही की जाती है।

काले गेहूं की खेती करने का सही समय क्या है

काला गेहूं सामान्य गेहूं की एक नई प्रजाति है इसकी खेती सामान्य गेहूं की खेती के तरह ही किए जाते हैं यह एक प्रकार की रबी की फसल है। काले गेहूं की खेती रबी की फसल के मौसम में की जाती है। इसकी बुवाई का सही समय नवंबर महीना माना जाता है परंतु यदि आप नवंबर महीने के बाद इसकी खेती करते हैं तो इसकी पैदावार कम होती है।

काले गेहूं की खेती के लिए खाद

खेती में प्रयोग होने वाली खाद जिंक, यूरिया और डीएपी होती है। काले गेहूं की खेती करने से पहले खेत में आपको जिंक, यूरिया और डीएपी खेत में डाल देनी चाहिए उसके बाद बीज को वोट देना चाहिए। काले गेहूं की खेती में प्रति हेक्टेयर के हिसाब से जिंक 10 किलोग्राम डालनी चाहिए। यूरिया की मात्रा 45 किलोग्राम प्रति हेक्टेयर के हिसाब से प्रयोग करनी चाहिए और डीएपी की मात्रा 50 किलोग्राम प्रति हेक्टेयर के हिसाब से डालकर खेती करनी चाहिए।

खादप्रति हेक्टेयर
यूरिया45 Kg
जिंक10 Kg
डीएपी50 Kg

काले गेहूं की सिंचाई का समय

यदि आप काले गेहूं की खेती करते है तो बीज बोने के 3 हफ्ते बाद आपको पहली सिंचाई करनी चाहिए। जब गेहूं की बालियां निकल रही हो और उसमें दाने पढ़ने का समय आ रहा है तब उस समय आपको सच्चाई अवश्य करनी चाहिए। काला गेहूं एक प्रकार की नई किस्म का गेहूं है यदि इसमें पानी की कमी हुई तो दाना पतला होने की संभावना रहती है।

काले गेहूं का बीज कहां से प्राप्त करें

यदि आप काले गेहूं की खेती करना चाहते हैं और काले गेहूं की खेती करने के इच्छुक हैं तो आपक काले गेहूं का बीज बाजार में उर्वरक केंद्र पर आसानी से प्राप्त हो सकता है आप अपने नजदीकी उर्वरक केंद्र पर जाकर काले गेहूं का बीज आसानी से प्राप्त कर सकते हैं यह सामान्य गेहूं के बीज से थोड़ा महंगा मिलता है।

काला गेहूं कौन सी मंडी में बिकता है

काले गेहूं की खेती हो जाने के बाद आप इसे अपनी नजदीकी मंडी में भेज सकते हैं यह आपकी नजदीकी मंडी में 7000 से ₹8000 प्रति कुंटल के हिसाब से बिक सकती है इस गेहूं की डिमांड मार्केट में बढ़ती जा रही है और यह एक औषधि से कम नहीं इसलिए इसका दाम आपको मंडी में अच्छा मिल जाता है और यह सामान्य गेहूं की तुलना में कहीं ज्यादा कीमत पर बिकता है जिससे आपकी आमदनी बढ़ जाती है।

काले गेहूं का रेट क्या है

काला गेहूं स्वास्थ्यवर्धक होता है इसलिए इसकी डिमांड मार्केट में दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है यह हार्ड के और शुगर के मरीजों के लिए किसी औषधि से कम नहीं है इसी वजह से इसका दाम सामान्य गेहूं की तुलना में कहीं अधिक होता है यह बाजार में 70 से ₹80 किलो में मिलता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.