नीम के पत्तों के फायदे और नुकसान? नीम के औषधि गुण जानकर रेह जायेंगे हैरान?

नीम के पत्तों के फायदे (Neem Ke Patte Ke Fayde), भारत को औषधियों का खजाना माना जाता है यह खजाना हमें किसी पौधे पेड़ या फिर किसी जड़ी-बूटी के रूप में मिलता है। नीम भी एक ऐसी औषधि गुण वाले पेड़ में से एक है। सबसे खास बात तो यह है कि नीम की ना सिर्फ पत्तियां बल्कि उसका जड़, छाल, फल, उसका तेल ये सारी चीजें हमारे लिए फायदेमंद साबित हुई है। नीम का सेवन हमारे शरीर के लिए बेहद फायदेमंद साबित हुआ है खास तौर पर इसका खाली पेट सेवन करने को लेकर कुछ महत्वपूर्ण सावधानियां बरतनी जरूरी है। आइए जानते हैं कि नीम किस तरह से प्रयोग करें कितना करें और कब करें।

नीम के पत्तों के फायदे (Neem Ke Patte Ke Fayde)

नीम के पत्तों के फायदे

यह भी पढ़े – नारियल पानी हमारे शरीर पर कैसे फायदा करता है?

नीम के पत्तों के फायदे

1. खाली पेट नीम की पत्तिया खाने के लाभ

इसकी पत्तियों को खाली पेट खाने से शरीर को किसी भी प्रकार की हानि नहीं होती और यह शरीर में से फ्री रेडिकल्स को खत्म करने में सहायता करती है। इसके सेवन से कैंसर से बचाव के लिए उपयोगी माना गया है। यही वजह है की नीम के सेवन से शरीर का खून साफ होता है और कई बीमारियों से बचाव की होता है।

2. शरीर की इम्युनिटी बढ़ाने में

नीम की पत्तियों में एंटीऑक्सीडेंट गुण मौजूद होते हैं। यही कारण है कि अगर खाली पेट नीम की कुछ पत्तियां रोजाना चलाया जाए तो शरीर की इम्युनिटी बढ़ती है और सेहत भी काफी स्वस्थ्य रहता है।

3. दांतों के कीड़े खत्म करने में

नीम के पतले तने का उपयोग दातुन के रूप में किया जाता है। नीम के लकड़ी से बनी दातुन से रोजाना दांतों की सफाई करने से उसमें लगने वाले कीड़े खत्म हो जाते हैं। साथ ही पायरिया मुंह से दुर्गंध और मसूड़े की समस्या भी दूर हो जाती है।

4. पाचन क्रिया को करता है तंदुरुस्त

रोजाना नीम के कुछ पत्तियों के सेवन से पेट की पाचन क्रिया तंदुरुस्त हो जाती है जिससे पेट में होने वाले जलन, अल्सर, गैस जैसी समस्याओं से भी छुटकारा मिलता है। इसके सेवन से कब्ज की समस्या से भी छुटकारा मिलता है और पेट में जमे टॉक्सिक पदार्थों को बाहर निकाल कर पेट को पूरी तरह से साफ कर देता है।

5. मधुमेह की समस्या में आराम

नीम की पत्तियों के सेवन से मधुमेह की समस्या में भी आराम मिलता है। अगर आप डायबिटीज की समस्या से परेशान है तो रोजाना सुबह खाली पेट नीम की कुछ पत्तियों का सेवन लगातार तीन महीने तक करें जिससे आपको मधुमेह की समस्या से मुक्ति मिल जाएगी। नीम की पत्तियों का सेवन एक सीमित मात्रा में ही उपयोग में लाना चाहिए ‌।

6. कान के दर्द में आराम

नीम का तेल कान के दर्द में आराम दिलाता है कान में दर्द या कान बहने की समस्या अधिक होती है ऐसी परिस्थिति में कान में नीम का तेल डालें।

7. शरीर पर पुराना घाव में आराम

अगर शरीर पर कोई पुराना घाव है जो लंबे समय से ठीक नहीं हो पा रहा उस पर नीम की पत्तियों से बनाया गया लेप लगाने से आराम मिलता है।

8. वजन घटने में

नीम की पत्तों को सुखाकर तैयार किए गए पाउडर के रोजाना सेवन से आप अपना वजन आसानी से घटा सकते हैं।

8. सर्दी जुकाम में

नीम का पाउडर में हल्दी को मिलाकर गर्म पानी में डालकर सुबह सुबह खाली पेट दिया जाए तो इससे इम्यूनिटी बढ़ती है और सर्दी जुकाम में भी आराम मिलता है।

9. नाक से खून आने की समस्या में आराम

अगर किसी को नाक से खून आने की समस्या हो रही है तो नीम की पत्तियां और अजवाइन बराबर मात्रा में मिलाकर लगाने से आराम मिलता है।

10. सिर दर्द और थकान में आराम

नीम की पत्तियों का पाउडर में हल्दी का पाउडर मिलाकर तैयार कर ले इसको माथे पर लगाने से सिर दर्द और थकान में आराम मिलता है।

नीम की पत्तियों के सेवन से मलेरिया पेट के कीड़े गठिया और कई संक्रमण जैसी परेशानियों से आराम मिलता है।

