PM Modi’s Speech On Independence Day 2022: प्रधानमंत्री मोदी का भारत को 2047 तक विकसित बनाने के पंच प्रण

PM Modi’s Speech On Independence Day 2022: भारत की आजादी के 75 साल पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने लाल किले से संबोधन किया। उन्होंने देश की आजादी के लिए सभी महापुरुषों को याद किया और उनके बलिदानों को भी याद दिलाया। राष्ट्रपति महात्मा गांधी, जवाहरलाल नेहरू और भीमराव अंबेडकर जैसे महान पुरुषों को याद करते हुए उन्होंने अपना भाषण शुरू किया। आज भारत देश आजादी के 75 साल पर आजादी का अमृत महोत्सव बना रहा है।

PM Modi’s Speech On Independence Day 2022

PM Modi Speech On Independence Day 2022

क्या है खास उनके इस संबोधन में

प्रधानमंत्री मोदी ने आजादी के 75वी वर्षगांठ पर लाल किले पर तिरंगा फहरा कर देश को संबोधित किया। देश को संबोधन करते हुए उन्होंने भारत देश को आजादी दिलाने में उन सभी महापुरुषों को याद किया। भारत देश को विकसित देश बनाने के लिए प्रधानमंत्री मोदी ने पंच प्रण किया और उन्होंने अपनी धरती से जुड़े रहकर ऊंचाइयों को छूने की बात कही। प्रधानमंत्री मोदी के क्या है पंच प्रण।

मोदी का पहला प्रण- 2047 तक विकसित भारत

15 अगस्त 2022 को प्रधानमंत्री मोदी ने आजादी की 75वीं वर्षगांठ पर देश को संबोधित करते हुए 2047 तक भारत को विकसित बनाने का प्रण लिया है। भारत देश को विकास के पथ पर आगे बढ़ाते हुए उसको विकसित बनाना है। भारत देश सबसे विकसित होगा तब उसकी स्थिति काफी मजबूत नजर आएगी।

दूसरा प्रण- गुलामी का एहसास खत्म करना होगा

प्रधानमंत्री मोदी ने अपने भाषण में देशवासियों को संबोधित करते हुए दूसरे पुराण में यह बताया है कि भारत के प्रत्येक नागरिक को गुलामी का एहसास खत्म करना होगा तभी हम विकास के पथ पर आगे पढ़ने में अग्रसर होंगे।

तीसरा प्रण- विरासत पर हमें गर्व करना होगा

तीसरे चरण में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि हमें हमारे देश की विरासत पर गर्व होना चाहिए। भारत देश को विरासत में जो भी मिला है उस पर भारत के प्रत्येक व्यक्ति को गर्व करना होगा इसी से ही हमारे विकास का पथ अग्रसर होगा।

चौथा प्रण- एकता और एकजुटता पर जोर

भारत देश में विभिन्न प्रकार के जाति धर्म के लोग रहते हैं इसी विविधता के कारण भारत देश पूरे विश्व में एकता और अखंडता का प्रतीक है। चौथे चरण में मोदी जी ने यह कहा है कि भारत के प्रत्येक व्यक्ति को एकजुट होकर रहना होगा और विकास के हर पथ पर हमें एकजुटता दिखानी होगी। आतंकवाद के खिलाफ हमें एकजुट होकर उसको खत्म करना होगा।

पांचवा प्रण- नागरिकों का कर्तव्य

पांचवें प्रधानमंत्री मोदी ने देश में रहने वाले सभी नागरिकों देश के प्रति अपने कर्तव्य को ध्यान रखना चाहिए। भारत का ऐसा कोई भी नागरिक नहीं हो जिसे अपने देश के लिए अपने कर्तव्य का पालन करना नहीं आता हो। जब देश का प्रत्येक व्यक्ति अपने कर्तव्य का पालन करेगा तो भारत देश विकास के पथ पर तेजी से आगे बढ़ेगा।

यह भी पढ़े – खादी ग्रामोद्योग योजना क्या है, इस योजना का उद्देश्य क्या है

Arjun

मेरा नाम अर्जुन है और मैं CanDefine.com में एडिटर के रूप में कार्य करता हूँ। मैं CanDefine वेबसाइट का SEO एक्सपर्ट हूँ। मुझे इस क्षेत्र में 3 वर्ष का अनुभव है और मुझे हिंदी भाषा में काफी रुचि है। मेरे द्वारा स्वास्थ्य, कंप्यूटर, मनोरंजन, सरकारी योजना, निबंध, जीवनी, क्रिकेट आदि जैसी विभिन्न श्रेणियों पर आर्टिकल लिखता हूँ और आपको आर्टिकल में सारी जानकारी प्रदान करना मेरा उद्देश्य है।