रेडियो पर निबंध? आकाशवाणी पर निबंध लिखिए?

रेडियो पर निबंध (Radio Par Nibandh), यह विज्ञान का थुग है। विज्ञान मनुष्य के जीवन को सरल और सुखी बनाने में लगा हुआ है। इसने जहाँ ऐसी मशीनों का निर्माण किया, जिनसे • मनुष्यों का जीवन सुखमय हुआ, वहीं मनुष्य के मनोरंजन के लिए भी इसने आविष्कार किये। मनोरंजन के अनेक साधनों में आकाशवाणी (रडियो) भी एक है।

रेडियो पर निबंध (Radio Par Nibandh)

रेडियो पर निबंध

रेडियो पर निबंध (Radio Par Nibandh)

रेडियो का आविष्कार

वायरलैस और रेडियो का आविष्कार प्रसिद्ध आविष्कारक श्री मारकोनी ने किया। जनता के लाभ के लिए बड़े-बड़े नगरों में ध्वनि प्रसारण केन्द्र स्थापित किये जाते हैं।

बिजली की सहायता से अनेक प्रकार के संगीत, लोकगीत, विशेष व्यक्तियों के भाषण, नाटक, कविता, लघु कहानियों, कहानियों तथा उपन्यासों पर आधारित नाटक तथा समाचार आदि को ध्वनि प्रसारक यन्त्र द्वारा आकाश में फैलाया जाता है। आकाश में फैली हुई ध्वनि तरंगों को घरों में लगा रेडियो सैट पकड़ लेता है।

रेडियो के भेद

कुछ रेडियो कुछ निश्चित स्थानों के होते हैं। इनसे केवल उन्हीं स्थानों के कार्यक्रम सुन सकते हैं, किन्तु कुछ ऐसे होते हैं, जिनसे इच्छानुसार सभी देशों के समाचार सुने जा सकते हैं।

रेडियो के लाभ

रेडियो एक देश को दूसरे देश से जोड़ता है। एक देश में हुई घटना का समाचार दूसरे देश में तुरन्त सुनाई पड़ जाता है। यदि भारत में हिन्दू-मुस्लिम के झगड़े होते हैं तो सारे विश्व को उसका ज्ञान हो जाता है। यदि जापान में भूकम्प आता है तो सारे देश इसे जान लेते हैं। यदि चीन में किसी नेता की हत्या की जाती है तो रेडियो उसे सब देशों को बता देता है।

उड़ीसा में आये तूफान का समाचार तुरन्त ही विश्व भर में फैल गया था। तूफानग्रस्त इलाकों के दौरे के बाद नेताओं ने जनता से तूफान पीड़ितों की सहायता की अपील की और देखते ही देखते आशातीत सहायता उपलब्ध हुई। सभी विशेष घटनाएँ रेडियो के द्वारा जनता तक पहुँचा दी जाती हैं।

अन्य लाभ

रेडियो मनोरंजन का सबसे अच्छा साधन है। रेडियो पर अच्छे-अच्छे गाने सुनाये जाते हैं, खेलों के समाचार बताये जाते हैं तथा ज्ञान-विज्ञान की बातों से जनता का ज्ञान बढ़ाया जाता है। दिन भर के परिश्रम के बाद थकाहारा मनुष्य रेडियो से अपना मनोरंजन करता है।

रेडियो पर जहाँ गीत, नाटक, हँसी के चुटकुले, हँसी के अन्य कार्यक्रम तथा कहानियाँ आती हैं, वहीं किसानों के समाचार भी आते हैं। इन समाचारों में अच्छे बीजों की जानकारी दी जाती है, अच्छे-अच्छे खाद बताये जाते हैं, खाद बनाने के उपाय बताये जाते हैं

एवं खेती को विनाश से बचाने के उपाय बताये जाते हैं। इसी प्रकार कुटीर उद्योग के लाभ बताकर उन्हें चलाने के तरीके बताये जाते हैं। ग्रामीण बैंकों से लाभ उठाने के लिए किसानों को प्रोत्साहित किया जाता है।

उपसंहार

यद्यपि दूरदर्शन (टेलीविजन) का आविष्कार हो जाने से रेडियो का महत्व कुछ कम हो गया है, किन्तु अभी भी इसकी उपयोगिता बनी हुई है। कारण यह है कि दूरदर्शन की अपेक्षा इसका क्षेत्र विस्तृत है। रेडियो को हम अपनी सुविधा के अनुसार कहीं भी ले जा सकते हैं, किन्तु टेलीविजन को नहीं ले जा सकते। इसे हम जेब में भी रख सकते हैं, किन्तु दूरदर्शन को नहीं।

यह भी पढ़े –

Leave a Reply

Your email address will not be published.