सदा स्वस्थ रहने के आसान उपाय, स्वस्थ रहने के कुछ मन्त्र

सदा स्वस्थ रहने के आसान उपाय से स्वस्थ की करें देखभाल, यहां कुछ मन्त्र, कुछ बातें दी जा रही हैं, इनका पालन करने वाला व्यक्ति कभी रोगी नहीं हो सकता। सदा स्वस्थ ही रहेगा। बस आवश्यकता है इन्हें मानने और जीवन में धारने की।

सदा स्वस्थ रहने के आसान उपाय

सदा स्वस्थ रहने के आसान उपाय

यह भी पढ़े – आंखों की सुरक्षा के घरेलू उपाय, आंखों की देखभाल के 15 घरेलू उपाय

सदा स्वस्थ रहने के आसान उपाय

  • प्रातः बहुत सवेरे उठें। दो गिलास पानी पी लें । अथवा पानी में नींबू या पानी में नींबू तथा शहद डालकर पी लें। पानी एक-एक घूंट ही पीना है।
  • इसके पश्चात खुले वातावरण में जाएं। शुद्ध वायु का सेवन करें। यहां सैर, व्यायाम, योगासन, लम्बी गहरी सांसें लेना, आन्तरिक शुद्धि करेगा।
  • कभी-कभी मालिश भी करें, यदि प्रतिदिन सम्भव नहीं । नियमित स्नान करें।
  • पेट में दांत नहीं होते। अतः अपने भोजन को मुंह में ही खूब चबाएं। जितना चबाएंगे, इसमें उतनी अधिक लार भी मिलेगी। भोजन पचाना आसान होगा।
  • पेट में पाचक रस भी इसे पचाने में तभी सहायक होगा, जब यह पिसा हुआ होगा।
  • भोजन के बाद रक्त जठर की ओर प्रवाह करता है। अतः इस समय कठोर परिश्रम करना मना है। अन्यथा पाचन क्रिया गड़बड़ा जाएगी। ऐसे में सोना भी नहीं।
  • अपने घर में हों या किसी अन्य के, भोजन करना हो या नाश्ता, सदा इसे सीमित मात्रा में करें। पेट एक चौथाई सदा खाली रखें। हवा के लिए।
  • मन्दाग्नि न हो। भोजन सुगमता से पचे। इसके लिए भोजन से तुरन्त पहले तथा तुरन्त बाद पानी नहीं पीना। बीच में भी नहीं। ज़रूरत होने पर एक-दो घूंट।
  • जब पहले का भोजन पचा नहीं, और भोजन या कुछ पदार्थ खा लेना यह पाचन क्रिया के साथ अन्याय है। उस पर अत्यधिक भार मत डालें।
  • चाय, कॉफी, ठंडे पेय लेना या बार-बार लेना, अपने शरीर के लिए रोगों को बुलाना है। ये अहितकर होते हैं। इनसे ज़रूर बचें।
  • शरीर के लिए विटामिन ‘डी’ अत्यंत आवश्यक है। यह कैल्शियम को भी पचाने में मदद करता है। नंगे बदन धूप में बैठना, या मालिश करना श्रेयस्कर है।
  • जो लोग गगनचुम्बी घर या कार्यालय में जाते हों, वे कम से कम दिन में एक बार सीढ़ी ज़रूर चढ़ें और उतरें। यह हृदय रोग से बचने का अच्छा उपाय है।
  • मीठे व नमकीन आहार हम प्रतिदिन लेते हैं। इनमें सभी रस नहीं होते। इस कमी को पूरा करने के लिए मेथी, करेला, नीम के रस भी लेवें।
  • अपने भोजन में विविधता लाएं। दालों, सब्जियों, अनाजों को बदल-बदलकर, आपस में मिलाकर सेवन करने से शरीर पुष्ट होता है।
  • जो व्यक्ति मोटापा पाने लगा है, वह ज़रूर समझ ले कि वह किसी न किसी बीमारी का शिकार हो गया है। उपवास व व्यायाम से मोटापा कम करें।
  • शराब, धूम्रपान या कोई भी नशा बिल्कुल न करें। ये स्वास्थ्य के शत्रु हैं।
  • सदा प्रसन्न रहने का प्रयत्न करें। चेहरे पर मुस्कान बनाए रखें।
  • क्रोध से बचें। ईर्ष्या से दूर रहें। किसी का बुरा मत सोचें। सदा आशावादी बने रहें। खुशी मिले या गुमी, समभाव बने रहें।
  • पसीना शरीर के विष को बाहर निकाल देता है। तेज़ चलें। पसीना आएगा।
  • सदा स्वच्छ रहें। जितनी बार खाएं, दांत साफ करें। हाथ-पांव धोकर भोजन करें।

यदि हम इन कुछ बातों को जीवन में अपना लेते हैं तो बीमारी स्वतः दूर भागेगी। निरोगता पा लेंगे। स्वस्थ बने रहेंगे।

यह भी पढ़े – दांत और मसूड़ों की सुरक्षा के उपाय क्या है जाने पूरी जानकारी

अस्वीकरण – यहां पर दी गई जानकारी एक सामान्य जानकारी है। यहां पर दी गई जानकारी से चिकित्सा कि राय बिल्कुल नहीं दी जाती। यदि आपको कोई भी बीमारी या समस्या है तो आपको डॉक्टर या विशेषज्ञ से परामर्श लेना चाहिए। Candefine.com के द्वारा दी गई जानकारी किसी भी जिम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Subscribe with Google News:

Leave a Comment