PIL Ka Pura Name kya hai? जाने PIL का पूरा नाम इन हिंदी।

PIL Ka Pura Name Kya Hai:- PIL Ka Pura Name “Public Interest Litigation” ( जनहित याचिका ) है। जाने आईपीएल क्या होती है।

PIL Ka Pura Name Kya Hai

PIL-Ka-Pura-Name

जनहित याचिका क्या है

कुछ मुद्दे ऐसे भी होते हैं। जिन्हें सरकार कोई अहमियत नहीं देती परंतु जनता के लिए यह एक बड़ी परेशानी के रूप में होती है। जब ऐसी समस्या आती है। तब कोई व्यक्ति या व्यक्तियों का समूह सरकार के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट या हाई कोर्ट मैं अपील दायर कर सकता है। जिसे हम जनहित याचिका या PIL कहते हैं। भारत में सन 1986 में चीफ जस्टिस पीएन भगवती ने इसकी शुरुआत की थी।

PIL दायर कौन-कौन कर सकता है

भारत के नागरिक या फिर समूह आसानी से दायर कर सकते हैं। लेकिन उसकी एक शर्त है। इसका परिणाम पूरी तरीके से जनहित में होना चाहिए। कई बार तो ऐसा भी होता है। कि कई मुद्दे ऐसे निकल कर आते हैं। जिसमें अदालत को खुद ही इन मुद्दों को पहचान कर और वकील कर कर इस मामले की सुनवाई करती है। यह केस कितने दिन चलेगा यह किसी को नहीं पता।

PIL की फीस कितनी है

जनहित याचिका दायर बहुत आसानी से कर सकते हैं। जनहित याचिका दायर करने की फीस बहुत ही सस्ती है। जनहित याचिका की फीस ₹50 निर्धारित की गई है। और इसका वर्णन आपको अपनी जनहित याचिका में करना होता है। जनहित याचिका दायर करने से पहले आपको किसी वकील से परामर्श लेना होता है। परामर्श लेने के बाद इस केस को आप दायर कर सकते हैं। जिस वकील से आपने बात की है। वह इस केस को लेने का कुछ शुल्क भी निर्धारित कर सकता है।

PIL Full Form in English:- “Public Interest Litigation”, PIL का पूरा नाम इन हिंदी:- PIL का पूरा नाम “जनहित याचिका” है।

यह भी पढ़े – RTPCR Ka Pura Name Kya Hai? RTPCR क्या होता है जाने इसके बारे में।

Subscribe with Google News:

Leave a Comment