मुंह में मिर्च लगने के बाद पानी क्यों नहीं पीना चाहिए, क्या आप भी करते है ये गलती

बहुत से ऐसे लोग हैं जिनको तीखा खाना बहुत पसंद है परंतु क्या आप जानते हैं कि मुंह में मिर्च लगने के बाद पानी क्यों नहीं पीना चाहिए। कुछ लोगों को मिर्च खाना इतना पसंद है कि वह ऊपर से मिर्च लेकर खाते हैं बाहर चार्ट बनवाते समय अतिरिक्त मिर्च भी काटकर डलवाते हैं और जब उन्हें मुंह में मिर्ची लगती है तो वह तुरंत पानी पी लेते हैं टीका लगने के बाद तुरंत पानी नहीं पीना चाहिए यह हमारे लिए बहुत ही नुकसानदायक हो सकता है।

मुंह में मिर्च लगने के बाद पानी क्यों नहीं पीना चाहिए

मुंह में मिर्च लगने के बाद पानी क्यों नहीं पीना चाहिए

यह भी पढ़े – चाय पीने का सही समय और तरीका क्या है ना करें ये गलतियां

मुंह में मिर्च लगने के बाद पानी क्यों नहीं पीना चाहिए

स्पाइसी फूड खाना अक्सर लोगों को काफी पसंद आता है लेकिन ज्यादा मिर्च हो जाने के कारण उनके मुंह में तीखापन बहुत ज्यादा लगता है और यह तीखापन इतना ज्यादा हो जाता है कि उनका चेहरा तक लाल हो सकता है और आंखों से पानी भी निकल सकता है। जब मिर्च मुंह में लगती हैं तो उसके तुरंत बाद खूब सारा पानी पी लेते हैं परंतु पानी पीने के बाद भी तीखा लगना बंद नहीं होता है।

क्या आप जानते हैं मुंह में मिर्ची लगने के बाद पानी पीने के बाद भी आराम नहीं मिलता है इसकी वजह भी पानी ही है। जी हां कभी-कभी तो पानी की वजह से दिक्कत और भी बढ़ सकती है और काफी देर तक आपको तीखापन महसूस हो सकता है ऐसा क्यों होता है और इसका क्या कारण है कि पानी पीने के बाद मिर्च ज्यादा लगती है।

मुंह में मिर्च लगने का कारण

जब हम कुछ स्पाइसी खा लेते हैं तो हमारे मुंह में मिर्च लगने लगती है और जलन भी होने लगती है मिर्च में ऐसा क्या होता है जिससे हमें तीखापन लगता है। मिर्च में एक प्रकार का केमिकल होता है जिसे हम कैपसाइसिन (Capsaicin) के नाम से जानते हैं। मिर्च में तीखापन इसी केमिक

ल की वजह से होता है। हमारी जीभ में सेंस ऑर्गन होते हैं जब हम दिखा खाते हैं तो हमारी जीव में कैपसाइसिन लग जाता है और हमें तीखापन महसूस होने लगता है। मिर्च में कैपसाइसिन (Capsaicin) की मात्रा जितनी अधिक होगी वह मिर्च उतनी ही तीखी होगी।

तीखा लगने के बाद पानी क्यों नहीं पीना चाहिए

मिर्च के अंदर कैपसाइसिन (Capsaicin) नामक एक पदार्थ पाया जाता है यह कैपसाइसिन (Capsaicin) पदार्थ नॉन पोलर मॉलिक्यूल होता है और पानी में पोल मॉलिक्यूल पाए जाते हैं। इसलिए जब हमें मिर्च लगती है तो हमें पानी नहीं पीना चाहिए क्योंकि पानी में पोल मॉलिक्यूल होते हैं जो मिर्च के असर को कम नहीं करते हैं। इसी वजह से पानी पीने के बाद भी हमें आराम नहीं मिलता। मुंह में तीखापन को कम करने के लिए हमें नॉन पोल मॉलिक्यूल वाले पदार्थ का ही सेवन करना चाहिए और यह पदार्थ ही कैपसाइसिन के असर को खत्म करते हैं।

मिर्च लगने के बाद किन चीजों का सेवन करना चाहिए

यदि आपने स्पाइसी फूड खाया है और आपके मुंह में जलन हो रही है तो आपको डेयरी प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल करना चाहिए। यदि आप अपने मुंह में मिर्च का असर कम करना चाहते हैं तो दूध इसमें बहुत ज्यादा फायदा पहुंचाता है क्योंकि दूध के अंदर नॉन पोलर मॉलिक्यूल अच्छी मात्रा में पाए जाते हैं जो कैपसाइसिन के असर को कम कर देते हैं जिससे आपको तीखापन महसूस नहीं होता। दही का भी इस्तेमाल काफी कारगर होता है क्योंकि इसमें भी कैपसाइसिन के असर को कम करने वाले तत्व पाए जाते हैं।

यह भी पढ़े – भिंडी खाने के बाद भूलकर भी न खाएं ये 2 चीजें वरना खराब हो सकता है स्वस्थ?

अस्वीकरण – यहां पर दी गई जानकारी एक सामान्य जानकारी है। यहां पर दी गई जानकारी से चिकित्सा कि राय बिल्कुल नहीं दी जाती। यदि आपको कोई भी बीमारी या समस्या है तो आपको डॉक्टर या विशेषज्ञ से परामर्श लेना चाहिए। Candefine.com के द्वारा दी गई जानकारी किसी भी जिम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Follow us on Google News:

Mamta Jain

मैं ममता जैन मीडिया क्षेत्र में मैं तीन साल से जुड़ी हुई हूं। मुझे लिखना काफी पसन्द है और अब मैने यही मेरा प्रोफेशन बना लिया है। मैं जर्नलिज्म एंड मास कम्युनिकेशन में ग्रेजुएट हूं। हेल्थ, स्वास्थ्य, मनोरंजन, सरकारी योजना, क्रिकेट, न्यूज़ और ब्यूटी पर लिखने में मेरा स्पेशलाइजेशन है। हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी जानकारी जानने के लिए मुझे फॉलो करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *