T20 मैच में कितने ओवर होते है? और T20 में पावर प्ले कितने ओवर का होता है?

T20 मैच में कितने ओवर होते हैं

T20 मैच में कितने ओवर होते हैं (T20 Match Kitne Over Ka Hota Hai), T20 मैच 20-20 ओवर का खेला जाता है जिसमें एक नियमित समय अवधि के अंदर गेंदबाजी कर रहे टीम को 20 ओवर डालने होते हैं। अभी तक T20 वर्ल्ड कप 6 टीमों ने जीता है। वर्ष 2021 में T20 वर्ल्ड कप में DRS नियम को भी जगह दे दी गई है। T20 में पावर प्ले कितने ओवर का होता है

T20 मैच में कितने ओवर होते हैं (T20 Match Kitne Over Ka Hota Hai)

T20 मैच में कितने ओवर होते हैं
T20 मैच में कितने ओवर होते हैं (T20 Match Kitne Over Ka Hota Hai)

T20 मैच में कितने ओवर होते हैं (T20 Match Kitne Over Ka Hota Hai)

यदि गेंदबाजी कर रही टीम उस समय अवधि मैं 20 ओवर डालने में असफल रहती है तब उस टीम के ऊपर लेट फीस का जुर्माना लगाया जा सकता है टी20 मैच में एक टीम से एक गेंदबाज ज्यादा से ज्यादा 4 ओवर फेंक सकता है। T20 मैच में कितने ओवर होते हैं

DRS (डीआरएस) नियम क्या है?

बीसीसीआई के द्वारा वर्ष 2021 में T20 वर्ल्ड कप में DRS (डीआरएस) के नियम को भी जगह दे दी है। बीसीसीआई ने ऐसा इसलिए किया है की किसी भी मैच में अंपायर के गलत निर्णय की वजह से किसी टीम भी को हार का सामना ना करना पड़े। T20 वर्ल्ड कप में प्रयोग होने वाले नए नियम DRS के रूल क्या है। बल्लेबाजी कर रही टीम और गेंदबाजी कर रही टीम को इस नियम से 2-2 डीआरएस दिए जाते हैं।

  • बल्लेबाजी कर रही टीम के पास दो डीआरएस होते हैं यदि एंपायर ने किसी भी बल्लेबाज को आउट दे दिया और बल्लेबाज को यह महसूस हुआ कि एंपायर ने यह निर्णय गलत दिया है तो वह एंपायर के डिसीजन के अगेंस्ट में डीआरएस रूल के नियमों का प्रयोग कर सकता है।
  • गेंदबाजी कर रही टीम को यदि ऐसा लगता है की एंपायर ने गलत डिसीजन दिया है तो गेंदबाजी कर रही टीम एंपायर के निर्णय के अगेंस्ट जाकर एसडीआरएस को ले सकती है।
  • बल्लेबाजी कर रही टीम और गेंदबाजी कर रही टीम के पास डीआरएस लेने का समय 11 सेकंड का होता है।

पावर प्ले क्या होता है?

T20 मैच में पावर-प्ले 6 ओवरों के होते हैं इस पावर प्ले में टीम के दो खिलाड़ी 30 गज के बाहर रह सकते हैं और सारे खिलाड़ियों को 30 गज के अंदर रहना होता है और जब पावर प्ले खत्म हो जाता है तब टीम अपने अनुसार प्लेयर्स को कहीं पर अपने अनुसार लगा सकती हैं।

टाइम आउट क्या होता है

T20 मैच के नियम के अनुसार टाइम आउट 2.30 मिनट का होता है टाइम आउट 20 ओवरों में 2 बार लिया जाता है पहला तो गेंदबाजी कर रहे टीम के द्वारा और दूसरा बल्लेबाजी कर रही टीम के द्वारा गेंदबाजी कर रही टीम के द्वारा 6 7 8 और 9 ओवर खत्म होने से पहले टाइमआउट ले सकती है और इसके द्वारा मैदान में ड्रिंक्स भी लाई जाती हैं।

जब फिलिंग कर रही टीम के द्वारा टाइम आउट दिया जाता है तो विपक्षी टीम के लिए इस दौरान वह रणनीति भी बना सकते हैं और जब 2 मिनट का समय लगभग समाप्त हो जाता है तब एंपायर और बाकी के सारे खिलाड़ी अपनी अपनी जगह पर पहुंच जाते हैं की मैच को दोबारा आरंभ आसानी से किया जा सके बल्लेबाजी कर रही टीम के द्वारा 13 14 15 और 16 ओवर के बीच में टाइम आउट लिया जा सकता है।

फ्रीहिट क्या होती है

जब फील्डिंग कर रही टीम के गेंदबाज के द्वारा No Ball डाली जाती है तब एंपायर उस बॉल को No Ball ( फ्री हिट) करार देता है फ्रीहिट का मतलब यह होता है कि बल्लेबाजी कर रहा बल्लेबाज बिल्कुल स्वतंत्र होता है हिट लगाने के लिए और उस बॉल पर ना तो कैच आउट होता है ना ही स्टंप आउट होता है परंतु इस बॉल पर केवल रन आउट ही किया जा सकता है।

रिव्यू क्या होता है

रिव्यू T20 में लाना एक वरदान साबित हुआ है क्योंकि कभी-कभी एंपायर के द्वारा गलत डिसीजन दे दिया जाता है और टीम हार जाती है परंतु अब टीम के हाथ में भी एक शक्ति प्रदान की गई है यदि गेंदबाजी कर रही टीम या फिर बल्लेबाजी कर रही टीम को एंपायर के द्वारा दिए गए डिसीजन से संतुष्ट नहीं है।

तो वह रिव्यु के लिए फोर्थ अंपायर को कॉल कर सकते हैं रिव्यु लेने का समय 10 सेकंड का दिया जाता है इसके बीच में रिव्यु ले सकते हैं और यदि 10 सेकंड खत्म हो जाते हैं तब आपके पास रिव्यू लेने का टाइम भी खत्म हो जाता है।

सुपर ओवर क्या होता है

जब दो टीमों के बीच में मैच ड्रॉ हो जाता है तब T20 में हो रहे मैच बिना निर्णय के समाप्त ना हो जाए इसलिए इस नियम को लाया गया इसमें जब मैच टाइप हो जाता है तब 1 ओवर सुपर ओवर का खेला जाता है।

इसमें दोनों टीम को एक-एक ओवर फेंकने होते हैं और एक ओवर में 6 बॉल खेली जाती है 1 ओवर खेल लेने के बाद टीम ने जितने रन बनाए होते हैं वह रन दूसरी टीम को जीतने के लिए बनाने होते हैं।

यह भी पढ़े –

Leave a comment

Your email address will not be published.