कपूर के फायदे? ये है कपूर के 17 चमत्कारी फायदे

कपूर के फायदे: कपूर को अंग्रेजी में Camphor कहां जाता है। मुख्यतः यह दो प्रकार के होते हैं पहला प्राकृतिक एवं दूसरा कृत्रिम। प्राकृतिक कपूर का दूसरा नाम भीमसेनी कपूर है। इस कपूर को पेड़ से निकाला जाता है प्राकृतिक कपूर कहां सेवन भी कर सकते हैं। लेकिन कृत्रिम कपूर का हम खाने में उपयोग नहीं कर सकते बल्कि इसे अन्य कामों में जैसे पूजा पाठ एवं अन्य चीजों को बनाने में उपयोग कर सकते हैं। कपूर (Kapur Ke Fayde) का उपयोग स्वास्थ्य एवं चिकित्सा मैं आयुर्वेद द्वारा इस्तेमाल किया जाता है।

कपूर के फायदे (Benefits of Camphor)

कपूर के फायदे
kapur ke fayde

यह भी पढ़े – फिटकरी के फायदे और नुकसान? ये है फिटकरी के 12 जबरदस्त फायदे

कपूर से बवासीर का इलाज

यदि आप किसी भी प्रकार के बवासीर से परेशान है तो केले के छोटे टुकड़े में प्राकृतिक कपूर को रखकर (चने के बराबर) निगलने से किसी भी प्रकार का बवासीर ठीक हो जाता है। इस प्रक्रिया को लगातार 3 से 5 दिन तक सुबह खाली पेट करें।

दांतों के उपचार के लिए

यदि आपको दांतों में कैविटी की समस्या हो रही है तो आप कैविटी वाले स्थान पर कपूर को रखें ऐसा करने से दर्द कम हो जाता है।

बालों के झड़ने एवं रूसी को कम करने के लिए

यदि आपके बाल ज्यादा गिर रहे हो यह अधिक रूसी हो तो गुनगुने नारियल के तेल में कपूर को मिला लें और इसे उंगलियों की सहायता से बालों की जड़ों में लगाकर हल्की मालिश करें और अगले दिन शैंपू से धो ले।

नकसीर (नाक से खून आना) का इलाज के लिए

यदि आपके नाक से खून निकलता है या आपको नकसीर फूटने की समस्या है तो कपूर को पीसकर गुलाब जल में मिलाकर इस की कुछ बूंदें नाक के अंदर टपका आने से नाक से खून का आना बंद हो जाता है।

यह भी पढ़े – खाली पेट लहसुन खाने के फायदे? लहसुन में कौन से विटामिन पाए जाते हैं?

काली खांसी के उपचार के लिए

यदि आपको लंबे समय से खांसी की समस्या हो रही है तो कपूर की धूनी सुनने से लाभ मिलता है। आप मुलेठी एवं कपूर को मुंह में रखकर चूसने से भी हंसी में राहत मिलती है।

चोट, घाव, खुजली एवं गर्मी के छाले के उपचार के लिए

कपूर सफेद कथा मटिया सिंदूर तीनों को जी में मिलाकर कांसे के बर्तन में हाथों की सहायता से अच्छे से मिला ले। फिर इसे गर्मी के छाले घाव खुजली एवं सड़े हुए घाव पर लगाने से आराम मिलता है।

खुजली से आराम पाने के लिए

यदि आपको शरीर पर अधिक खुजली हो रही है तो कपूर को नींबू के रस एवं चमेली के तेल में मिलाकर शरीर पर लगाने से खुजली में तुरंत आराम मिलता है।

यह भी पढ़े – खसखस के फायदे? ये है खसखस खाने के 7 बड़े फायदे

मक्खी मच्छर से छुटकारा पाने के लिए

यदि आपके घर में अत्यधिक मात्रा में मक्खी और मच्छर है तो घर में कपूर जलाने से मक्खी एवं मच्छर भाग जाते हैं।

खटमल से छुटकारा पाने के लिए

यदि आपके बिस्तर, तकिया, कंबल इत्यादि में अत्यधिक खटमल पनप रहे हैं तो इन जगहों पर कपूर की गोलियां रख देने से खटमल नष्ट हो जाते हैं ।

खसरा एवं चेचक के दाग एवं खुजली मिटाने के लिए

खसरा एवं चेचक के दाग सूख जाने पर कपूर को नारियल के तेल में मिलाकर दागों पर लगाने से खुजली में आराम मिलता है और धीरे धीरे दाग भी खत्म हो जाते हैं।

यह भी पढ़े – सरसों के तेल के फायदे जानकर आप रह जाएंगे हैरान

निमोनिया के उपचार के लिए

निमोनिया के दौरान तारपीन के तेल में कपूर को मिलाकर छाती एवं पीठ पर मलने से आराम मिलता है।

गठिया के इलाज के लिए

अफीम की रोए का तेल में कपूर को मिलाकर रोजाना मालिश करने से गठिया का रोग दूर हो जाता है।

सिर दर्द, डिप्रेशन एवं स्ट्रेस को दूर करने के लिए

यदि आपको अक्सर तनाव महसूस होता है या सिर दर्द की समस्या रहती है तो अपने माथे पर कपूर के तेल की मालिश करने से आराम मिलता है। यह तेल मस्तिष्क की नसों को आराम दिलाता है।

चेहरे पर निखार पाने के लिए

दूध में कपूर के पाउडर को मिलाकर रुई की सहायता से अपने चेहरे पर लगाएं और हल्के से मसाज करें 15 मिनट बाद अपना चेहरा पानी से धो लें।

अस्थमा के उपचार के लिए

हींग को पीसकर कपूर में मिलाकर गोली तैयार कर ले और अस्थमा के मरीज को दौरा पड़ने पर हर 2 घंटे पर देने से दमा का दौरा रुक जाता है और आराम मिलता है।

बिच्छू के काटने पर आराम दिलाता है

यदि आपको बिच्छू ने शरीर के किसी भी हिस्से में काट लिया है तू कपूर को सिरके में मिलाकर कटे पर लगाने से बिच्छू का विष का असर खत्म हो जाता है।

एसिडिटी, पेट दर्द एवं जलन के उपचार के लिए

प्राकृतिक कपूर को अजवाइन या पुदीने की शर्बत में मिलाकर पीने से एसिडिटी पेट दर्द एवं जलन की समस्या में आराम मिलता है। ये थे कपूर के फायदे

यह भी पढ़े – बालों का झड़ना कैसे बंद करें घरेलू उपाय? बालों को झड़ने से रोकने के उपाय?

Follow us on Google News:

Mamta Jain

मैं ममता जैन मीडिया क्षेत्र में मैं तीन साल से जुड़ी हुई हूं। मुझे लिखना काफी पसन्द है और अब मैने यही मेरा प्रोफेशन बना लिया है। मैं जर्नलिज्म एंड मास कम्युनिकेशन में ग्रेजुएट हूं। हेल्थ, स्वास्थ्य, मनोरंजन, सरकारी योजना, क्रिकेट, न्यूज़ और ब्यूटी पर लिखने में मेरा स्पेशलाइजेशन है। हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी जानकारी जानने के लिए मुझे फॉलो करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *