शलगम का उपयोग करें इन 14 तरीके से होंगे अचूक फायदे

शलगम एक सस्ता कन्दमूल है। शलगम का उपयोग करें इन 14 तरीके से होंगे अचूक फायदे, यह आसानी से उगाया तथा खरीदा जा सकता है। जितना इसे प्राप्त करना सुगम है, उतना ही यह अधिक गुणकारी है। यह अनेक रोगों में उपचार के काम आता है। यह अपने आपमें एक अच्छी औषधि है। स्वास्थ्य को बहुत अच्छा रखने में शलगम का बहुत बड़ा योगदान है,। आइए, परखें इसके गुणों और उपयोगिता को।

शलगम का उपयोग करें इन 14 तरीके से होंगे अचूक फायदे

शलगम का उपयोग करें इन 14 तरीके से होंगे अचूक फायदे

यह भी पढ़े – फल और सब्जियों के छिलके को करें इन 8 कामों में इस्तेमाल मिलेगा फायदे

शलगम में उपलब्ध तत्त्व

जल72%
कार्बोहाइड्रेट्स7.7%
चूना0.04%
लोहा0.07%
प्रोटीन0.02%
चर्बी0.04%
फासफोरस0.4%
विटामिन बीकाफी मात्रा में
विटामिन सीकाफी मात्रा में

इसकी किस्म पर भी तत्त्वों की मात्रा निर्भर करती है। कहीं कुछ कम तो कहीं कुछ ज्यादा।

उपयोग

  1. शलगम कन्दमूल माना जाता है। इसके पत्ते भी सब्जी बनाने, सलाद में प्रयोग करने के काम आते हैं।
  2. शलगम को कच्चा भी बड़े शौक के साथ खाया जाता है।
  3. शलगम पेट के विकारों से छुटकारा दिलाता है।
  4. यह सब्जी वा सलाद ही नहीं, अपने औषधीय गुणों के कारण शरीर को रोगों से भी बचाता है।
  5. शलगम सुपाच्य है अतः इसे छोटे, बड़े, बूढ़े सभी खा व पचा सकते हैं।
  6. जो लोग पेशाब के रोगों से पीड़ित रहते हों, उन्हें भी कच्चा शलगम खाने की सलाह दी जाती हैं।
  7. जिन्हें काली खांसी की शिकायत हो, उन्हें भी शलगम खाने को कहा जाता है। यदि शलगम और सफेद मूली का मिला-जुला सलाद काली खांसी के मरीज को खिलाया जाए तो यह शीघ्र आराम देता है।
  8. यदि शलगम को साफ-सुथरा धोकर बिना छीले भाप में पकाकर खिलाया जाए तो भी काली खांसी का काम तमाम कर देता है।
  9. जिन्हें दमा की शिकायत रहती है यदि वे शलगम, पत्ता गोभी, सेम की फलिया तथा गाजर, चारों का रस निकालकर दिन में दो बार, प्रातः तथा सायं, लेते रहें तो दस-पन्द्रह दिनों में ही इसका चमत्कारी परिणाम देखने को मिलेगा।
  10. जिन्हें मधुमेह की शिकायत है, वात रोग है, उनको भी शलगम का प्रयोग हितकर है।
  11. कुछ नर-नारियों के हाथ-पांव फूल जाते हैं। ऐसा अधिकतर सर्दियों में ही होता हैं। उन्हें शलगम के गुनगुने पानी में हाथ-पांव डुबोकर रोग से छुटकारा पाना चाहिए।
  12. कुछ लोग पुरानी खांसी से छुटकारा पाने के लिए शलगम के रस में शक्कर मिलाकर पीते हैं और ठीक हो जाते हैं।
  13. शलगम में उबाला हुआ सील-गर्म जल शक्कर में मिलाकर पीजिए। बन्द गला खुल जाएगा। सांस लेना सुगम तथा आवाज साफ हो जाएगी।
  14. जिन्हें नजर के कमजोर होने की शिकायत हो, या आमतौर पर धुंधला नजर आने लगे, वे शलगम को प्रतिदिन कच्चा व सब्जी बनाकर भी खाएं। आंखों की ज्योति बढ़ जाएगी।

चूंकि यह रोगी तथा स्वस्थ, सबके काम की सब्जी है। सलाद है। कच्चा भी शौक से खाया जाता है। इसलिए इसका सब प्रयोग करते हैं अपने औषधीय गुणों के कारण भी इसने हमारे जीवन में अपना स्थान बना लिया है।

यह भी पढ़े – गुड़ का उपयोग कैसे होता है? गुड़ में कौन से पोषक तत्व पाए जाते हैं?

Follow us on Google News:

Mamta Jain

मैं ममता जैन मीडिया क्षेत्र में मैं तीन साल से जुड़ी हुई हूं। मुझे लिखना काफी पसन्द है और अब मैने यही मेरा प्रोफेशन बना लिया है। मैं जर्नलिज्म एंड मास कम्युनिकेशन में ग्रेजुएट हूं। हेल्थ, स्वास्थ्य, मनोरंजन, सरकारी योजना, क्रिकेट, न्यूज़ और ब्यूटी पर लिखने में मेरा स्पेशलाइजेशन है। हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी जानकारी जानने के लिए मुझे फॉलो करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *