खादी ग्रामोद्योग योजना क्या है, इस योजना का उद्देश्य क्या है

खादी ग्रामोद्योग योजना क्या है:- ग्रामीण इलाकों में रोजगार को बढ़ाने, ग्रामीण गरीबी को कम करने और गांवों से शहरों की तरफ बढ़ रहे पलायन को रोकने के उद्देश्य से 15 फरवरी, 2017 को खादी और ग्रामोद्योग आयोग (KVIC) (Khadi Gramodyog Vikas Yojana) द्वारा ‘खादी गांव’ नामक परियोजना शुरू की गई। खादी एवं ग्रामोद्योग आयोग MSME मंत्रालय के अधीन काम करता है।

खादी ग्रामोद्योग योजना क्या है

खादी ग्रामोद्योग योजना क्या है

यह भी पढ़े – HIV/AIDS एवं STI पर राष्ट्रीय रणनीतिक योजना, 2017-24

खादी ग्रामोद्योग योजना

यह कार्यक्रम रोजगार सृजन की दृष्टि से महत्वपूर्ण होने के साथ-साथ ग्रामीण कारीगरों को अपने कौशल का प्रदर्शन करने के लिए एक मंच भी प्रदान करेगा। इसके अतिरिक्त इस योजना से ग्रामीण महिलाएं विशिष्ट रूप से लाभान्वित होंगी, क्योंकि उन्हें आय का एक वैकल्पिक स्रोत प्राप्त होगा, जो उन्हें आर्थिक रूप से सशक्त करेगा। इसके अतिरिक्त कौशल विकास संवर्धन, ग्रामीण-नगरीय पलायन, धारणीयता के साथ विकास आदि दृष्टि से भी यह परियोजना एक मील का पत्थर सिद्ध होगी।

योजना का मुख्य उद्देश्य

खादी ग्रामोद्योग योजना का मुख्य उद्देश्य यह है कि ग्रामीण इलाकों से शहर पलायन कर रहे लोगों को कौशल प्रदान करना जिसके जरिए वह अपनी आय का सृजन कर सके और आर्थिक रूप से भी मजबूत बने। जिससे ग्रामीण इलाकों के लोगों का पलायन भी रुक सके।

प्रमुख तथ्य

  • परियोजना के अंतर्गत आयोग खादी, कताई और अन्य कुटीर उद्योगों के माध्यम से आत्मनिर्भर होने के इच्छुक व्यक्तियों का चयन करेगा व उन्हें आवश्यक सामग्री के साथ बुनियादी प्रशिक्षण प्रदान करेगा।
  • इस योजना के तहत प्रत्येक राज्य से पांच गांवों का चयन किया जाएगा तथा एक वर्ष में उन्हें खादी गांव के रूप में विकसित किया जाएगा।
  • इस योजना में खादी के अलावा अन्य ग्रामीण उद्योगों यथा-छोटे तेल मिल, बेकरी, अगरबत्ती, मोमबत्ती, मिट्टी के बर्तन, मधुमक्खी पालन आदि के लाभदायक संचालन हेतु प्रशिक्षण की सुविधा भी प्रदान की जाएगी।
  • गांव के लोगों द्वारा तैयार किए गए उत्पादों की बाजार तक पहुंच को सुनिश्चित कराने हेतु इन गांवों में विक्रय केंद्रों की स्थापना भी की जाएगी।

खादी और ग्रामोद्योग आयोग प्रशिक्षण, पाठयक्रमों का स्वरुप, अवधि और योग्यता

S.Noपाठयक्रम का नामअवधियोग्यता
1.खादी अभकल्प (डिजाइन) विकास2 माहपढ़ना लिखना
2.चरखा मशीनसाज पाठयक्रम1 माहपढ़ना लिखना
3.अभकल्प (डिजाइन) बुनाई पाठयक्रम6 माहपढ़ना लिखना
4.नव बुनकर पाठयक्रम6 माहपढ़ना लिखना
5.कुप्पादम बुनाई6 माहपढ़ना लिखना
6.सिलाई व कढ़ाई5 माह8 वीं
7.होज़री पाठयक्रम2 माह8 वीं
8.सिलाई पुनशचर्या पाठयक्रम3 माह8 वीं
9.वस्त्र निर्माण3 माह8 वीं
10.सूई कार्य2 माह8 वीं
11.12.स्वेटर बनाना1 माह8 वीं
13.डस्टर बनाना1 weeksएस्‌.एस्‌.एल.सी.
14.खादी कताई पाठयक्रम2 माहएस्‌.एस्‌.एल.सी.
15.खादी बुनाई पाठयक्रम2 माहएस्‌.एस्‌.एल.सी.
16.रेशम चरखी व कताई3 माहएस्‌.एस्‌.एल.सी.
17.ऊनी होज़री6 माहएस्‌.एस्‌.एल.सी.
18.अर्धस्वचालत करघा बुनाई (कपास, पोली, मलमल)6 माहएस्‌.एस्‌.एल.सी.
19.वस्त्र आर्द्र संसाधन14 माहएस्‌.एस्‌.एल.सी.
20.रंगाई व छपाई पाठयक्रम2 माहएस्‌.एस्‌.एल.सी.
21.कताई व पुनशचर्या1 माहएस्‌.एस्‌.एल.सी.
22.खादी प्रौद्योगिकी (कपास)9 माहएस्‌.एस्‌.एल.सी.
23.खादी प्रौद्योगिकी (ऊन)9 माहएस्‌.एस्‌.एल.सी.
24.खादी प्रौद्योगिकी (पोलीवस्त्र)9 माहएस्‌.एस्‌.एल.सी.

प्रशिक्षण केन्द्र (एमडीटीसी)

सरकार के द्वारा भारत के लगभग हर राज्य में प्रशिक्षण केंद्र खोले गए हैं जहां पर आप इसका आप प्रशिक्षण ले सकते हैं और अधिक अधिक जानकारी आप इसकी आधिकारिक वेबसाइट (KVIC) पर प्राप्त कर सकते हैं।

S.Noप्रशिक्षण केन्द्रोंराज्य
1.डॉ. बी.आर. अम्बेडकर ग्राम तकनीकी व प्रबंधन संस्थाननासिक (महाराष्ट्र)
2.सी.बी. कोरा ग्रामोद्योग संस्थानबोरीवली (महाराष्ट्र)
3.बहुद्देशीय प्रशिक्षण संस्थान, खादी और ग्रामोद्योग आयोग, दूरवाणीनगरबैंगलोर (कर्नाटक)
4.बहुउद्देशीय प्रशिक्षण संस्थान, खादी और ग्रामोद्योग आयोगत्रिचूर (केरल)
5.6.बहुउद्देशीय प्रशिक्षण संस्थान, खादी और ग्रामोद्योग आयोगनैनीताल (उत्तरांचल)
7.बहुउद्देशीय प्रशिक्षण संस्थान, खादी और ग्रामोद्योग आयोग, उद्योगपुरीभूबनेश्वर (उड़ीसा)
8.बहुउद्देशीय प्रशिक्षण संस्थान, खादी और ग्रामोद्योग आयोगराजघाट (नई दिल्ली)
9.बहुउद्देशीय प्रशिक्षण संस्थान, खादी और ग्रामोद्योग आयोग, कल्याणी, चांदमारीनादिया (पश्चिम बंगाल)
10.डा. राजेन्द्रप्रसाद बहुउद्देशीय प्रशिक्षण संस्थान, खादी और ग्रामोद्योग आयोग, बी.वी. महाविद्यालयपटना (बिहार)
11.बहुउद्देशीय प्रशिक्षण संस्थान, खादी और ग्रामोद्योग आयोगदेहरादून (उत्तरांचल)
12.गजानन नायक बहुउद्देशीय प्रशिक्षण संस्थान, खादी और ग्रामोद्योग आयोग ठाणे (महाराष्ट्र)
13.खादी और ग्रामोद्योग विद्यालय, ग्रामीण नर्माण मण्डल, सर्वोदय मण्डल नवादा (बहार)
14.उचत ग्रामीण तकनीकी ग्रामोद्योग क्षेत्रीय केन्द्रगुम्ला (झारखण्ड)
15.राष्ट्रीय ग्रामीण संसाधन शाक्षण एवं प्रशिक्षण केन्द्र, सम्बलपुर रेशम और ग्रामोद्योग समतदेवगढ़ (उड़ीसा)
16.सघन खादी और ग्रामीण वकास केन्द्र, कर्नहरबीरभूमᅠ(पश्चिम बंगाल)
17.श्री टी.एस.गोखले खादी और ग्रामोद्योग प्रशिक्षणᅠ एवं शोध संस्थानइन्दौर (मध्यप्रदेश)
18.दीनदयाल शोध संस्थान, सियाराम कुटीरसतनाᅠ(मध्यप्रदेश)
19.जयप्रकाश नारायण ग्रामीण तकनीकी संस्थानबलिया (उत्तरप्रदेश)
20.खादी ग्रामोद्योग विद्यालय, क्षेत्रीय श्री गाँधी आश्रमबाराबंकी (उत्तर प्रदेश)
21.खादी ग्रामोद्योग विद्यालय, क्षेत्रीय श्री गाँधी आश्रमवाराणसी (उत्तर प्रदेश)ᅠ
22.ऊनी होज़री प्रशिक्षण केन्द्र, समग्र विकास परिषदलखनऊ (उत्तर प्रदेश)ᅠ
23.खादी ग्रामोद्योग विद्यालय, राजस्थान खादी संघजयपुर (राजस्थान)
24.बहुउद्देशीय प्रशिक्षण संस्थान, अरूणाचल प्रदेशदोइमुखᅠ(अरूणाचल प्रदेश)ᅠ
25.खादी ग्रामोद्योग विद्यालय, तमूलपुर आँचलक ग्रंदन संघनलबरी (असम)
26.बहुउद्देशीय प्रशिक्षण संस्थान, मिझोरम खादी और ग्रामोद्योग आयोगआइज़ोलᅠ(मिझोरम)
27.बहुउद्देशीय प्रशिक्षण संस्थान, नागालैण्ड खादी ग्रामोद्योग आयोगदीमापुरᅠ(नागालैण्ड)ᅠ
28.बहुउद्देशीय प्रशिक्षण संस्थान, आंध्र प्रदेश खादी और ग्रामोद्योग बोर्डहैदराबाद (आंध्र प्रदेश)
29.खादी ग्रामोद्योग विद्यालय, गाँधी स्मारक ग्राम सेवा केन्द्रमएर्नाकुलम (केरल)
30.खादी ग्रामोद्योग विद्यालय, चेन्गानेचेरी सोशाल सर्विस सोसाईटीपटनानंथट्टा (केरल)
31.डॉ. जे.सी. कुमारप्पा ग्रामीण तकनीकी और विकास संस्थानमदुरै (तमिलनाडु)
32.खादी ग्रामोद्योग विद्यालय, तमिलनाडु सर्वोदय संघतिरपुर (तमिलनाडु)ᅠ
33.कस्तूरबा महिला खादी ग्रामोद्योग विद्यालय, गाँधी राष्ट्रीय स्मृति संगठनपुणे (महाराष्ट्र)
34.Khadi & V.I. Commission, Srinagar-Jammu National HighwaySrinagar-Jammu 
35.Khadi & V.I. CommissionShamli (Uttar Pradesh)
36.Khadi & V.I. CommissionNainital (Uttarkhand)
37.Khadi & V.I. CommissionDehradun (Uttarkhand)

यह भी पढ़े – स्टैंड अप इंडिया योजना क्या है। ऐसे करें स्टैंड अप इंडिया योजना में ऑनलाइन आवेदन

Leave a Reply

Your email address will not be published.