11. बालों के लिए फायदेमंद

  • नीम की पत्तियां आप को स्वस्थ बनाने की साथ-साथ आपके बालों को भी खूबसूरत बनाती है।
  • नीम के बीज को पीसकर बालों में लगाने से जूं खत्म हो जाते हैं।
  • नीम के पत्तों के साथ बेर के पत्तों को पीसकर बनाए गए लेब हो बालों में लगाकर डेढ़ घंटे बाद धो ले इससे बाल घने काले मुलायम और लंबे हो जाते हैं।
  • नीम की पत्तियों को धोकर पानी में उबाल कर ठंडा कर ले । अगले दिन इस पानी से सिर धोने से सिर की सारी गंदगी साफ हो जाती है और साथ ही बाल भी मजबूत होते हैं।
  • कई लोगों को बालों के अंदर छोटी-छोटी फुंसियां या गांव पनपने लगते हैं ऐसे में नीम की पत्तियों को पीसकर लगाने से फायदा मिलता है।
  • नीम के पत्तों से लेप तैयार करके बालों में लगाने से बाल झड़ना बंद हो जाते हैं और सुंदर भी हो जाते हैं।
  • नीम का तेल अगर रोजाना कुछ दिनों तक लगाया जाए तो सफेद बाल धीरे-धीरे काले होने लगते हैं।
  • नीम की पत्तियों में लिनोलेइक एसिड, ओलिक एसिड, स्टीयरिक एसिड मजबूत होता है जिससे बालों में से रूसी खत्म हो जाती है और रूखे भी नहीं होते।

12. स्किन के लिए फायदेमंद

  • नीम में एंटी फंगल गुण भी पाए जाते हैं जिसके कारण शरीर में सूजन खुजली और जलन के मामले को कम करता है।
  • नीम से बने तेल को रोजाना त्वचा पर लगाने से ड्राई स्किन की समस्या दूर हो जाती है। और त्वचा ग्लो भी करने लगती है।
  • नीम में एंटीऑक्सीडेंट पाया जाता है जिसके कारण इचिंग की समस्या से आराम मिलता है। नियमित रूप से अगर चेहरे पर नीम का तेल या लेप लगाने से स्किन पर उम्र का असर नहीं दिख पाता।
  • नीम में एंटी इन्फ्लेटरी गुण मौजूद होता है जिसे खेल मुहासे जैसी समस्याओं से छुटकारा मिल सकता है।
  • त्वचा से झाइयां दाग धब्बे को दूर करने के लिए नीम का बनाया गया फेस पैक या नीम युक्त क्लींजर का उपयोग करने से समस्या दूर हो जाती हैं
  • नीम के तेल में विटामिन ई भी पाया जाता है जिसके इस्तेमाल से आप अपने स्क्रीन को हाइपरपिगमेंटेशन से बचा सकते हैं। यही कारण है कि कई सारे ब्यूटी प्रोडक्ट जैसे क्लींजर स्क्रब, मास्क, क्रीम में नीम का प्रयोग किया जाता है।
  • अगर आप नीम के पत्तों को लगातार दाद पर लगाएंगे तो इस समस्या से छुटकारा मिल जाएगा क्योंकि नीम के पत्तों में एंटीफंगल और एंटीबैक्टीरियल गुण होता है।
  • त्वचा पर कील मुंहासे का मुख्य कारण स्क्रीन का ऑइली होना होता है अगर आपकी स्किन ऑयली है तो इसके लिए आप नीम के पत्ते में थोड़ा सा दही और नींबू मिलाकर चेहरे पर लगाएं इससे आपकी ऑइली स्किन नॉरमल हो जाएगी।
  • नीम के पत्तों का उपयोग मास्टर आईसर के रूप में भी किया जा सकता है इसके लिए नीम के पत्तों से 1/2 में शहद मिलाकर चेहरे पर लगाएं।
  • नीम की पत्तियों के साथ गुलाब की पंखुड़ियों को मिलाकर लगाने से चेहरे में निखार आता है।
  • नीम के पत्तों से तैयार किए गए लेख से स्किन संबंधी कई समस्या जैसे खुजली घाव जलन से छुटकारा मिल सकता है।
  • त्वचा के रंग को निखारने के लिए नीम के पत्तों में पपीते को मिलाकर तैयार किए गए मास्क लगाने से काफी फायदा मिलता है।

नीम से होने वाले नुकसान

नीम एक ऐसी औषधि है जो हमारे स्वास्थ्य हमारे बाल और हमारे स्किन को स्वस्थ बनाता है लेकिन नीम के जरूरत से ज्यादा सेवन से इसके हानिकारक प्रभाव भी देखने को मिल सकते हैं जैसे:-

  • नीम शरीर के शुगर लेवल को कम करता है जिसके कारण अगर उपवास के समय इसका सेवन उपवास के समय नहीं करना चाहिए।
  • गर्भवती महिला को कथा स्तनपान कराने वाली महिला को इसका सेवन नहीं करना चाहिए।
  • नीम के पत्तों को उबालकर उसके पानी से बाल धोते समय यह पानी आंखों में नहीं जाना चाहिए क्योंकि यह आंखों में जलन को बढ़ा सकता है।
  • नीम के जरूरत से ज्यादा सेवन से मुंह का स्वाद खत्म हो जाता है।
  • नीम का सेवन काम शक्ति को घटाता है इसलिए जिनको भी ऐसी समस्या हो उन्हें नीम के प्रयोग से बचना चाहिए।
  • जिनको सुबह शराब का सेवन की आदत हो उसे नीम का सेवन नहीं करना चाहिए।
  • नीम के सेवन से अगर किसी प्रकार की समस्या हो रही हो तो घी, सेंधा, नमक और गाय का दूध इसके दुष्प्रभाव को कम कर देते हैं।

यह भी पढ़े –

Leave a Reply

Your email address will not be published.