प्रधानमंत्री मोदी तीनों काला कानून वापस लेने की बड़ी घोषणा, क्या बोले तीनों कृषि कानून पर पीएम

प्रधानमंत्री मोदी ने तीनों काला कानून वापस लेने की घोषणा, रद्द होंगे नए कृषि कानून :- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जीने 19 नवंबर शुक्रवार की सुबह 9:00 बजे देव दीपावली के पावन पर्व पर देश को संबोधित करते हुए एक बड़ा फैसला लिया है जिसमें तीनों कृषि कानून को वापस लेने के लिए ऐलान कर दिया है। प्रधानमंत्री मोदी जी ने कहां की कृषि क्षेत्र को सुदृढ़ बनाने के लिए यह तीनों कानून लाए गए थे। इस कानून से छोटे किसानों को शुद्धता मिलेगी। परंतु किसानों के द्वारा देश में इन तीनों कानूनों के खिलाफ आंदोलन छेड़ दिया है। प्रधानमंत्री मोदी जी के इस ऐलान के बाद किसानों ने कहा कि यह काला कानून जब तक संसद में पास नहीं हो जाता तब तक हम आंदोलन जारी रखेंगे।

प्रधानमंत्री मोदी ने तीनों काला कानून वापस लेने की घोषणा, रद्द होंगे नए कृषि कानून

प्रधानमंत्री मोदी ने तीनों काला कानून वापस लेने की घोषणा, रद्द होंगे नए कृषि कानून

प्रधानमंत्री मोदी जी ने यह भी कहा है कि किसानों की आय बढ़ाने के लिए सरकार निरंतर प्रयास रत्न है। इसके लिए देश में किसानों के लिए नई नई बनाई जा रही है जिससे किसानों को आर्थिक लाभ मिल सके। प्रधानमंत्री मोदी जी ने गुरु नानक जी के प्रकाश पर्व पर आज देश को संबोधित करते हुए यह बताया कि यह तीनों कानून कृषि क्षेत्र को और किसानों को पूरे समर्पण देश भाव से लाया गया है।

वापस होंगे तीनों कृषि कानून

प्रधानमंत्री मोदी ने तीनों के से कानून वापस लेने का ऐलान कर दिया है और किसानों से अपील भी की है कि आंदोलन को खत्म करके आप अपने घर लौट लौटकर अपने परिवारों के बीच रहे और एक नई शुरुआत करें। इस कानून को वापस लेने के लिए एक एमएसपी की एक कमेटी बनाने की बात भी कही।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नहीं देश को संबोधित करते हुए यह कहा है कि एमएसपी को और अधिक प्रभावशाली और पारदर्शी बनाने हेतु कई विषयों पर काम करते हुए भविष्य में एक कमेटी का गठन किया गया है प्रधानमंत्री मोदी जी ने यह बताते हुए कहा कि इस कमेटी में केंद्र सरकार राज्य सरकार किसान वैज्ञानिक और कृषि अर्थशास्त्री शामिल होंगे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने यह भी बताया कि हमने फसलों की बीमा योजना को और अधिक सुदृढ़ बनाते हुए उस में अधिक से अधिक किसानों को दायरे में लाएं। पुराने नियमों में बहुत कम किसानों को इस योजना का लाभ मिल पाता था और इस योजना में बदलाव करके मुआवजा ज्यादा से ज्यादा किसानों तक पहुंचाया जा सके। इस योजना की सफलता से लगभग एक लाख करोड़ से भी ज्यादा किसानों को मुआवजा मिल पाया।

धानमंत्री मोदी ने यह भी कहा है कि कई दशकों से हम किसानों की परेशानियों को करीब से देखते आए हैं और महसूस भी करते आए हैं जब से हमारी सरकार को मौका मिला तब से हम किसानों की आय को बढ़ाने की ओर कदम बढ़ा रहे हैं और तभी से हमारी सरकार ने किसानों के कल्याण और विकास के क्षेत्र में महत्वपूर्ण कार्य किए।

यह भी पढ़े – राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम, 2013? खाद्य सुरक्षा योजना का प्रारंभिक उद्देश्य क्या है?

Follow us on Google News:

Kamlesh Kumar

मेरा नाम कमलेश कुमार है। मैं मास्टर इन कंप्यूटर एप्लीकेशन (Master in Computer Application) में स्नातकोत्तर हूं और CanDefine.com में एडिटर के रूप में कार्य करता हूँ। मुझे इस क्षेत्र में 3 वर्ष का अनुभव है और मुझे हिंदी भाषा में काफी रुचि है। मेरे द्वारा स्वास्थ्य, कंप्यूटर, मनोरंजन, सरकारी योजना, निबंध, जीवनी, क्रिकेट आदि जैसी विभिन्न श्रेणियों पर आर्टिकल लिखता हूँ और आपको आर्टिकल में सारी जानकारी प्रदान करना मेरा उद्देश्य है।