सीखो और कमाओ योजना क्या है, सीखो और कमाओ योजना का उद्देश्य

भारत सरकार के केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय द्वारा अल्पसंख्यकों के कौशल विकास के लिए ‘सीखो और कमाओ योजना क्या है’ (Seekho Aur Kamao Yojana) की शुरुआत नई दिल्ली में 23 सितंबर, 2013 को की गई थी। देश में अल्पसंख्यकों के विकास के लिए सीखो और कमाओ 2.0 योजना को प्रारंभ किया है इस योजना में अल्पसंख्यक समुदाय के लोग अपने हुनर के मुताबिक काम को सीख कर रोजगार प्राप्त कर सकते हैं। भारत देश में अल्पसंख्यकों के उत्थान के लिए भारत सरकार ने इस योजना को बनाया है।

सीखो और कमाओ योजना क्या है (Seekho Aur Kamao Yojana Kya Hai)

सीखो और कमाओ योजना क्या है

यह भी पढ़े – पीएम किसान योजना का पैसा कैसे चेक करें? जाने इसका स्टेप्स क्या है?

सीखो और कमाओ योजना क्या है

मुख्य बिंदुजानकारी
योजना का नामसीखो और कमाओ योजना 2.0
किसने शुरू कीभारत सरकार
लाभार्थीभारत के अल्पसंख्यक नागरिक
उद्देश्यअल्पसंख्यकों के पारंपरिक कौशल का संरक्षण एवं उन्नयन
वर्ष2022
आधिकारिक वेबसाइटयहां क्लिक करें

सीखो और कमाओ योजना का उद्देश्य

  1. 2वीं पंचवर्षीय योजना अवधि के दौरान अल्पसंख्यकों की बेरोजगारी दर को कम करना।
  2. अल्पसंख्यकों के पारंपरिक कौशल का संरक्षण एवं उन्नयन करना तथा उन्हें बाजार के साथ जोड़ना ।
  3. मौजूदा कार्मिकों की रोजगारपरकता में सुधार करना ।
  4. हाशिए पर रह रहे अल्पसंख्यकों के लिए आजीविका के बेहतर साधन विकसित करना तथा उन्हें मुख्य धारा में लाना।
  5. बढ़ते हुए बाजार अवसरों का लाभ उठाने में अल्पसंख्यकों को समर्थवान बनाना।
  6. देश के लिए सशक्त मानव संसाधन तैयार करना।

पात्रता / प्रशिक्षार्थी / लाभार्थी

  • प्रशिक्षार्थी अल्पसंख्यक समुदाय से संबंधित होना चाहिए।
  • प्रशिक्षार्थी की आयु 14-35 के बीच होनी चाहिए।
  • प्रशिक्षार्थी की न्यूनतम शिक्षा 5वीं तक होनी चाहिए।

महत्वपूर्ण बिंदु

  • यह योजना राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग अधिनियम, 1992 के अंतर्गत 5 अल्पसंख्यक समुदायों (मुस्लिम, ईसाई, सिख, बौद्ध एवं पारसी) के लाभ के लिए क्रियान्वित की जा रही है।
  • योजना में न्यूनतम 33 सीटें अल्पसंख्यक बालिकाओं अथवा महिला उम्मीदवारों के लिए आरक्षित हैं। ‘सीखो और कमाओ’ योजना के दो संघटक हैं।

आधुनिक ट्रेडों के लिए प्लेसमेंट संबद्ध कौशल प्रशिक्षण कार्यक्रम

  • इसमें प्रशिक्षण अवधि न्यूनतम 3 माह की है, जिसके अंतर्गत सॉफ्ट कौशल प्रशिक्षण, बेसिक आईटी प्रशिक्षण तथा बेसिक अंग्रेजी प्रशिक्षण दिया जाता है।
  • इस कार्यक्रम का उद्देश्य प्रशिक्षण द्वारा युवाओं को लाभकारी तथा सतत् रोजगार उपलब्ध कराना है।

परंपरागत ट्रेडों हेतु कौशल प्रशिक्षण कार्यक्रम

  • इन कार्यक्रमों के तहत चुनिंदा ट्रेड के लिए न्यूनतम 2 माह तथा अधिकतम 1 वर्ष का प्रशिक्षण प्रदान किया जाता है।
  • इस कार्यक्रम का केंद्र बिंदु युवाओं का आय संवर्धन है। सीखो और कमाओ योजना 100 प्रतिशत केंद्रीय सहायता प्राप्त है।

मोबाइल ऐप कैसे डाउनलोड करें

सीखो और कमाओ 2.0 योजना के लिए अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय भारत सरकार के द्वारा इसका मोबाइल ऐप भी बनाया गया है। यदि आप मोबाइल ऐप डाउनलोड करना चाहते हैं तो आपको इसके आधिकारिक वेबसाइट (http://seekhoaurkamao-moma.gov.in/Index.aspx) पर जाना है।

  • मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए आपको इसके आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है।
  • वेबसाइट में आपको डाउनलोड्स मैंने सेक्शन में दिखाई देगा।
  • उस पर क्लिक करने के बाद आपके सामने एक नई विंडो खुलेगी।
  • अब आपके सामने नए पेज पर सीखो और कमाओ फीडबैक मोबाइल ऐप का आइकन दिखाई देगा।
  • इस पर क्लिक करके आपको डाउनलोड कर लेना है।
  • क्लिक करने के बाद sak.apk फाइल आपके मोबाइल में डाउनलोड हो जाएगी।
  • डाउनलोड फाइल पर क्लिक करके इस ऐप को इंस्टॉल कर लेना है और सभी स्टेप्स को फॉलो करना है।

यह भी पढ़े – मनरेगा योजना क्या है? मनरेगा के नियम क्या है?

Leave a Reply

Your email address will not be published.