खांसी और कफ से है परेशान तो अपनाये ये घरेलू उपचार मिलेगा अचूक फायदा

खांसी और कफ से है परेशान तो अपनाये ये घरेलू उपचार मिलेगा अचूक फायदा, खांसी हो जाना या कफ की शिकायत होना आम बात है। परिवार का कोई न कोई सदस्य, किसी न किसी कारण से उसकी लपेट में आ ही जाता है। हमें खांसी व कफ के घरेलू उपचारों की पूरी जानकारी रहनी चाहिए ताकि जब भी हम ज्यादा परेशान हो और डॉक्टर के पास जाने में विलम्ब हो रहा हो तो घरेलू उपचारों से अपना इलाज कर सकें।

खांसी और कफ से है परेशान तो अपनाये ये घरेलू उपचार

खांसी और कफ से है परेशान तो अपनाये ये घरेलू उपचार

यह भी पढ़े – शरीर को स्वस्थ और निरोगी बनाये रखने के लिए मन को रखें स्वस्थ

खांसी और कफ का घरेलू उपचार

  • यदि बहुत पुरानी खांसी से परेशान चल रहे हों तो पीपल को चिलम में भरकर रोगी को पीने को दें। बहुत जल्दी लाभ होने लगेगा।
  • आंवलों का चूर्ण बारीक आधा चम्मच लें। इसमें एक चम्मच मिश्री डालें। दोनों को मिलाकर, खाकर पानी पी लें।
  • नारियल की गरी को पानी में घिसें। इसे चाटने से आराम मिलेगा।
  • कफ से छुटकारा पाने के लिए पीपलामूल का चूर्ण तथा छोटी इलायची को घी में मिलाकर रोगी चाट ले। आराम पाएगा।
  • शहद में मुलहठी का चूर्ण एक छोटा चम्मच मिलाएं। इसे रोगी चाट ले। यह छाती में जमा कफ उखाड़ फेंकेगा।
  • महुए के पत्ते लें। हल्का कूट लें। फिर इसका क्वाथ तैयार करें। इसे देने से रोगी को आराम मिलेगा।
  • जिसे अक्सर कफ और खांसी की शिकायत रहती हो, वह समुफल और हल्दी का सेवन करे। रोग शांत होगा।
  • कफ को पतला कर उखाड़ने व निकालने के लिए दो बड़े चम्मच मेंहदी का रस निकालें। इसमें एक छोटा चम्मच पिसी हल्दी तथा थोड़ा सा गुड़ मिलाएं। चाटने को दें। लाभ होगा।
  • कभी-कभी कफ़ में खून भी निकलने लगता है। इसके लिए लाख का चूर्ण और शक्कर की पक्की चाशनी खिलाएं। बहुत प्रभावी रहेगी। सांस सरल हो जाएगी।
  • खांसी जब सूखी न हो। तर हो, कफ भी काफी हो। इसे निकालने व छाती को भली प्रकार साफ करने के लिए तुलसी के पत्तों का रस एक बड़ा चम्मच लें। तीन बड़ी इलायची लेकर अलग से पीसें। अब इस चूर्ण को तथा तुलसी के रस को शहद में मिलाकर चाटें। आराम मिलेगा।
  • यदि खांसी तो न हो रही हो, मगर कफ बढ़ गया हो। ऐसे में अदरक, नागरबेल का पान तथा तुलसी के पत्तों का प्रबन्ध करें। तीनों का रस निकालें। इसे शहद में मिलाकर रोगी को चाटने को दें। कफ उखड़कर निकल जाएगा।
  • कफ हो, खांसी हो, सांस भी सरल न हो। ऐसे में आक की जड़ तथा अडूसा के पत्ते समान मात्रा में लें। पानी में पीसें । छोटी-छोटी मटर के समान गोलियां बनाएं। प्रातः, दोपहर, सायं इन गोलियों को चूसने से आराम पाएंगे। ऊपर बताए उपायों में से आप स्वयं चुनें और लाभ उठाएं।

यह भी पढ़े – जरूरी है शिशु के लिए संतुलित आहार क्यों आवश्यक है जाने पूरी जानकारी

अस्वीकरण – यहां पर दी गई जानकारी एक सामान्य जानकारी है। यहां पर दी गई जानकारी से चिकित्सा कि राय बिल्कुल नहीं दी जाती। यदि आपको कोई भी बीमारी या समस्या है तो आपको डॉक्टर या विशेषज्ञ से परामर्श लेना चाहिए। Candefine.com के द्वारा दी गई जानकारी किसी भी जिम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Subscribe with Google News:

Leave a Comment