महिला के नाम रजिस्ट्री 2022 कराने के है बहुत सारे फायदे

भारत सरकार और राज्य सरकार मिलकर महिलाओं को सशक्त बनाने के लिए नए-नए तरीके लाती जा रही है। महिला के नाम रजिस्ट्री 2022 कराने पर लगभग 2% की छूट मिलती है। यदि आप फ्लैट या फिर जमीन खरीदना चाहते हैं और टैक्स में भी छूट पाना चाहते हैं तो महिलाओं के नाम रजिस्ट्री कराएं और 2% तक टैक्स में छूट पाएं। भारत के कुछ राज्यों जैसे हरियाणा, पंजाब, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, उड़ीसा आदि यहां पर महिलाओं के नाम पर रजिस्ट्री कराने पर काफी छूट मिल जाती है।

महिला के नाम रजिस्ट्री 2022 (Mahila Ke Name Registry)

महिला के नाम रजिस्ट्री
Benefits of Registry in Female Name

महिला के नाम रजिस्ट्री

पुरुष के मुकाबले महिलाओं के नाम पर जमीन या फिर मकान रजिस्ट्री कराने पर टैक्स में काफी छूट मिल जाती है। भारत के हर राज्य में महिला और पुरुष के नाम पर रजिस्ट्री कराने के लिए कुछ परसेंट टैक्स देना पड़ता है। यदि आप पुरुष के नाम पर रजिस्ट्री कराते हैं तो आपको टैक्स ज्यादा भरना पड़ता है। महिला के नाम पर रजिस्ट्री कराने का फायदा आपको तभी मिल सकता है जब महिला का उस मकान या जमीन पर मालिकाना हक होता है। और साथ ही साथ आपको लगभग 2% रजिस्ट्री में पैसे बचते हैं।

टैक्स में छूट

महिलाओं के नाम पर प्रॉपर्टी लेने से महिलाओं को इनकम टैक्स में भी काफी छूट मिल सकती है यदि आप सही से कैलकुलेशन लगाएं और फिर रजिस्ट्री अपने घर के किसी भी महिला के नाम पर करें तो उन्हें इनकम टैक्स में काफी छूट मिल जाती है और आप काफी टैक्स बचा सकते हैं।

रजिस्‍ट्री में छूट

यदि आप महिलाओं के नाम पर संपत्ति लेते हैं तो आपको टैक्स में काफी छूट मिल जाती है यदि आप नहीं पर संपत्ति लेना चाहते हैं तो आपको अपने घर की महिला के नाम पर संपत्ति लेना चाहिए वह महिला आपकी माता हो सकती हैं या फिर बहन हो सकती है या फिर बीवी हो सकते हैं। रजिस्ट्री कराने के समय महिलाओं के नाम पर रजिस्ट्री कराने से आपको 2% की स्टांप ड्यूटी पर छूट मिल जाती है।

होम लोन लेना होता है और भी आसान

होम लोन लेना और भी आसान हो जाता है यदि आपकी पत्नी के नाम पर जमीन रजिस्टर है और आपकी पत्नी जॉब करती हैं तो बैंक ऐसे एप्लीकेंट को लोन तुरंत दे देता है और भारत सरकार की तरफ से होम लोन लेने वाली महिलाओं को कुछ पर्सेंट छूट का लाभ भी मिल जाता है।

राज्य में महिलाओं और पुरुष की स्टाम्प ड्यूटी

राज्यपुरुषमहिला
हरियाणा में स्टाम्प ड्यूटी7%5%
पंजाब में स्टाम्प ड्यूटी7%5%
राजस्थान में स्टाम्प ड्यूटी6%5%
उत्तर प्रदेश में स्टाम्प ड्यूटी7%6%
ओडिशा में स्टाम्प ड्यूटी5%4%
मध्य प्रदेश में स्टाम्प ड्यूटी7.5%7.5%

हरियाणा में स्टांप ड्यूटी कितनी है

हरियाणा में महिलाओं के नाम रजिस्ट्री कराने पर स्टांप ड्यूटी 5 परसेंट लगती है और वहीं दूसरी तरफ यदि आप पुरुष के नाम पर रजिस्ट्री कराते हैं तो उसको 7 परसेंट स्टांप ड्यूटी देने पड़ते हैं।

पंजाब में स्टांप ड्यूटी कितनी है

पंजाब सरकार ने महिलाओं के नाम पर रजिस्ट्री पर स्टांप ड्यूटी का खर्च 5 परसेंट कर रखा है और वहीं दूसरी तरफ पुरुषों के नाम पर रजिस्ट्री के लिए स्टांप ड्यूटी का खर्च 7 परसेंट का रखा हुआ है।

राजस्थान में स्टांप ड्यूटी कितनी है

राजस्थान सरकार ने महिलाओं के नाम होने वाली रजिस्ट्री पर स्टांप ड्यूटी को कम कर रखा है यदि महिलाओं के नाम पर रजिस्ट्री होती है तो उन्हें 5 परसेंट स्टांप ड्यूटी देनी पड़ती है और यदि पुरुष के नाम पर रजिस्ट्री होती है तो उसको स्टांप ड्यूटी 6 परसेंट की देनी होती है।

उत्तर प्रदेश में स्टांप ड्यूटी कितनी है

उत्तर प्रदेश सरकार के द्वारा महिलाओं को सशक्त बनाने के लिए महिलाओं के लिए स्टांप ड्यूटी कम लगाई है यदि आप महिला के नाम पर रजिस्ट्री कराते हैं तो आपको 6 परसेंट की स्टांप ड्यूटी देनी पड़ती है और वहीं यदि आप पुरुष के नाम पर रजिस्ट्री कराते हैं तो आपको 7 परसेंट तक की स्टांप ड्यूटी देनी पड़ती है।

ओडिशा में स्टांप ड्यूटी कितनी है

उड़ीसा में महिलाओं के लिए चार परसेंट और पुरुषों के लिए पांच परसेंट रजिस्ट्री की स्टांप ड्यूटी निर्धारित की हुई है।

मध्य प्रदेश में स्टांप ड्यूटी कितनी है

मध्य प्रदेश मैं महिलाओं और पुरुषों की रजिस्ट्री में स्टांप ड्यूटी समान ली जाती है इन में कोई अंतर नहीं।

यह भी पढ़े –

Leave a Reply

Your email address will not be published.