शरीर को स्वस्थ और निरोगी बनाये रखने के लिए मन को रखें स्वस्थ

शरीर को स्वस्थ और निरोगी बनाये रखने के लिए मन को रखें स्वस्थ के आसान तरीके, मन का सीधा प्रभाव तन पर पड़ता है। यदि मन अस्वस्थ है तो तन भी अस्वस्थ रहेगा। यदि मन पुष्ट है बलवान है, आपमें मनोबल की कमी नहीं तो आपका शरीर भी चुस्त, दुरुस्त व पूरी तरह कार्यशील बना रहेगा।

शरीर को स्वस्थ और निरोगी बनाये रखने के लिए मन को रखें स्वस्थ

शरीर को स्वस्थ और निरोगी बनाये रखने के लिए मन को रखें स्वस्थ

यह भी पढ़े – जरूरी है शिशु के लिए संतुलित आहार क्यों आवश्यक है जाने पूरी जानकारी

स्वस्थ रहने के लिए मुख्य बिन्दु

रोगों से बचते हुए स्वस्थ रहने के लिए हमें निम्न बिन्दु अपने जीवन में पूरी तरह उतार लेने चाहिएं-

  1. हमें प्रातः सूर्य उदय से बहुत पहले उठकर दिनचर्या शुरू करनी चाहिए।
  2. हम उचित, सुपाच्य तथा पौष्टिक भोजन लें।
  3. हमारी जीवन पद्धति सादा हो।
  4. जितना शरीर स्वीकार कर सके उतना व्यायाम भी अवश्य करें।
  5. वीरता और साहस सदा बनाए रखना। इनको कभी नहीं त्यागना।
  6. हर अवस्था में खुश रहने का प्रयत्न करना।
  7. अपनी इच्छाएं सीमित रखना।
  8. जितनी चादर हो उतने ही पांव पसारना।
  9. कर्म से जी नहीं चुराना।
  10. हर समय धनोपार्जन में नहीं लगे रहना।
  11. जितना विश्राम ज़रूरी है, उतना विश्राम तो करना, मगर इस विश्राम के समय में केवल आराम ही करना।
  12. चिन्ता, तनाव से दूर रहना।
  13. समस्याओं का सूझ-बूझ से मुकाबला करना।
  14. सीमित साधनों तथा सीमित आय में रहते हुए सन्तोष करना।
  15. अधिक की लालसा तो नहीं करना मगर उन्नति के लिए प्रयत्न अवश्य करना।
  16. ईमानदार बने रहना। बेईमानी से दूर रहना।
  17. दूसरों से सहयोग लेना हो तो उन्हें सहयोग देना भी ज़रूरी है।
  18. ईश्वर में पूर्ण विश्वास बनाए रखना।

मन को स्वस्थ कैसे रखें

  • हमें ऐसा कुछ नहीं करना चाहिए, जिससे शरीर रोगी हो। हमें वह सब करना चाहिए, जिससे शरीर स्वस्थ रह सके। जब हम इसी धारणा को बनाकर चलेंगे तो हमें कभी कोई परेशानी नहीं आएगी। हम अपने शरीर को निरोगी रख सकेंगे।
  • यदि हम इन बातों पर ध्यान देकर चलेंगे तो हम संतुष्ट रहेंगे। हमारा मन स्वस्थ बना रहेगा। टेंशन हमें छू भी न सकेगी। इससे हमारा स्वास्थ्य, हमारा तन भी निरोग बना रहेगा।
  • यदि मन शांत बना रहेगा तो मानसिक व शारीरिक विकार भी दूर भागेंगे। हमारे चेहरे पर रौनक बनी रहेगी।
  • भोजन सात्विक हो। शुद्ध हो। सुपाच्य हो तथा शरीर के लिए हितकर।
  • परिवार में भी शांति बनाए रखें। आस-पड़ोस में सम्बन्ध अच्छे हों।
  • प्रकृति से दूर नहीं भागें। इसके करीब आएं। सुखी होंगे।
  • समय, स्थान, आयु, शारीरिक स्थिति आदि के अनुसार ही खान-पान, रहन-सहन, बातचीत हो जो मन तथा शरीर को पूरी तरह से स्वस्थ रखने में मदद करेंगे।

आज की अंधी दौड़ में मन शुद्ध रखें। मनोबल में कमी न आने दें। हिम्मत न हारें। शरीर भी निरोग तथा स्वस्थ रहेगा।

यह भी पढ़े – बढ़ते बच्चों के शारीरिक और मानसिक विकास के लिए डाइट कैसी होनी चाहिए

Subscribe with Google News:

Leave a Comment